बिहार : सेना ने सांप के जहर के साथ तीन तस्करों को किया गिरफ्तार, कीमत जान के दंग रह जाएंगे आप...

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
अररिया : नेपाल सीमा पर सेना के जवानों को बड़ी सफलता मिली है. एसएसबी 52वीं बटालियन के जवानों ने अररिया के नेपाल सीमा पर तस्करी के लिए लेकर जा रहे करोडों रुपये मूल्य के कोबरा वेनम ( सांप के विष) के साथ तीन तस्करों को गिरफ्तार किया है. एसएसबी के विशिष्ट जांच दल ने बाइक पर सवार तीन तस्करों के पास से सांप के विष से भरा दो जार जब्त किया है.
एसएसबी 52 वीं बटालियन के अररिया के कमांडेंट बीके वर्मा ने गुरुवार को अररिया मुख्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में इस बारे में जानकारी दी. उन्होंने बताया कि एसएसबी के जवानों में पीरगंज घाट पुल के समीप संदेह के आधार पर एक बाइक पर सवार तीन लोगों को रोककर जांच की. इस दौरान उनके पास से दो जार में सांप के जहर पाये गये. जार पर मेड इन फ्रांस लिखा था.
सहायक कमांडेंट अजय बहादुर सिंह ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि कुछ लोग सांप के जहर की तस्करी कर रहे हैं. सांप का जहर लेकर भारतीय सीमा में प्रवेश कर रहे हैं. सूचना के आलोक में बीओपी को अलर्ट किया गया था. पकड़े गये तस्करों में नरेश यादव पिता सरफलाल यादव, जितन यादव पिता गोसाई यादव और फुलकाहा के नरेश यादव पिता फटकन यादव को गिरफ्तार किया गया.हालांकि जब्त सांप के जहर की कीमत कितनी है, यह नहीं बताया गया. लेकिन अंतराष्ट्रीय बाजार में इसकी अनुमानित कीमत 25 करोड़ रुपये आंकी गयी है.
माना जाता है कि भारत में सांप की 1500 से ज्यादा प्रजातियां पायी जाती हैं. इन प्रजातियों में से कुछ सांपों के जहर इतने खतरनाक होते हैं जो लोगों को डसने या फूंक देने के बाद भी मौत का मातम मनवा देते हैं. एक बात ओर भी जो दिलचस्प रही है कि जो चीज जितनी खतरनाक होती है लोग उसे पाने की लालशा उतनी ज्यादा करते हैं. नतीजा आज सांप का यह जहर काला कारोबार बनता जा रहा है. इस काले कारोबार के डीमांड के कारण अब सीमांचल में भी तस्करी की आहट ने लोगों को भौचक्का कर दिया है. जिसके लिए निर्दोष सांपों की बली दी जा रही है.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें