25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Patna : दीघा में पूर्व मुखिया के घर पर फायरिंग, भतीजे को लगी गोली, दो गिरफ्तार

दीघा थाने की न्यू माइका कॉलोनी मेंगुरुवार को अपराधियों ने जमीन विवाद में नकटा दियारे के पूर्व मुखिया भागीरथ राय के घर पर चढ़कर पत्थरबाजी की और फिर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. इसमें पूर्व मुखिया के भतीजे मुकेश कुमार उर्फ गोपी को गोली लग गयी. पुलिस ने इस मामले में दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है़

संवददाता, पटना :दीघा थाने के यदुवंशी नगर स्थित न्यू माइका कॉलोनी में गुरुवार को गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा. एक के बाद एक 10 से 12 राउंड फायरिंग और पत्थरबाजी की गयी है. दरअसल सत्येंद्र राय, बिमल गोप, धर्मेंद्र गोप, परमेश्वर मुखिया, पूर्व उपमुखिया श्याम बहादुर सिंह और उसके सहयोगियों ने पहले विवादित जमीन पर जमीन पर बने खटाल को उखाड़ दिया. फिर इसका विरोध करने पर नकटा दियारे के पूर्व मुखिया भागीरथ राय के घर पर चढ़कर पत्थरबाजी की और फिर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. इसमें पूर्व मुखिया के भतीजे मुकेश कुमार उर्फ गोपी को गोली लग गयी. इसके बाद हड़कंप मच गया, जिसके बाद सभी फरार हो गये. घटना उस वक्त हुई, जब घर की महिलाएं वट सावित्री पूजा कर रही थीं. करीब साढ़े दस बजे शुरू हुई गोलीबारी आधा घंटा तक चली. इस दौरान पूर्व मुखिया और उनके परिजनों ने थानेदार से लेकर वरीय अधिकारियों तक को फोन किया, लेकिन उन्होंने या तो फोन नहीं उठाया या डायल 112 पर संपर्क करने को कहा. यहां तक कि जब डायल 112 की टीम पहुंची, तो उसने भी थानेदार को कॉल किया, लेकिन तब भी थानेदार ने फोन नहीं उठाया. गोली लगने के बाद आनन-फानन में परिजनों ने घायल मुकेश कुमार को पहले निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से उसे पीएमसीएच रेफर कर दिया. परिजनों ने बताया कि उसे दो गोलियां लगी है. एक पैर में और दूसरा सीने में. इस मामले में पुलिस ने 12 नामजद व आठ अन्य अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया है, जिनमें से दो आरोपितों नकटा दियारे के पूर्व सरपंच बिमल राय और आर्मी जवान धर्मेंद्र राय को गिरफ्तार कर लिया.

थानेदार से लेकर डीएसपी तक को लगाया फोन, लेकिन किसी ने नहीं उठाया:

घटना के बाद पूर्व मुखिया और उनके समर्थकों ने दीघा सब्जी मंडी के पास सड़क को जाम कर दिया. पुलिस बैरिकेडिंग से सड़क को ब्लॉक कर आगजनी की और करीब तीन घंटे तक दीघा-दानापुर सड़क पर आवागमन को बंद कर दिया. हैरत की बात घटना के दो घंटे के बाद भी न तो घटनास्थल पर दीघा थाने की पुलिस पहुंची और न ही दीघा सब्जी मंडी जाम स्थल पर आयी. पूर्व मुखिया ने बताया कि थानेदार और डीएसपी को फोन लगाया गया, उन्होंने फोन नहीं उठाया. इसके बाद कोतवाली डीएसपी को लगाया, तो उन्होंने डायल 112 को कॉल करने के लिए कहा. डायल 112 को फोन लगाने के बाद भी जब कोई घटनास्थल पर नहीं पहुंचा, तो एसएसपी को फोन लगाया, तो उन्होंने भी डायल 112 की टीम को कॉल करने के लिए कह दिया. पूर्व मुखिया ने आरोप लगाया कि थाने की पुलिस और डीएसपी की मिलीभगत से यह पूरी घटना हुई है. जब हमलोग दो दिन पहले मारपीट करने की प्राथमिकी दर्ज करने गये, तो थानेदार ने एफआइआर करने से इन्कार कर दिया और उल्टा मेरे भाई को राकेश कुमार घर से गिरफ्तार कर लेकर चली गयी.

सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे 20 अपराधी :

यह पूरी घटना पूर्व मुखिया के घर पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गयी. कैमरे में लगभग 20 अपराधी दिख रहे हैं. पहले वे विवादित जमीन पर बने खटाल को उखाड़ते दिख रहे हैं. इसका विरोध करने के तुरंत बाद अपराधियों ने अचानक पत्थरबाजी शुरू कर दी. इसी बीच दो लड़कों ने घर के पास आकर फायरिंग शुरू कर दी. इसके बाद पीछे से एक मुंह पर गमछा बांधा हुआ युवक आया और उसने भी फायरिंग शुरू की. गोली चलने के बाद भगदड़ मच गयी. इसी में मुकेश का गोली लग गयी. इसके बाद अपराधी मौके पर दो पल्सर बाइक छोड़ कर फरार हो गये, जिन्हें पुलिस ने जब्त कर लिया. मौके से पुलिस ने छह खोखे भी बरामद किये हैं. यही नहीं, अपराधियों ने खटाल में बंधे कई गायों पर बांस-बल्लों से हमला भी किया, जिससे मवेशियों को काफी चोटें भी आयी हैं.

दो कट्ठा सात धुर जमीन का चल रहा है विवाद

:

आक्रोशित लोगों ने दीघा-दानापुर सड़क को ढाई घंटे तक जाम किया. पुलिस के खिलाफ लोगों में काफी आक्रोश रहा. पूर्व मुखिया भगीरथ राय ने बताया कि पूरा मामला 2 कट्ठा 7 धुर जमीन का है, जिस पर कब्जा करने के लिए सत्येंद्र राय, बिमल गोप, परमेश्वर मुखिया, धर्मेंद्र समेत दर्जनों लोग पहुंचे थे. ये सभी पूर्व उपमुखिया श्याम बहादुर सिंह के साथ सहयोगी हैं और सभी ने मिलकर इस पूरे घटना को अंजाम दिया है.

पिछले रविवार को भी हुई थी झड़प

:

इससे पहले पिछले रविवार को भी जमीनी विवाद में पूर्व मुखिया के परिजनों से मारपीट व गोलीबारी हुई थी. हालांकि, पुलिस ने गोलीबारी से इन्कार कर दिया था, लेकिन इस मामले को लेकर दीघा थाने में पीड़ित ने शिकायत दर्ज करायी थी और पुलिस जांच ही कर रही थी कि गुरुवार को फिर से गोलीबारी हो गयी.

बिमल व धर्मेंद्र कुमार गिरफ्तार : घटना के बाद पुलिस ने छापेमारी कर पूर्व सरपंच बिमल गोप वआर्मी जवान धर्मेंद्र राय को गिरफ्तार कर लिया है. परिजनों ने बताया कि जब वह थाना पहुंचे, तो वहां पहले से बिमल गोप बैठा हुआ था. वहां से पुलिस वाले जाने को कह रहे थे.

12 नामजद और आठ अज्ञात पर प्राथमिकी

इस मामले में नकटा दियारे के पूर्व सरपंच बिमल राय, उसके बेटे आदित्य कुमार के अलावा फाैजी धर्मेंद्र राय, परमेश्वर राय, तीन भाई काशी राय, महेश राय व जयप्रकाश राय के साथ ही सत्येंद्र राय, एक और सत्येंद्र राय, सिताब राय, रंजन कुमार, अभिषेक कुमार काे नामजद किया गया है. आठ अन्य अज्ञात पर भी दीघा थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें