घर घर दस्तक अभियान में लोगों से मिले नीतीश, कहा- डरने वाला नहीं, बहुत से छाती तोड़ने वालों को देखा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पटना : बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर जदयू का हर घर दस्तक, घर घर दस्तक कार्यक्र म गुरु वार को शुरू हो गया. इस कार्यक्र म की शुरूआत करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज पटना सिटी में दस घरों पर दस्तक देने के लिए पहुंच गए. पटना सिटी के पश्चिम दरवाजा के पास स्थित कृष्णा साहु के घर पर सबसे पहले उन्होंने दस्तक दी. इस दौरान मुख्यमंत्री ने लोगों की समस्याओं के बारे जानकारियां एकत्रित की. वहीं, इस कार्यक्र म को लेकर भाजपा ने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री दिखावे के लिए घर घर दस्तक दे रहे है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार घरों पर दस्तक देने के कार्यक्र म से पहले पटना सिटी के मशहूर बड़ी पटनदेवी मंदिर पहुंचे. इसके बाद कृष्णा साहु के घर का दरवाजा खटखटाकर अभियान की शुरु आत की. इसके बाद करीब डेढ़ घंटे बाद तक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तीन दर्जन से अधिक घरों में दस्तक दिए. कार्यक्र म के दौरान नीतीश कुमार पटना सिटी के शिवचक गांव मेंहदीगंज में एक सभा को भी संबोधित किया. अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने छाती तोड़ने वालों को बहुत देखा है और मैं डरने वाला नहीं हूं. नीतीश ने कहा कि जान की परवाह किए बगैर भी विकास कार्य करता रहूंगा. गौर हो कि बीते दिनों रालोसपा के प्रदेश अध्यक्ष अरु ण कुमार ने अप्रत्यक्ष रूप से नीतीश कुमार की छाती तोड़ने की बात कही थी. नीतीश कुमार ने कहा कि हम तोड़ने वाले नहीं जोड़ने वाले हैं और सबको साथ लेकर चलने में यकीन रखते हैं.

दस्तक कार्यक्रम से पार्टी की अलग पहचान बनेगी : वशिष्ठ नारायण

जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार को चौराहे से निकाल कर एक्सप्रेस गाड़ी पर सवार कर आगे बढ़ाने का काम किया. जिस हालात में बिहार का नेतृत्व करने का मौका मिला उसे चुनौती के रूप में स्वीकार किया. आज उनके नेतृत्व में बिहार ने हर क्षेत्र में काफी विकास किया. आगे भी बिहार बढ़ता रहे इसके लिए उनके नेतृत्व की जरूरत है. जदयू प्रदेश कार्यालय में हर घर दस्तक कार्यक्रम की शुरूआत के अवसर पर आयोजित संवाददाता सम्मेलन में उक्त बातें कही. उन्होंने कहा कि हर घर दस्तक कार्यक्रम पार्टी का विलक्षण कार्यक्रम है. जदयू की अलग संस्कृति है. इस कार्यक्रम से पार्टी की अलग पहचान बनेगी. उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की बुनियाद जनता के आशीर्वाद व समर्थन पर टिकी है. हर घर दस्तक कार्यक्रम अलग तरह का कार्यक्रम है, जिसमें जनता से सीधे संवाद करने का अवसर मिलेगा. जिस घर में जायेंगे, उस घर में रहनेवाले की बात सुनेंगे. उनकी समस्या को सुनेंगे. मिलनेवाले से अपनी बात कहेंगे. उनसे पूछेंगे कि नीतीश कुमार से आप क्या चाहते हैं. बिहार का विकास कैसे हो. बिहार के विकास के लिए नीतीश कुमार को अवसर मिलना चाहिए.

घर पर दस्तक देंगे कार्यकर्ता

वशिष्ठ नारायण ने कार्यक्रम के बारे में बताया कि पार्टी के नेता व कार्यकर्ता हर घर पर दस्तक देंगे. प्रत्येक कार्यकर्ता दस घर जाकर लोगों से मुलाकात करेंगे. उसके घर पर स्टीकर साटने के बाद घरवाले की तस्वीर लेंगे. आगे बढ़ता रहे ,फिर एक बार नीतीश कुमार के पोस्टर तैयार किया गया है. रिंग टोन भी बनाया गया है. लोगों में चेतना जगाने व राजनीतिक भावना पैदा करने का काम होगा. 30 दिन में 10 लाख कार्यकर्ता एक करोड़ घर में दस्तक देगा. एक घर में तीन से चार लोगों की गणना करें तो तीन से चार करोड़ से संवाद स्थापित होगा. उन्होंने कहा कि परचा कार्यक्रम की तरह यह कार्यक्रम सफल होगा.

जदयू कार्यालय में उत्सव जैसा माहौल

हर घर दस्तक कार्यक्रम की शुरूआत को लेकर जदयू कार्यालय में उत्सव सा माहौल देखा गया. कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए बड़ी संख्या में नेता व कार्यकर्ता पहुंचे थे. कार्यालय में प्रदेश अध्यक्ष द्वारा कार्यक्रम की जानकारी देने के बाद वे लोग अपने-अपने क्षेत्र में घरों में दस्तक देने के लिए निकल पड़े. पार्टी कार्यालय में प्रदेश महासचिव रविंद्र सिंह व नवीन आर्या, बिहार राज्य नागरिक परिषद के महासचिव छोटू सिंह, युवा जदयू का उपाध्यक्ष ओम प्रकाश सिंह, राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष अंजुम आरा, जदयू व्यावसायिक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष कमल नोपानी, अमर कुमार अग्रवाल, चन्द्रिका सिंह दांगी सहित कई नेता व कार्यकर्ता उपस्थित थे. इस कार्यक्र म प्रथम चरण में गुरु वार से शुरू होकर 11 जुलाई तक जबकि, दूसरा चरण 21 जुलाई से 31 जुलाई तक चलेगा.

भाजपा की प्रतिक्रिया

वहीं, इस कार्यक्र म पर प्रतिक्रि या देते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं सूबे के पूर्व उपमुख्यमंत्नी सुशील कुमार मोदी ने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि परचा पे चर्चा कार्यक्र म फेल हो गया है और अब मुख्यमंत्नी दिखावे के लिए घर घर दस्तक दे रहे है. उधर, भाजपा नेता नंद किशोर यादव ने जदयू पर भाजपा की नकल करने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि दशहरा के दौरान हुए हादसे में मारे गए लोगों के घरों पर जाकर नीतीश ने दस्तक क्यों नहीं दिया था. बीते दिनों राज्य में घिटत अनेक हादसों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि उस दौरान नीतीश ने हादसे के शिकार लोगों के घरों पर दस्तक नहीं दिया और आज चुनाव के नजदीक आने के साथ ही वे लोगों के घरों पर दस्तक देने का नाटक कर रहे है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें