24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

महज 96.30 एमटी गेहूं की खरीदारी कर जिला बना नंबर वन

गेहूं अधिप्राप्ति के लिए 236 समितियों का हुआ है चयन, मात्र 33 में ही अब तक हुई गेहूं की खरीद

फोटो- 8- खेत में गेहूं की कटाई करता हार्वेस्टर. प्रतिनिधि, सासाराम सदर महज 96.30 एमटी की खरीदारी कर जिला गेहूं अधिप्राप्ति की रैंकिंग में नंबर वन बन गया है. अब इस नंबर वन की जगह बरकरार रखने के लिए जिला सहकारिता विभाग अग्रेतर कोशिश व गेहूं खरीदारी से संबंधित तैयारी पूर्ण करने में जुट गया है. बता दें रबी विपणन मौसम 2024-25 अन्तर्गत जिले में विगत 15 मार्च से गेहूं की खरीदारी शुरू है, जो आगामी 15 जून तक चलेगी. इस दौरान गेहूं की अधिप्राप्ति पैक्स/व्यापार मंडल के द्वारा की जा रही है. विभाग के अनुसार, जिले में गेहूं अधिप्राप्ति के लिए सरकार की ओर से 19956 एमटी गेहूं की खरीदारी करने का लक्ष्य निर्धारित की गया है. इस लक्ष्य के विरुद्ध 15 मार्च से अब तक मात्र 33 समितियों द्वारा ही कुल 38 किसानों से 96.30 एमटी गेहूं की खरीदारी की है. बावजूद गेहूं अधिप्राप्ति की रैंकिंग में जिला को प्रथम स्थान मिला है. इसकी जानकारी देते हुए डीपीआरओ धर्मवीर सिंह ने बताया कि जिला सहकारिता विभाग की ओर से अधिक से अधिक किसानों से गेहूं अधिप्राप्ति को लेकर अग्रेतर कार्यवाही की जा रही है. विभाग की ओर से अब तक 96.30 एमटी गेहूं की खरीदारी हुई है. इसके बाद सरकार की ओर जारी मासिक गेहूं अधिप्राप्ति की रैंकिंग में जिला को बिहार में पहला स्थान प्राप्त हुआ है. अधिक से अधिक गेहूं अधिप्राप्ति में जुटा विभाग: जिला सहकारिता विभाग के अनुसार, जिले में गेहूं अधिप्राप्ति के लिए आवश्यक सभी तैयारी पूर्ण कर ली गयी है. योग्य पैक्स एवं व्यापार मंडल का चयन किया जा चुका है. इसको लेकर पैक्स/व्यापार मंडल को गेहूं अधिप्राप्ति के लिए विशेष दिशा-निर्देश दिया गया है. साथ ही गेहूं अधिप्राप्ति के व्यापक प्रचार-प्रसार करने के लिए प्रखंडों के सहकारिता प्रसार पदाधिकारी व पैक्स अध्यक्षों को निर्देशित किया गया है, ताकि अधिक से अधिक किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य का लाभ दिलाया जा सके. गेहूं अधिप्राप्ति के लिए 236 समितियों का हुआ है चयन: जिले के अधिक से अधिक किसानों से गेहूं अधिप्राप्ति के लिए जिला सहकारिता विभाग की ओर से कुल 236 समितियों का चयन किया गया है. इसमें से अब तक 33 समितियों ही कुल 38 किसानों से 96.30 एमटी गेहूं की अधिप्राप्ति हुई है. जबकि शेष समितियों में गेहूं की खरीदारी नदारद है. गेहूं बेचने के लिए किसान ऑनलाइन कर सकते निबंधन: अपनी गेहूं बेचने के लिए किसान ऑनलाईन कर विभाग में अपना निबंधन करा सकते है. विभाग के अनुसार, निबंधन के लिए कृषि विभाग के पोर्टल www.dbtagriculture.bihar.gov.in व सहकारिता विभाग के पोर्टलepacs.bih.nic.in पर किसान कॉर्नर पर जाकर भूमि से संबंधित व अन्य वांछित सूचना अंकित करना होगा. यदि निबंधन में किसी प्रकार की तकनीकी कठिनाई हो, तो अपने प्रखंड के सहकारिता प्रसार पदाधिकारी/कार्यपालक सहायक से सम्पर्क किया जा सकता है. 2275 प्रति क्विंटल गेहूं का समर्थन मूल्य, बेचने के लिए इनसे करें संपर्क: विभाग के अनुसार, सरकार द्वारा गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य 2275/- प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है. इस समर्थन मूल्यों पर गेहूं बेचने के लिए किसान अपने नजदीक के पैक्स/व्यापार मंडल में पैक्स अध्यक्ष/प्रबंधक, कार्यपालक सहायक व प्रखंड के सहकारिता प्रसार पदाधिकारी से संपर्क कर सकते हैं.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें