''बिहार फर्स्ट-बिहारी फर्स्ट '' यात्रा पर चिराग, कहा- बिहार को नंबर वन बनाने को एनडीए खेलेगा नयी पारी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
सीतामढ़ी : 'बिहार फर्स्ट-बिहारी फर्स्ट ' यात्रा पर निकले लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने शनिवार को सीतामढ़ी की जनता से राज्य के हालात बदलने को सहयोग व सुझाव मांगे. यह भी बताया कि बिहार बदला तो बहुत है, लेकिन पलायन को रोकना चुनौती है.
विधानसभा चुनाव को एनडीए की नयी पारी करार दिया. साथ ही डायल 100 की खामियां गिनायी़ं नियोजित शिक्षकों की मांग को जायज बताकर उनके आंदोलन को मूक सहमति भी दे दी. नफरत भरे बयानों से दूरी भी प्रकट कर दी. चिराग पासवान ने सीतामढ़ी परिसदन में प्रेस काॅन्फ्रेंस कर कहा कि राज्य में बदलाव लाने लोगों से की समस्या जानने को यह यात्रा शुरू की है. उन्होने कहा कि किसी भी राज्य के लोग काम के लिए बिहार नहीं आते हैं, लेकिन बिहार के लोग स्वास्थ्य, शिक्षा एवं रोजगार के लिए दूसरे राज्यों में पलायन कर रहे हैं. यहां के लोग निवेश भी दूसरे राज्य में कर रहे हैं.
लोजपा के घोषणा पत्र में होगी नियोजित शिक्षकों की मांग
चिराग ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार को जंगल राज से बाहर निकाला है. अब नंबर वन राज्य बनाने को दूसरी छलांग लगायी जायेगी. नियोजित शिक्षकों की मांग जायज बताते हुए कहा कि एक ही तरह के काम के लिए अलग-अलग वेतन क्यों? शिक्षकों की मांग लोजपा के घोषणा पत्र में होगी. डायल 100 को दुरुस्त करना भी प्राथमिकता होगी. सीएए पर कहा कि भ्रम फैलाने वालों को इतिहास माफ नहीं करेगा. एनपीआर को लेकर भ्रम दूर हो गया है. फिलहाल एनआरसी लाने की योजना नहीं है.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें