25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

पर्याप्त मात्रा में शहर को मिल रही बिजल, फिर भी आंख मिचौनी जारी

शहरी क्षेत्र में जरूरत के हिसाब से 35 मेगावाट के बाद भी रात में गुल हो जा रही बिजली

कटिहार. मौसम के बदलते तेवर के बीच दिन, दोपहर से अधिक रात में शहरवासियों को बिजली पसीना छुड़ा रही है. विभाग पर्याप्त मात्रा में बिजली आपूर्ति के बाद स्थानीय स्तर पर बिजली की संकट से शहरवासी परेशान हैं. विभागीय कर्मियों की माने तो केवल शहरी क्षेत्र में बिजली आपूर्ति 35 मेगावाट की आवश्यकता है. खपत व तय मेगावाट के अनुसार बिजली आपूर्ति के बाद भी रात में अधिक बिजली की संकट गहरा रही है. 24 घंटों में 18-20 घंटे आपूर्ति हो रही है. लेकिन रात में बिजली के अधिक लोड बढ़ जाने के कारण लोकल स्तर पर कटने की समस्या अधिक हो रही है. कर्मियों की माने तो बारसोई को छोड़ दें तो अन्य सबडिविजन कोढ़ा, मनिहारी व कटिहार के लिए 65 मेगावाट बिजली की आपूर्ति की जरूरत है. ग्रिड के पदाधिकारियों की माने तो विभाग इन दिनों बिजली की आपूर्ति पर्याप्त है. ऐसे में शहरी क्षेत्र में बिजली की अनियमित आपूर्ति शहरवासियों के लिए जी का जंजाल बना हुआ है. उपभोक्ताओं की माने तो रात के समय में अधिक बिजली खराब होने से रातजग्गा कर बिताने की मजबूरी बन जाती है. सोमवार की रात करीब बारह बजे के बाद हर घंटे पर बिजली के कटने से काफी परेशान होना पड़ा. कई क्षेत्रों के उपभोक्ताओं की माने तो अधिकांश मोहल्लों में रात के समय ही बिजली काट दी जाती है तो कई क्षेत्रों में फ्यूज व लोकल फोल्ट के कारण बिजली गुल हो जा रही है. तेजा टोला के राजकुमार साह, प्रभात नगर के यशवंत कुमार, दो नम्बर कॉलोनी के रवि सिंह, भेरिया रहिका के राजेश कुमार, संजय ठाकुर समेत अन्य उपभोक्ताओं का कहना है कि हर वर्ष जर्जर तार बदले जाते हैं. नये-नये पोल लगाये जा रहे हैं. फ्यूज मरम्मति के नाम पर मोटी रकम खर्च विभाग की ओर किया जाता है. इसके बाद भी थोड़ी सी लोड बढ़ जाने के बाद फ्यूज उड़ने व तार के टूट जाने की शिकायत पर बिजली काट दी जाती है. ऐसा रात में अधिक होने से लोग रात भर जगक बिताने को विवश हो रहे हैं.

लोकल स्तर पर खराबी से कट रही बिजली

ग्रिड से बिजली पर्याप्त मात्र में मिल रही है. करीब 60 से 65 मेगावाट बिजली की दरकार है. जो समय समय पर उपलब्ध हो रहा है. रात के समय लोड बढ़ जाने के कारण स्थानीय स्तर पर अधिक संकट हो रही है. ऐसा इसलिए कि कभी फ्यूज उड़ जाने की शिकायत आ रही है तो कभी जर्जर तार बदलने के कारण इस तरह की समस्या हो रही है. शहर में बीस से बाईस घंटे बिजली उपलब्ध करायी जा रही है. रात के समय अधिक लोड बढ़ जाने के कारण कुछ देर के लिए परेशानी होती है. शहरी क्षेत्र में 35 मेगावट आपूर्ति की जरूरत है जो समय पर उपलब्ध कराया जा रहा है.

आशीष रंजन, कार्यपालक अभियंता विद्युत

मंगलवार की सुबह आधे घंटे के लिए बंद हुई थी बिजली

ग्रिड से बिजली आपूर्ति की कमी नहीं है. जितना मेगावाट आपूर्ति की जरूरत है उतना उपलब्ध है. ग्रिड से दो सौ मेगावाट तक बिजली उपलब्ध कराया जा सकता है. फिलहाल 70 से 72 मेगावाट ट्रांसमिशन द्वारा बिजली ली जा रही है. लोकल फॉल्ट हुई होगी.

शिल्पी कुमारी, सहायक अभियंता, ग्रिड

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें