1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. dhanbad
  5. jharkhand news ban on the appointment of contractual teachers after the petition of two members of jharkhand assistant professor contracting association know the whole matter srn

Jharkhand News : झारखंड सहायक प्राध्यापक अनुबंध संघ के दो सदस्यों के याचिका के बाद संविदा शिक्षकों की नियुक्ति पर रोक, जानें पूरा मामला

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
संविदा शिक्षकों की नियुक्ति पर रोक
संविदा शिक्षकों की नियुक्ति पर रोक
प्रतीकात्मक तस्वीर

Jharkhand News, Dhanbad News, jharkhand contract teacher recruitment case 2021-22 धनबाद : झारखंड हाइकोर्ट ने बिनोद बिहारी महतो कोयालंचल विश्वविद्यालय में अनुबंध पर घंटी आधारित सहायक प्राध्यापकों की नियुक्ति प्रक्रिया पर रोक लगा दी है. विवि में कार्यरत अनुबंध शिक्षक डॉ प्रभाकर कुमार व अन्य की ओर से दायर याचिका पर गुरुवार को सुनवाई के दौरान न्यायाधीश डीके द्विवेदी की बेंच ने 19 अप्रैल को होने वाली अगली सुनवाई तक के लिए नियुक्ति प्रक्रिया पर रोक लगा दी.

कोर्ट का आदेश आने के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने भी तमाम प्रक्रिया तत्काल स्थगित कर दी है. याद रहे कि बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल यूनिवर्सिटी में 25 जनवरी 2021 को घंटी आधारित 347 शिक्षकों की नियुक्ति के लिए वैकेंसी निकाली गयी थी. इसमें पहले विवि के विभिन्न कॉलेजों में कार्यरत 85 घंटी आधारित शिक्षकों को इसमें हिस्सा लेने का निर्देश दिया गया था.

इस संबंध में विवि प्रशासन का तर्क था कि इनकी नियुक्ति तीन वर्षों के लिए हुई थी. इनका कार्यकाल 31 मार्च को समाप्त हो रहा है. विवि ने इन सभी शिक्षकों को फिर से नियुक्ति प्रक्रिया में शामिल होने को कहा था. इस निर्देश के बाद झारखंड सहायक प्राध्यापक अनुबंध संघ से जुड़े दो शिक्षकों ने उच्च न्यायालय में नियुक्ति प्रक्रिया को चुनौती दी थी.

  • विवि ने अनुबंध पर 347 शिक्षकों की बहाली के लिए जनवरी में निकाली थी वैकेंसी

  • घंटी आधारित सहायक प्राध्यापक की नियुक्ति को ले दी गयी है चुनौती

दो यूनिवर्सिटी में पहले ही लग चुकी है रोक

बीबीएमकेयू से पहले कोल्हान विवि और विनोबा भावे विश्वविद्यालय में घंटी आधारित शिक्षकों की नियुक्ति के लिए जनवरी 2021 में विज्ञापन निकाला गया था. इन दोनों विवि में भी ऐसी नियुक्ति प्रक्रिया पर रोक लगा दी गयी है. बता दें कि झारखंड सहायक प्राध्यापक अनुबंध संघ के बैनर तले इन तीनों विवि में घंटी आधारित शिक्षकों की नियुक्ति के लिए निकाले गये विज्ञापन के विरोध में राजभवन के समक्ष धरना भी दिया था.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें