निरीक्षण में सात शिक्षक मिले अनुपस्थित, काटी गयी हाजिरी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

चौसा : एसडीएम केके उपाध्याय बुधवार को जल,जीवन व हरियाली प्रोग्राम के तहत प्लस टू हाइस्कूल चौसा पहुंचे. इस दौरान स्कूल खुलने के समय काफी कम संख्या में बच्चों की उपस्थिति देख प्रभारी हेडमास्टर के साथ शिक्षकों को कड़ी फटकार लगायी. एसडीएम द्वारा हेडमास्टर विष्णुदत्त पांडेय से जब शिक्षकों की उपस्थिति पंजी मांगी गयी तो कुल 16 शिक्षकों में सात अनुपस्थित थे.

अनुपस्थित पाये गये शिक्षक अनीता देवी, खदीजा बानो, विजय कुमार, वीरेंद्र कुमार, लियाकत अली, प्राची कुमारी, सावित्री कुमारी व चपरासी कमलदेव कुमार का हाजिरी काटते हुए अनुपस्थित सभी शिक्षकों से स्पष्टीकरण की मांग की गयी है. जांच के दौरान वर्ग 9वीं से 12वीं तक के इस स्कूल में मात्र 14 बच्चों की उपस्थिति देख एसडीएम काफी नाराज दिखे और बच्चों की उपस्थिति की इतनी कम संख्या पर प्रधानाध्यापक व शिक्षकों को फटकार लगाते हुए कहा कि शिक्षा को मजाक मत बनाइये, शिक्षकों के आने जाने का समय निर्धारित है.
आपकी मनमर्जी नहीं चलेगा. इसके बाद छात्र- छात्राओं को उन्होंने जल-जीवन व हरियाली प्रोग्राम को लेकर विस्तार से चर्चा किया और 19 जनवरी को बनायी जाने वाली मानव शृंखला में बच्चों की भागीदारी के साथ उन्हें अपने परिजनों को भी भाग लेने को उत्प्रेरित करने को कहा.
शिक्षक-शिक्षिकाओं की कम उपस्थिति पर जतायी नाराजगी
डुमरांव. एसडीओ हरेंद्र राम बुधवार को प्लस टू राज हाइस्कूल में औचक निरीक्षण करने पहुंचे. इस दौरान विद्यालय में नामांकित छात्र-छात्राओं और शिक्षक-शिक्षिकाओं की कम उपस्थिति पर नाराजगी प्रकट की. एसडीओ ने अनुपस्थित शिक्षकों से शोकॉज पूछने का निर्देश एचएम को दी. वही स्कूल में बच्चों की उपस्थिति कम देखकर एसडीओ ने एचएच को निर्देश जारी किया कि जो बच्चे स्कूल नहीं आते हैं,
उनके अभिभावक को नोटिस करें. वहीं एचएम कार्यालय में एसडीओ ने सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं से स्कूल में बच्चों की उपस्थिति कैसे सुधरे. इस पहल कर उपस्थिति में सुधार करने की बात कही गयी. एसडीओ ने चिंता जाहिर किया कि पिछले दिनों इतनी बड़ी कार्रवाई के बाद स्कूल की व्यवस्था में सुधार न होना अपने आप में सवाल है. नामांकित बच्चों की संख्या नौवीं में लगभग 600, 11वीं में 400 और 12 वीं में 300 है.
लेकिन बुधवार को छात्र-छात्राओं की उपस्थिति प्रार्थना होने तक सौ से अधिक नहीं पहुंची. प्रार्थना के समय उपस्थित सभी बच्चों को सख्त निर्देश देते हुए कहा गया कि समय पर व नियमित स्कूल आये. बता दें कि स्कूल में व्याप्त कुव्यवस्था को लेकर गत दिनों डीइओ ने निरीक्षण किया था, जिसमें उनके साथ दुर्व्यवहार किया गया था. इस कारण इस मामले में एक दर्जन शिक्षकों समेत कर्मियों पर निलंबन की गाज गिर चुकी है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें