1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. martyr albert ekka wife balamdina emotional on martyrdom day raised demand for beautification of tomb smj

शहीद अलबर्ट एक्का की शहादत दिवस पर भावुक हुई पत्नी बलमदीना, समाधि स्थल के सौंदर्यीकरण की उठी मांग

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : शहीद अलबर्ट एक्का के समाधि स्थल पर श्रद्धांजिल देते शहीद की पत्नी बलमदीना एक्का एवं अन्य.
Jharkhand news : शहीद अलबर्ट एक्का के समाधि स्थल पर श्रद्धांजिल देते शहीद की पत्नी बलमदीना एक्का एवं अन्य.
प्रभात खबर.

Jharkhand news, Gumla news : गुमला (दुर्जय पासवान) : गुमला जिले में गुरुवार को परमवीर चक्र विजेता शहीद अल्बर्ट एक्का का 49वां शहादत दिवस मनाया गया. कोरोना संक्रमण को लेकर समारोह नहीं हुआ, लेकिन शहीद के पैतृक गांव जारी में स्थित समाधि स्थल एवं शहीद की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया. अपने शहीद पति के समाधि स्थल पर बलमदीना एक्का ने फूल चढ़ाये और प्रतिमा पर माल्यार्पण की. शहीद की पत्नी बलमदीना चलने में असमर्थ थी. उसे गोद में उठाकर माल्यार्पण करने प्रतिमा तक पहुंचाया गया. इस दौरान वह शहीद पति को याद कर भावुक हो गयी. मौके पर प्रशासनिक अधिकारी, पूर्व सैनिक, नेता, समाजसेवियों ने भी श्रद्धांजलि दी.

जारी बीडीओ विभूति मंडल की अगुवाई में परमवीर के सम्मान में 2 मिनट का मौन रखा गया. इससे पूर्व शहीद की प्रतिमा पर माल्यार्पण के दौरान जारी थाना के प्रशिक्षु निर्मल कुमार महतो की अगुवाई में सशस्त्र सलामी दी गयी. श्रद्धा सुमन अर्पित करने वालों में परमवीर के विधवा बलमदीना एक्का के अलावा एसडीओ प्रीति किस्कू, बीडीओ विभूति मंडल, प्रशिक्षु निर्मल कुमार महतो, सीसी करमटोली पंचायत के मुखिया दिलीप बड़ाइक, शहीद के पुत्र भिंसेंट एक्का, बहू रजनी एक्का, नंदकिशोर नंद मौजूद थे. वहीं प्रशासन ने बलमदीना एक्का को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया.

Jharkhand news : चलने में असमर्थ शहीद की पत्नी बलमदीना एक्का को कुर्सी में बैठाकर शहीद अलबर्ट एक्का के प्रतिमा में माल्यार्पण कराते लोग.
Jharkhand news : चलने में असमर्थ शहीद की पत्नी बलमदीना एक्का को कुर्सी में बैठाकर शहीद अलबर्ट एक्का के प्रतिमा में माल्यार्पण कराते लोग.
प्रभात खबर.

शहीद की पत्नी बलमदीना चलने में असमर्थ, गोद में माल्यार्पण करने पहुंची

शहीद अलबर्ट एक्का की पत्नी बलमदीना एक्का चलने में असमर्थ है. उनकी उम्र 84 वर्ष हो गयी है. वह बीमार भी है. इस कारण गुरुवार को शहीद की पत्नी को अलबर्ट एक्का की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के लिए गोद में उठाकर ले जाना पड़ा. जारी बीडीओ के ड्राईवर संदीप उरांव ने शहीद की पत्नी को गोद में उठाया. इसके बाद शहीद की प्रतिमा तक ले गये. जहां कुर्सी में शहीद की पत्नी को बैठाया गया. फिर कुर्सी सहित शहीद की पत्नी को प्रतिमा की ऊंचाई तक उठाकर माल्यार्पण कराया गया.

समाधि स्थल पहुंचकर रो पड़ी बलमदीना

पत्नी बलमदीना एक्का अपने शहीद पति अलबर्ट एक्का के समाधि स्थल पर पहुंचते ही भावुक हो उठी. हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी बलमदीना एक्का ने अपने पति के प्रतिमा के पास पहुंची. जहां उनको प्रतिमा के बगल में कुर्सी पर बैठाया गया. बलमदीना ने अपने दिवंगत पति की प्रतिमा की ओर टकटकी लगाये हुए कुछ देर देखती रही. इसके बाद उन्होंने प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर अलबर्ट एक्का के पैर छूए. इसके बाद शहीद के समाधि स्थल के पास बलमदीना एक्का को ले जाया गया. जहां उन्होंने फूल माला चढ़ाया और समाधि स्थल को देखते रही. बलमदीना के आंखों से आंसू छलक पड़े और वह भावुक हो उठी. जिससे माहौल गमगीन हो गया. यह देख मौके पर मौजूद लोग अलबर्ट एक्का अमर रहे के नारे लगाने लगे.

शहीदों से युवा प्रेरणा लें : एसपी

शहीद अलबर्ट एक्का के शहादत दिवस पर गुमला एसपी एचपी जनार्दन ने प्रतिमा पर माल्यार्पण किये और सलामी दी. उन्होंने कहा कि आज युवा वर्ग शहीदों के जीवन से प्रेरणा लें और देश सेवा के लिए सदा तैयार रहे.

समाधि स्थल का सुंदरीकरण होगा : रतन

पूर्व जनजातीय परामर्शदात्री सदस्य रतन तिर्की ने कहा कि निश्चित रूप से अगले शहादत दिवस तक समाधि स्थल पर चहारदीवारी और समाधि स्थल पर फुलवारी लगकर तैयार हो जायेगा. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से बात हो गयी है. उन्होंने आश्वासन दिया है कि आगामी शहादत दिवस तक चहारदीवारी और फुलवारी बन जायेगा. उन्होंने बताया कि आम लोगों की भागीदारी ज्यादा होती तो और अच्छी बात थी. उन्होंने कहा कि परमवीर अलबर्ट एक्का के समाधि स्थल को पर्यटन स्थल जैसे बनाया जायेगा, ताकि राज्य तथा देश के लोग यहां आकर समाधि स्थल पर नमन करेंगे. शहीद की पत्नी बलमदीना एक्का के जिंदा रहते तक सपना पूरा होगा.

आज भी समाधि स्थल उपेक्षित : प्रभाकर तिर्की

आदिवासी कांग्रेस के प्रदेश के उपाध्यक्ष प्रभाकर तिर्की ने कहा कि दुर्भाग्य की बात है कि यहां के जनप्रतिनिधियों, प्रशासनिक पदाधिकारियों के कारण आज भी परमवीर अलबर्ट एक्का का गांव एवं समाधि स्थल उपेक्षित है. उन्होंने कहा कि मैं शहीद के गांव की स्थिति को सरकार तक पहुंचाने का काम करूंगा.

मौके पर उपस्थित सामाजिक कार्यकर्ता जोय बाखला, प्रमुख पुष्पा लकड़ा, जारी प्रखंड कांग्रेस अध्यक्ष राजेश टोप्पो, शीतल खलखो, दिलीप बड़ाईक, नंदकिशोर नंद, अंजलुस लकड़ा, वासुदेव राय, विशाल कुमार सहित कई लोग उपस्थित थे.

शहीद कभी नहीं मरते हैं : विधायक

शहीद कभी नहीं मरते हैं, बल्कि वे अमर हो जाते हैं. हर पल हमारे दिलों में शहीद रहते हैं. यह बातें विधायक भूषण तिर्की ने शहीद अलबर्ट एक्का के शहादत दिवस पर कही. झारखंड मुक्ति मोर्चा गुमला जिला इकाई ने विधायक भूषण तिर्की के नेतृत्व में वीर शहीद परमवीर अलबर्ट एक्का की शहादत दिवस पर पीएई स्टेडियम परिसर स्थित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किया. विधायक ने कहा कि हमारे जारी गांव के वीर सपूत अलबर्ट एक्का महान सपूत है. उनपर पूरे देश गर्व है. मौके पर नगर परिषद उपाध्यक्ष मो कलीम अख्तर, युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष जेम्स तिर्की, रंजीत सिंह सरदार, हरिओम प्रसाद, जगदीश साहू, सद्दाम हुसैन, किनोर साहू, विजय कुमार, हाजी नेपाली, मो साजिद, सुधीर खलखो, मो लडडन, मो अनवर सहित कई लोग मौजूद थे.

भाजपाईयों ने शहीद को किया नमन

शहीद अलबर्ट एक्का के शहादत दिवस पर नगर भाजपा द्वारा अध्यक्ष निर्मल कुमार के नेतृत्व में स्टेडियम के समीप माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किया गया. मौके पर भूपन साहू, सत्यनारायण पटेल, निर्मल गोयल, निर्मल कुमार, जिला मीडिया प्रभारी अरविंद मिश्रा, महिला मोर्चा अध्यक्ष शैल मिश्रा, रवींद्र सिन्हा, सुबा एल्बम तिग्गा, कौशलेंद्र जमुआर, अनीता देवी, संतोष झा, सोनी देवी, गौरी किंडो, सोना मनी देवी ,राजेश सिंह, संतोष साहू, संदीप कुमार, बालकेश्वर सिंह, संजय वर्मा, लक्ष्मी विश्वकर्मा, विकास श्रीवास्तव, मीरा देवी, रेखा देवी, मीना देवी, गीता मिश्रा, सुषमा गुप्ता, श्रवण साहू, देवदत्त भारती, अधिवक्ता रविंद्र कुमार सिंह, बसंत उरांव समेत अन्य मौजूद थे.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें