29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

बिजली आवंटन में 50 मेगावाट की कटौती, अंधेरे में भागलपुर

बिजली कट ने लोगों की नींद हराम कर दी है. विभाग की ओर से शाम के बाद बिजली आपूर्ति में 50 मेगावाट की कटौती कर दी गयी. जिससे स्थिति और गंभीर हो गयी है.

50 MW cut in power allocation, Bhagalpur in darkness बिजली कट ने लोगों की नींद हराम कर दी है. विभाग की ओर से शाम के बाद बिजली आपूर्ति में 50 मेगावाट की कटौती कर दी गयी. जिससे स्थिति और गंभीर हो गयी है. भागलपुर. चुनाव निबटने के साथ हर दिन बिजली आपूर्ति बेपटरी हो जा रही है. मेंटेनेंस को लेकर शट-डाउन तो कभी फाॅल्ट आने से बिजली गुल हो रही है. चुनाव के बाद से आवंटन में कमी कर दी जा रही है. इससे लोगों की रात की नींद उड़ जा रही है. सोमवार को भी शहर के हिस्से की बिजली आवंटन में भारी कटौती कर दी गयी. यह कटौती तब की गयी. शाम 7.07 बजे ही 50 मेगावाट बिजली आवंटन में कटौती कर दी गयी. इस वजह से 90 मेगावाट की जगह सिर्फ 40 मेगावाट बिजली मिलने लगी. इसका सीधा असर शहरी क्षेत्र की आपूर्ति पर पड़ा. शहर के अलग-अलग हिस्सों में बारी-बारी बिजली की आपूर्ति हुई. प्रत्येक उपकेंद्र की सप्लाई में 10 मेगावाट की हुई कटौती आवंटन कम कर देने से हरेक पावर सब स्टेशनों की सप्लाई में पांच से 10 मेगावाट तक की कटौती की गयी. ऐसे में पावर सब स्टेशन चालू तो रहे लेकिन, उसके सभी फीडरों से एक जैसी आपूर्ति नहीं हो सकी. एक फीडर चालू रहा, तो दूसरा बंद. राेटेशन पर फीडरों से होने वाली आपूर्ति से लोगों की नींद उड़ी रही. आवंटन में कमी से रोटेशन पर रहे फीडर आवंटन में कमी के कारण तिलकामांझी, जीरो माइल, मायागंज, आदमपुर, भीखनपुर, नयाबाजार, खलीफाबाग, घंटाघर, बरहपुरा, बरारी, जेल, त्रिमूर्ति सहित अन्य फीडर रोटेशन पर रहे. यानी, जिस उपकेंद्रों को शहर में सप्लाई करने के लिए बिजली दी गयी, उसकी आपूर्ति के लिए फीडरों को बारी-बारी से चलाना पड़ा. एक-एक घंटे पर कटौती कटौती की वजह एक घंटे पर एक घंटे के लिए बिजली मिली. जिस वजह से शहर के हर हिस्से के लोग प्रभावित रहे. इसका परिणाम यह रहा कि फीडर ट्रिप करता रहा. ट्रिपिंग की वजह से ट्रांसफॉर्मर का फेज उड़ने की भी शिकायत होती रही. खरमनचक, मिरजानहाट, सिकंदरपुर, जीरोमाइल, खलीफाबाग, उर्दू बाजार से फेज उड़ने पर शिकायत की गयी लेकिन, बनाने के लिए लाइनमैन समय से नहीं पहुंचे. फेज उड़ने व जंपर कट से भी हुई परेशानी आवंटन में कमी आने से पहले यानी, दिन में लोगों को चैन नहीं मिला. कुतुबगंज में शाम के 4 बजे 11 हजार वोल्ट के जंपर कट जाने से इलाके में एक घंटा से अधिक कई घरों में बिजली नहीं मिली. सुबह में नयाबाजार के पास बिजली खंभे गिर गए. नयाबाजार फीडर के जेई ने बताया कि जो पोल गिरे हैं उस पर अभी बिजली आपूर्ति चालू नहीं थी. सिर्फ केबल लगाया गया है. रात में दूसरा बिजली का खंभा लगाया जायेगा. मारवाड़ी पाठशाला के पास सुबह 11 बजे फेज उड़ने से एक घंटा लोगों को बिजली नहीं मिली. बमकाली बूढ़ानाथ के पास दिन के 11.30 बजे से बिजली के उतार-चढ़ाव से लोगों को परेशानी हुई. हसनगंज स्कूल के पास भी सुबह 7 बजे से लेकर सुबह 10 बजे तक वोल्टेज के उतार चढ़ाव से लोगों के मोटर नहीं चलने से लोगों के बीच पानी की संकट रही. सूर्यलोक कॉलोनी में सुबह 9.30 बजे, मोहद्दीनगर में सुबह 7 बजे फेज उड़ने से उपभोक्ताओं को परेशानी हुई. पटल बाबू फीडर से से जुड़े इलाकों में दोपहर में एक घंटा बिजली कटी रही. लेकिन, उसके बाद बिजली की ट्रिपिंग ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी. हर दस मिनट में बिजली की ट्रिपिंग होती रही.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें