प्रेमी संग मिल कर बेटी ने पिता को मार डाला, फिर शव की पहचान मिटाने को चेहरे पर डाल दिया था तेजाब

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

बेगूसराय : बिहार के बेगूसराय में साहेबपुरकमाल थाना क्षेत्र के तरबन्ना हाइस्कूल के समीप सड़क किनारे गड्ढे में भूसा से ढंका क्षत विक्षत-अज्ञात शव बरामद होने के एक सप्ताह के अंदर पुलिस ने न सिर्फ शव की पहचान कर ली है बल्कि इस मामले में मृतक की विवाहिता पुत्री सहित तीन हत्यारे को भी गिरफ्तार कर पूरे मामले का खुलासा कर लिया है.

शनिवार को थाना परिसर में पूरे मामले की जानकारी देते हुए बलिया डीएसपी सह एएसपी अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि मृत व्यक्ति की पहचान खगड़िया जिले के मानसी थाना क्षेत्र अंतर्गत अरैया गांव के 48 वर्षीय राजपति पासवान के रूप में हुई है. जबकि उसकी हत्या पुत्री सीमा देवी एवं उसका आशिक बबजन पासवान, सुशील पासवान और एक अन्य अज्ञात ने मिलकर किया है.

10 वर्ष पूर्व हुई थी सीमा की शादी
उन्होंने बताया कि राजपति पासवान की पुत्री सीमा कुमारी की शादी 10 वर्ष पूर्व पंचवीर निवासी राजधानी पासवान के साथ हुई थी. सीमा को चार बच्चे भी हैं. सीमा का पति लुधियाना में रहकर मजदूरी करता है. घर में अपने बच्चों के साथ अकेले रह रही सीमा का अवैध संबंध पड़ोस के ही दिलीप पासवान का पुत्र बबजन पासवान के साथ हो गया. अबैध संबंध के कारण बबजन पासवान का उसके घर बराबर आना जाना होता था. इसी बीच सीमा देवी का पिता राजपति पासवान भी गांव छोड़कर बेटी के यहां रहने लगा. करीब डेढ़ माह से वह पंचवीर में ही रह रहा था.

इस वजह से बनायी हत्या करने की योजना

राजपति पासवान ने एक दिन पुत्री के घर में बबजन पासवान को आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया और बबजन को ब्लैक मेल करने लगा. ब्लैक मेल से आजिज होकर और उसके रहते बबजन को सीमा से मिलने जुलने में भी बाधा होने के कारण बबजन ने सीमा देवी से मिलकर राजपति की हत्या करने की योजना बनायी.

साजिश के तहत राजपति पासवान को घटनास्थल पर बुलवाया औरफिर...
16 जुलाई कि रात बबजन ने वुद्धन पासवान के पुत्र सुशील पासवान की सहायता से साजिश के तहत राजपति पासवान को घटना स्थल पर बुलवाया. बबजन पासवान और सुशील पासवान ने मिलकर राजपति पासवान के मुंह में कपड़ा ठूंस कर पहले उसकी बेरहमी से पिटाई की और बाद में प्लास्टिक पाइप से गले में फंदा लगाकर उसकी हत्या कर दी .हत्या के बाद एक अन्य अज्ञात सहयोगी की सहायता से उसने एसिड मंगवाकर उसके पूरे शरीर पर डाल दिया. शव की पहचान को मिटाने के लिए उसके हाथ पर लिखे नाम और मोबाइल नंबर पर भी तेजाब डाल दिया था. जिससे उसकी पहचान मुश्किल हो गयी थी. हत्यारे ने शव को सड़क किनारे गड्ढे में डालकर ऊपर से भूसा डाल दिया और फरार हो गया.

... तो पूरे मामले का खुलासा हो गया
घटना के दो दिन बाद घटनास्थल के समीप के ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस ने जब शव को बरामद कर पहचान करवाने की कोशिश की. इसी क्रम में उसकी पुत्री सीमा देवी और पुत्र को भी शव की शिनाख्त के लिए बुलाया गया. परंतु दोनों ने पहचान से इन्कार कर दिया. अंत में पुलिस द्वारा ही शव का दाह संस्कार किया गया. डीएसपी ने बताया कि अनुसंधान के क्रम में सीमा देवी उसके आशिक बबजन पासवान और सुशील पासवान को हिरासत में लेकर जब पूछताछ की गयी तो पूरे मामले का खुलासा हो गया. मौके पर थाना प्रभारी सुदीन राम, एएसआई अरविंद शुक्ला भी मौजूद थे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें