25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

मां सिंहासनी के दर्शन से निहाल हो गये भक्त, आधी रात को हुई महानिशा पूजा

चैत नवरात्र की अष्टमी के मौके पर मंगलवार को बिहार के प्रमुख शक्तिपीठ थावे मंदिर में मां सिंहासनी के दर्शन कर भक्त निहाल हो उठे. मां के जयकारे से पूरा थावे गूंजता रहा. इसी प्रकार रहषु मंदिर पर भी दर्शनार्थियों की बड़ी भीड़ रही.

थावे. चैत नवरात्र की अष्टमी के मौके पर मंगलवार को बिहार के प्रमुख शक्तिपीठ थावे मंदिर में मां सिंहासनी के दर्शन कर भक्त निहाल हो उठे. मां के जयकारे से पूरा थावे गूंजता रहा. इसी प्रकार रहषु मंदिर पर भी दर्शनार्थियों की बड़ी भीड़ रही. नेपाल, यूपी व बिहार के विभिन्न जिलों से मां के भक्त पहुंचकर मां को नारियल, चुनरी, पेड़ा चढ़ा कर अपनी कामना रखते नजर आये. इस बार नवरात्र में भक्तों को दिव्य दर्शन हो इसके लिए प्रशासन ने गर्भगृह के मुख्य गेट को खुलवा दिया है. इससे बहुत ही आसानी से मां की मनोहारी छवि के दर्शन हो रहे हैं. इतना ही नहीं, नये इंतजाम के कारण भक्तों को बहुत ही कम समय में दर्शन हो रहे हैं. घंटों कतार में रहने के बाद मंदिर में इंट्री करते ही उनको मन प्रसन्न करने वाले दर्शन हो रहे हैं. वहीं, विधि व्यवस्था बनाये रखने के लिए पुलिस बल के साथ ही स्काउट के बच्चे लगाये गये थे. शाम पांच बजे मां के शृंगार के लिए बंद हुआ उसके बाद संध्या आरती के बाद रात के 10 बजे मंदिर को बंद किया गया. मंदिर की साफ-सफाई के बाद मां का शृंगार किया गया. उसके बाद आधी रात को मंदिर के मुख्य पुजारी पं संजय पांडेय, पं मुकेश पांडेय ने महानिशा पूजा करायी. महानिशा पूजा में पं हरेंद्र पांडेय, शिवाकांत पांडेय, गोपाल पांडेय, पं राजन पांडेय समेत प्रमुख पंडा व पुजारियों के द्वारा मां का विधिवत पूजन कराया गया. उसके बाद हथुआ राज की ओर से पहली बलि दी गयी. बलि के बाद आम लोगों के द्वारा बलि देने का सिलसिला शुरू हो गया. वहीं रात के 12:30 बजे मंदिर का पट भक्तों के लिए खोल दिया गया. उसके साथ ही मंदिर परिसर में हवन का कार्य भी शुरू हो गया. मां को महाभोग चढ़ाने के बाद मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के बीच प्रसाद का वितरण डीटीओ उपेंद्र पाल और एसडीओ सदर डॉ प्रदीप कुमार के द्वारा किया गया. मां का महाभोग के लिए पुड़ी, सब्जी, खिचड़ी, बूंदी, फल व मिठाई का इंतजाम समिति द्वारा किया गया था. इस दौरान सीजेएम मानवेंद्र मिश्र, डीएम मो मकसूद आलम, एसडीपीओ प्रांजल, डॉ शशि शेखर सिंह, डॉ प्रवीण त्रिपाठी, थानाध्यक्ष धीरज कुमार राम, सीओ रवि भूषण गौरव, न्यास समिति सदस्य अमरेंद्र दूबे व जिले के पदाधिकारी सहित स्काउट के रवि कुमार सिंह आदि पुलिस बल मौजूद थे. मां के दरबार में आने वाले सभी भक्त खास से आम बनकर दर्शन करते दिखे. मंदिर परिसर पर जगह-जगह बैठ साधक पूजा-पाठ कर दर्शन-पूजन में लीन रहे. दर्शन के बाद कलाई पर रक्षा सूत बंधवाने व मां को सिंदूर चढ़ाने की परंपरा को महिला दर्शनार्थियों ने निभाया. उधर, मंदिर के मुख्य पुजारी पं संजय पांडेय ने बताया कि आज मां महागौरी के स्वरूप की भक्तों ने पूजा की. मां के दर्शन व पूजन से भक्तों के सभी संकट दूर होते हैं. क्लेश मिट जाता है. घर धन-धान्य से परिपूर्ण हो जाता है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें