1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. double murder case including para teacher revealed in tendar village 9 drunken youths were murdered in mandar and dancing smj

तेंदार गांव में पारा शिक्षक समेत डबल मर्डर केस का हुआ खुलासा, मांदर बजाने व नाच-गान विवाद में 9 शराबी युवकों ने की थी हत्या

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : तेंदार गांव में डबल मर्डर केस की जानकारी देते गुमला एसपी एचपी जनार्दनन. पुलिस की गिरफ्त में आया 6 आरोपी. 3 आरोपी अब भी फरार.
Jharkhand news : तेंदार गांव में डबल मर्डर केस की जानकारी देते गुमला एसपी एचपी जनार्दनन. पुलिस की गिरफ्त में आया 6 आरोपी. 3 आरोपी अब भी फरार.
प्रभात खबर.

Jharkhand news, Gumla news : गुमला (दुर्जय पासवान) : गुमला जिला के घाघरा थाना अंतर्गत तेंदार गांव में विगत 6 नवंबर, 2020 को मांदर बजाने एवं नाच-गान के दौरान हुए विवाद के बाद पारा शिक्षक लालदेव असुर एवं उसके दोस्त रामस्वरूप खड़िया की हत्या कर दी गयी थी. पुलिस ने इस दोहरो हत्याकांड को 11 दिन बाद उद्भेदन करते हुए हत्या में शामिल 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर ली है. जबकि हत्या में शामिल अन्य 3 आरोपी गांव से फरार है. पुलिस ने हत्या के आरोप में तेंदार गांव के छोटू मुंडा, संदीप मुंडा, मुकेश लोहरा, गंगा लोहरा, तेंदार नवाटोली गांव के परदेशिया उरांव व प्यास उरांव को गिरफ्तार की है. पूछताछ के बाद इन सभी को बुधवार को न्यायिक हिरासत में लेते हुए गुमला जेल भेज दिया गया है. इन युवकों ने शराब के नशे में हत्या की थी.

छोटू के साथ शिक्षक का हुआ था विवाद

गुमला के पुलिस अधीक्षक एचपी जनार्दनन ने पत्रकारों को बताया कि 6 नवंबर को तेंदार गांव में लगे दशहरा करमा मेला के दौरान लालदेव असुर अपने सहयोग रामस्वरूप खड़िया के साथ पाच गान कर रहे थे. इसी दौरान मांदर बजाने के दौरान लालदेव असुर का छोटू मुंडा के साथ धक्का लग गया. जिससे दोनों में विवाद हुआ था. छोटू ने लालदेव को देख लेने की धमकी दिया था. उस समय छोटू नशे की हालत में था. मेला में विवाद होने के बाद लालदेव एवं रामस्वरूप मेला से निकलकर एक घर में शराब पीने के लिए पहुंचे थे. जहां पहले से छोटू अपने 8-9 साथियों के साथ शराब पी रहा था.

लालदेव ने जब छोटू को अपने साथियों के साथ शराब पीते देखा, तो लालदेव एवं रामस्वरूप बिना शराब पीये वहां से निकलकर जाने लगा. जब शराब बेचने वाले घर से लालदेव निकला, तो उस समय भी छोटू मुंडा एवं उसके साथियों के साथ बकझक हुई. किसी प्रकार विवाद खत्म हुआ तो लालदेव एवं रामस्वरूप अपने घर जाने लगे. तभी छोटू मुंडा एवं अन्य आरोपी पीछा करते हुए लालदेव एवं रामस्वरूप के पास पहुंचे. छोटू अपने साथियों के साथ मिलकर लालदेव एवं रामस्वरूप की जमकर पिटाई कर दिया. लाठी डंडा से पिटाई से दोनों की मौत हो गयी. इसके बाद आरोपियों ने शव को घसीटते हुए झाड़ियों के पास ले जाकर फेंक दिया. एसपी ने बताया कि इस हत्याकांड में 9 युवक थे जिसमें 6 युवक पकड़े गये हैं. 3 युवक फरार हैं.

पुलिस टीम में शामिल अधिकारी

हत्या के आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस टीम का गठन किया गया था. जिसमें घाघरा थाना प्रभारी सुधीर प्रसाद साहू, बिशुनपुर थाना प्रभारी मोहन कुमार, पुअनि दशरथ कुमार दास, पुअनि राजेश कुमार, पुअनि नितेश कुमार, पुअनि सूरज कुमार यादव, पुअनि महेश प्रसाद कुशवाहा सहित घाघरा व बिशुनपुर थाना के रिजर्व गार्ड के जवान थे.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें