दुष्कर्म के बाद किशोरी को कुंवारी मां बनाने के मामले में मौलाना गिरफ्तार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

मुजफ्फरपुर:बिहार के मुजफ्फरपुर में कटरा थाना क्षेत्र के एक गांव में किशोरी को दुष्कर्म के बाद कुंवारी मां बनाने के मामले में आरोपित मौलाना को मकबूल अहमद को गिरफ्तार कर लिया गया है. महिला थानेदार आभा रानी की नेतृत्व में विशेष पुलिस टीम ने शनिवार की दोपहर जीरोमाइल चौक पर खदेड़ कर उसे पकड़ लिया. मौलाना मकबूल मूल रूप से सीतामढ़ी जिले के रून्नीसैदपुर थाना क्षेत्र के बघारी गांव के रहने वाला हैं.

कटरा दुष्कर्म की घटना के प्रकाश में आने के बाद वह न्यू पुलिस लाइन स्थित किराये की मकान में परिवार के साथ छुपकर रह रहा था. महिला थाने की पुलिस ने दोपहर बाद मौलाना को विशेष पॉक्सो कोर्ट में प्रस्तुत करके न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया. वहीं, मुख्य आरोपित मो. सोहैब की गिरफ्तारी को लेकर विशेष पुलिस टीम उसके रिश्तेदारों पर दबिश बना रही है. देर रात तक उसके छुपने के ठिकानों पर छापेमारी जारी थी.

जानकारी के अनुसार, महिला थानेदार को गुप्त सूचना मिली कि कटरा कांड में आरोपित मौलाना जीरोमाइल चौक पर अपने किसी रिश्तेदार से मिलने आया है. सूचना मिलने के बाद थानेदार ने पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंच गयी. पुलिस को देख कर मौलाना भागने की कोशिश की लेकिन, उसे खदेड़ कर पकड़ लिया गया.

निकाह नहीं कराया तो मुझे झूठे आरोप में फंसाया गया : मौलाना
जेल भेजे जाने से पूर्व मौलाना ने पुलिस को बताया कि उसे इस कांड में झूठा फंसाया गया है. बच्ची की गर्भवती होने की जानकारी मिलने के बाद उसकी मां उसके ऊपर मो. सोहैब से निकाह पढ़वाने को लेकर दबाव बनाने लगी. जबकि, हमारे धर्म में गर्भवती का निकाह पढ़ाना जुर्म है, इसको लेकर उसने निकाह पढ़ाने से इन्कार कर दिया.इसी का बदला लेने के लिए उसे फंसाया गया है. डीएनए जांच के बाद पूरा मामला स्पष्ट हो जायेगा.

केस की आइओ दिल्ली में लगातार दूसरे दिन भी जमी रही
केस की नयी आइओ बनी मीनापुर सर्किल इंस्पेक्टर नीरू कुमारी दूसरे दिन शनिवार को भी दिल्ली में जमी रही. वे राष्ट्रीय बाल अधिकार आयोग के समक्ष केस डायरी, डीएसपी को पर्यवेक्षण रिपोर्ट- 2 समेत कई कागजात प्रस्तुत की है. आयोग से मिले निर्देश के आधार पर केस की आइओ आगे की कार्रवाई करेंगी.

महिला आयोग की रिपोर्ट के आधार पर जांच में आयी तेजी

दुष्कर्म पीड़िता किशोरी के मां बनने के बाद भी महिला थाने की पुलिस केस को गंभीरता से नहीं ले रही थी. पीड़िता इंसाफ के लिए कटरा व महिला थाने की चक्कर काट रही थी. लेकिन, उनकी फरियाद को कोई सुननेवाला नहीं था. तीन दिन पूर्व महिला आयोग की टीम पीड़िता के घर पहुंची. उनके जांच रिपोर्ट के आधार पर बीते बुधवार को एसएसपी ने केस की आइओ जमादार सविता कुमारी को बदल दिया. उनकी जगह इंस्पेक्टर नीरू कुमारी को नया आइओ बनाया था.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें