1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. jharkhand crime news after murder of mother in latehar now minor deaf mute girl in gumla social workers demanding action against the culprits grj

Jharkhand Crime News : लातेहार में मां की हत्या के बाद अब नाबालिग मूकबधिर बिटिया से गुमला में दुष्कर्म, समाजसेवियों ने ली सुध, दोषियों पर कार्रवाई की मांग

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand Crime News : पीड़िता की सुध लेने वाले समाजसेवी एवं अन्य
Jharkhand Crime News : पीड़िता की सुध लेने वाले समाजसेवी एवं अन्य
प्रभात खबर

Jharkhand Crime News, Gumla News, घाघरा न्यूज (अजीत साहू): झारखंड के गुमला जिले के घाघरा प्रखंड की नवडीहा पंचायत की एक नाबालिग मूकबधिर विक्षिप्त लड़की के गर्भवती होने का मामला प्रकाश में आया है. बताया जाता है कि उसके साथ आठ माह पहले अज्ञात लोगों ने दुष्कर्म किया था. जब लड़की गर्भवती हुई तो दुष्कर्म का खुलासा हुआ. मूकबधिर लड़की के गर्भवती की सूचना पर समाजसेवियों ने पीड़िता के घर पहुंचकर मामले की जानकारी ली. समाजसेवियों ने घाघरा पुलिस से प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच करने की मांग की है. ये नाबालिग लातेहार जिला की रहने वाली है. पिछले 10 वर्षों से नवडीहा पंचायत में रह रही है. लातेहार में रहने के दौरान मां की अपराधियों ने हत्या कर दी थी.

बताते चलें कि नवडीहा पंचायत में 17 वर्षीया मूकबधिर विक्षिप्त लड़की है. गर्भवती होने के बाद भी उससे काम कराया जा रहा है. किसी भी तरह का पौष्टिक आहार नहीं दिया जा रहा है. ये नाबालिग लातेहार जिला की रहने वाली है. पिछले 10 वर्षों से नवडीहा पंचायत में रह रही है. लातेहार में रहने के दौरान मां की अपराधियों ने हत्या कर दी थी. जिसके बाद से पीड़िता के अलावा दो भाई व एक बहन अपनी मौसी के घर रहने के लिए नवडीहा पंचायत आये. कुछ दिनों बाद पीड़िता के पिता आकर दोनों लड़कों को वापस ले गये और विक्षिप्त के अलावा एक बहन को नवडीहा गांव में मौसी के घर ही छोड़ दिया. पीड़िता का कार्य प्रत्येक दिन मवेशी चराना था. पीड़िता के साथ अज्ञात लोगों ने शारीरिक संबंध बनाया. अब पीड़िता आठ माह की गर्भवती है.

समाजसेवी अरुण साहू व जयपाल साहू की नजर बुधवार को लड़की पर पड़ी. जब वह बैल चराने जा रही थी. गर्भवती को देख उसके सामने गये, तो लड़की थकी व भूखे प्यासे हाफ रही थी. जिसके बाद दोनों समाजसेवियों ने उसे खाना खिलाया. साथ ही घर में आराम कराया. समाजसेवी अरुण साहू ने बताया कि घरवालों से लड़की के गर्भवती के संबंध में पूछताछ की गयी, पर किसी भी तरह का जवाब नहीं मिला. वहीं लड़की को पौष्टिक आहार भी नहीं मिल रहा है. समाजसेवी जयपाल सिंह ने कहा इस तरह की घटना हमारे क्षेत्र में आये दिन होती रहती है, परंतु यह घटना काफी गंभीर है. लड़की ना बोल पाती है और ना ही सुन पाती है. ऐसी लड़की के साथ गलत करना माफी के लायक नहीं है. दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा होनी चाहिए.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें