1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. dumka
  5. dumka acb arrested clerk of district education department taking bribe of rs one lakh

लॉकडाउन में एक लाख रुपये की रिश्वत ले रहा था शिक्षा विभाग का क्लर्क, दुमका एसीबी ने किया गिरफ्तार

By Mithilesh Jha
Updated Date
एसीबी की गिरफ्त में जिला शिक्षा कार्यालय का लिपिक मो इफ्तिखार.
एसीबी की गिरफ्त में जिला शिक्षा कार्यालय का लिपिक मो इफ्तिखार.
आनंद जायसवाल

आनंद कुमार जायसवाल

दुमका : झारखंड (Jharkhand) की उप-राजधानी दुमका (Dumka) में लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान एक लाख रुपये रिश्वत (Bribe) लेते हुए शिक्षा विभाग के एक क्लर्क (Clerk of District Ediucation Officer) को एंटी करप्शन ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) ने गिरफ्तार किया है. एसीबी (ACB) की टीम ने बुधवार (8 अप्रैल, 2020) को जिला शिक्षा पदाधिकारी के कार्यालय के लिपिक मो इफ्तिखार (Md Iftikhar) को अजय कुमार दुबे (Ajay Kumar Dubey) को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया.

दुमका के ही शिवपहाड़ में संचालित होने वाले एक प्राइवेट शिक्षण संस्थान वेस्टर्न इंग्लिश स्कूल के संचालक से इफ्तिखार ने पांच लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी. रिश्वत नहीं देने पर अगले आदेश तक स्कूल को बंद करवा देने की धमकी दी थी.

दरअसल, कोरोना वायरस के संभाव्य संक्रमण को लेकर लॉकडाउन में स्कूलों को बंद रखने का आदेश था. फिर भी अजय कुमार दुबे ने अपने विद्यालय को एक दिन खोला था. इसके लिए जिला शिक्षा पदाधिकारी ने उनसे स्पष्टीकरण भी मांगा था.उन्होंने स्पष्टीकरण दिया, लेकिन विभाग ने स्पष्टीकरण पर असंतोष जताते हुए स्कूल को अगले आदेश तक बंद रखने का निर्देश दिया.

नये नामांकन वगैरह पर रोक लगा देने की भी बात कही गयी. इस आदेश के निकलने के बाद जिला शिक्षा कार्यालय के लिपिक मो इफ्तिखार ने वेस्टर्न इंग्लिश स्कूल के संचालक अजय कुमार दुबे से संपर्क किया. कहा कि उन्हें यदि स्कूल खुलवाना है, तो पांच लाख रुपये देने पड़ेंगे. रुपये मिलने पर वह स्कूल खोलने का आदेश निकलवा देंगे. रुपये नहीं देने पर स्कूल नहीं खुलेगा.

इससे परेशान होकर अजय कुमार दुबे ने एंटी करप्शन ब्यूरो में संपर्क किया. उन्होंने एसीबी में मो इफ्तिखार के खिलाफ शिकायत दर्ज करवायी. शिकायत के सत्यापन के दौरान पता चला कि इफ्तिखार ने कुल चार लाख रुपये मांगे थे. उसका कहना था कि तीन लाख रुपये वरीय अधिकारियों को देने पड़ेंगे.

आरोपी इफ्तिखार ने पहली किस्त में अजय कुमार दुबे से एक लाख रुपये की मांग की थी. एसीबी ने श्री दुबे की मदद से इफ्तिखार की गिरफ्तारी के लिए जाल बिछाया. बुधवार को जैसे ही इफ्तिखार ने अजय कुमार दुबे से एक लाख रुपये लिये, वहां मौजूद एसीबी की टीम ने उसे रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें