24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन को लेकर स्वास्थ्य संस्थानों का हो रहा पंजीकरण

लोगों तक इसकी आसान पहुंच कार्यक्रम का उद्देश्य

स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी व लोगों तक इसकी आसान पहुंच है कार्यक्रम का उद्देश्य

पंजीकृत होंगे स्वास्थ्य संस्थान व चिकित्सा कर्मी, आम नागरिकों का बनेगा डिजिटल हेल्थ कार्ड

प्रतिनिधि, अररिया

जिले में आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन योजना के सफल क्रियान्वयन को लेकर जरूरी पहल की जा रही है. योजना का मुख्य उद्देश्य जिले में उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं का डिजिटलाइजेशन किया जाना है. इसके तहत जिले के सभी स्वास्थ्य संस्थान जैसे सदर अस्पताल, अनुमंडल अस्पताल, रेफरल अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र , प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, उप स्वास्थ्य केंद्र व हेल्थ फैसिलिटी के पंजीकरण का कार्य संचालित है. स्वास्थ्य संस्थानों के रजिस्ट्रेशन के लिए सिविल सर्जन को नोडल व जिला अनुश्रवण व मूल्यांकन पदाधिकारी को वेरिफायर नामित किया गया है. आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के तहत सभी हेल्थ प्रोफेशनल व हेल्थ फैसिलिटी का पंजीकरण किया जाना है. इससे सभी पेशेवर चिकित्सा कर्मी व स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचे तक आधुनिक तकनीक की मदद से आसान पहुंच सुनिश्चित करायी जा सकेगी. इतना ही नहीं इसके माध्यम से आम लोगों को डिजिटल हेल्थ आइडी जारी किया जायेगा. इसमें लोगों के स्वास्थ्य संबंधी जानकारी डिजिटलीकरण संरक्षित रहेगा. इससे देश में कहीं भी लोगों को सहजता पूर्वक अपने इलाज की सुविधा उपलब्ध होगी.

हेल्थ फैसिलिटी का पंजीकरण एक जुलाई तक कराने का आदेश

सिविल सर्जन डॉ विधानचंद्र सिंह ने बताया कि आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के सफल क्रियान्वयन को जिले के सभी हेल्थ फैसिलिटी का पंजीकरण किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत लोगों को डिजिटल हेल्थ कार्ड बनाया जाना है. कार्ड में किसी व्यक्ति के पूरी मेडिकल हिस्ट्री दर्ज होगी. चिकित्सकीय परामर्श, जांच संबंधी रिपोर्ट सहित अन्य जानकारी इस कार्ड में दर्ज होगी. लोगों को इलाज के लिए चिकित्सीय परचा, जांच रिपोर्ट सहित अन्य कागजात लेकर कहीं जाने की जरूरत नहीं होगी. कार्ड में दर्ज 14 अंकों के यूनिक आइडी के माध्यम से चिकित्सक रोगी से संबंधित पूरी डिटेल देख सकेंगे. मरीज घर बैठे देश के किसी भी डॉक्टर से जरूरी चिकित्सकीय परामर्श प्राप्त कर सकेंगे.

बेहतर होंगी स्वास्थ सेवाएं, आसान होगी लोगों तक पहुंच

जिले में आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के सफल क्रियान्वयन को लेकर स्वास्थ्य विभाग की सहयोगी संस्था पिरामल फाउंडेशन जरूरी तकनीकी मदद उपलब्ध करा रही है. पिरामल स्वास्थ्य के डीटीएल संजय कुमार झा ने बताया कि डिजिटल माध्यम से स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी व जरूरी सेवाओं तक लोगों की आसान पहुंच सुनिश्चित कराना योजना का मुख्य उद्देश्य है. हेल्थ कार्ड बनाने के लिए नेशनल हेल्थ मिशन की वेबसाइट पर जाकर अपने आधार के माध्यम से कोई भी व्यक्ति आसानी से अपना डिजिटल हेल्थ कार्ड बना सकते हैं.

-कुर्साकांटा व भरगामा को छोड़ शेष संस्थानों का हो चुका है पंजीकरण

सदर अस्पताल सहित जिले के सभी 269 फैसिलिटी का पंजीकरण हो चुका है. मार्च महीने तक कुल 81 चिकित्सक कुल 761 एएनएम व जीएनएम का पंजीकरण हो चुका है. सभी 10 प्रखंड स्तरीय चिकित्सा संस्थानों का एबीडीएम एडोपसन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है. इतना ही नहीं प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत जिले के चिह्नित लायंस नेत्रालय, मोहिनी देवी मेमोरियल हॉस्पिटल योगमाया हॉस्पिटल का पंजीकरण आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन योजना के तहत हो चुका है. हेल्थ प्रोफेशनल के पंजीकरण की प्रक्रिया जल्द पूरा हो जायेगा. उन्होंने बताया कि जल्द ही जिले के सभी निजी क्लिनिक, प्राइवेट हॉस्पिटल सहित सभी फार्मेसी लैब के पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू की जायेगी.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें