27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

गलत तरीके से निकाली गयी निविदा पर कुलपति ने लगायी रोक

किस फंड से निकाला गया निविदा ऑडिटर को हम देंगे जवाब : प्राचार्य

कटिहार. केबी झा कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य ने चतुर्थवर्गीय कर्मचारियों की नियुक्त को लेकर निकाले निविदा के तीसरे दिन 18 जून को ही कॉलेज प्राचार्य डॉ हरेन्द्र सिंह द्वारा अपरिहार्य कारणों से स्थगित कर दिये जाने के बाद से हड़कंप है. निकाली गयी निविदा व स्थगित निविदा का दो प्रति बिल बुधवार की दोपहर मंगवा लिया गया. जो कार्य कॉलेज में नोटिस के माध्यम से व ऑनलाइन आये आवेदकों को मेल के माध्यम से किया जा सकता था. प्राचार्य की मनमानी निविदा निकालने के लिए कॉलेज फंड का दुरूपयोग व स्थगित करने के लिए भी राशि फिजूल खर्च की मंशा का मामला अब धीरे-धीरे तूल पकड़ने लगा है. छात्र संगठन भी अपने-अपने स्तर से मामले को लेकर आवाज बुलंद करना शुरू कर दिया है. विवि के छात्र संगठन सदस्यों का कहना है कि कारण कुछ हो, लेकिन निविदा स्थगित के बाद प्राचार्य के गलत मंसूबे पर पानी फिर गया. अपने स्तर से निविदा निकालकर चहेतों को आउटसोर्सिंग के तहत बहाल करने की नियत पर विराम लग जाने के तिलमिली लगी है. विवि के कई छात्र संगठन के सदस्यों ने इसे उच्चस्तरीय जांच की मांग करने को लेकर विवि के व्हाटसएप ग्रुप पर प्रतिक्रिया के रूप में अलग-अलग चैटिंग किया है. विवि के कई छात्र संगठन के सदस्यों ने लोकल स्तर से निकाली गयी निविदा पर आपत्ति जताते हुए निविदा किस आधार पर पहले निकाला गया. पुन: किस आधार पर रद्द किया गया. इसे उच्चस्तरीय जांच का विषय बताया है. इतना ही नहीं कई ने केबी झा कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य पर पीयू के कुलपति से एफआईआर दर्ज कराने की मांग की है. जांच के बाद वोकेशनल कोर्स में भी घोटाले करने की आशंका को देखते हुए केबी झा कॉलेज का पूरा खर्च ब्योरा और खाता बही को ऑडिट से जांच कराने पर बल दिया है. मालूम हो कि केबी झा कॉलेज प्राचार्य ने कर्मियों की संविदा पर नियुक्ति को लेकर 15 जून 2024 को निविदा निकाल दो दिवा रात्रि प्रहरी, 01 सफाई कमी, 01 डाटा इंट्री ऑपरेटर एवं 01 जूनियर बुक कीपर के लिए अभ्यर्थियों से ऑफलाइन व केबी झा कॉलेज के मेल व बेवसाइट पर आवेदन मांगा गया था.

कुलपति के आदेश पर किया गया स्थगित

निविदा स्थगित को पीयू कुलपति द्वारा बताया गया कि कुलाधिपति का आदेश है कि निविदा नहीं निकाला जा सकता है. निविदा को स्थगित कर दिया गया है. निकाली गयी निविदा किस फंड से निकाला गया है. संबंधित जानकारी ऑडिटर द्वारा पूछे जाने के बाद वे जवाब देंगे.

डॉ हरेन्द्र कुमार सिंह, प्रभारी प्राचार्य

निविदा निकाले जाने के बाद मिली थी सूचना

केबी झा कॉलेज प्राचार्य द्वारा कर्मी नियुक्ति को लेकर निविदा निकालने के बाद सूचना मिली. पहले निविदा निकालना और उसे रद्द करने के चक्कर में राशि खर्च का ब्योरा मांगा जायेगा. स्थगित करने का तरीका गलत पाये जाने पर इसका जवाब प्राचार्य से मांगी जायेगी.

डॉ आरएन यादव, कुलपति, पीयू

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें