#INDvsBAN, ऐतिहासिक डे-नाइट टेस्ट में भारत की बड़ी जीत, बांग्लादेश का 2-0 से किया सूपड़ा साफ

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
कोलकाताः भारत और बांग्लादेश के बीच कोलकाता के ईडन गार्डन्स स्टेडियम में आयोजित ऐतिहासिक डे-नाइट टेस्ट मैचको तीसरे दिन हीभारत ने पारी और 46 रन से जीता.इसी के साथ भारत ने बांग्लादेश का 2-0 से किया सूपड़ा साफ कर दिया.
भारत ने गुलाबी गेंद से मिलने वाली चुनौतियों पर खरा उतरते हुए पहले दिन-रात्रि टेस्ट में बांग्लादेश को पारी और 46 रन से हराकर घरेलू सरजमीं पर लगातार 12वीं श्रृंखला जीती. इस जीत के साथ उसने टेस्ट चैंपियनशिप में अपना अजेय रिकॉर्ड कायम रखा. तीसरे दिन पेसर उमेश यादव ने 4 विकेट झटके और महमूदुल्लाह रिटायर्ड हर्ट होने के चलते मैदान पर नहीं लौटे. इस तरह बांग्लादेश की दूसरी पारी 41.1 ओवर में 195 रन पर सिमट गई.
बांग्लादेश ने तीसरे दिन दूसरी पारी छह विकेट पर 152 रन से शुरू की और तब वह 89 रन से पिछड़ रही थी. इससे घरेलू टीम के लिये जीतने की औपचारिकता पूरी करना बस समय की बात थी. कप्तान विराट कोहली की टीम ने यह काम 50 मिनट से भी कम समय में पूरा कर लिया जिससे उन्होंने पारी की लगातार चौथी जीत अपने नाम की और वह ऐसा करने वाली पहली टीम बन गयी. मुशफिकुर रहीम (74) को छोड़कर बांग्लादेश के बल्लेबाज एक बार फिर भारत के बेहतरीन तेज गेंदबाजी आक्रमण का सामना नहीं कर सके और पूरी टीम 41.1 ओवर में 195 रन पर सिमट गयी. बांग्लादेश अपनी पहली पारी में पहले दिन टीम 106 रन पर सिमट गयी थी.
भारत ने बांग्लादेश की पहली पारी 106 रन पर समेटने के बाद दूसरे दिन 9 विकेट पर 347 रन बनाकर अपनी पहली पारी घोषित की थी. मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ द सीरीज इशांत शर्मा ने इस डे-नाइट टेस्ट में कुल 9 विकेट अपने नाम किए. भारतीय टीम की सफलता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि ऐसा क्रिकेट इतिहास में पहली बार है जब लगातार 4 टेस्ट मैच किसी टीम ने पारी से जीते.
इससे पहले सीरीज का पहला टेस्ट मैच इंदौर में भारत ने पारी और 130 रन से जीता था.भारत ने इंदौर में पहला टेस्ट पारी और 130 रन से जीता था. रविवार को दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश की टीम ने 195 रन पर ऑलआउट हो गई.
भारत ने अपनी पहली पारी में 347 रन बनाए थे. बांग्लादेशी बल्लेबाज दूसरी पारी में भी तेज गेंदबाजों के नतमस्तक हो गए. पहली पारी में तीन विकेट लेने वाले उमेश यादव ने दूसरी पारी में पांच विकेट झटके जबकि इशांत शर्मा को चार विकेट मिले. बांग्लादेश का एक बल्लेबाज चोट लगने के कारण बल्लेबाजी को नहीं उतरा.
इशांत शर्मा को मैन ऑफ दी मैच के साथ ही मैन ऑफ दी सीरीज के खिताब से नवाजा गया. इशांत ने इस मैच में नौ और पहले टेस्ट मैच में तीन विकेट झटके
बने कई रिकार्ड
गुलाबी गेंद के इस एतिहासिक टेस्ट के लिये ईडन गार्डन्स बेहतरीन मेजबान रहा जिसमें तीनों दिन स्टेडियम खचाखच भरा रहा. इससे उस समय की याद ताजा हो आयी जब टेस्ट क्रिकेट काफी लोकप्रिय हुआ करता था लेकिन मैदान पर प्रतिस्पर्धा की कमी इस मैच को लेकर चल रही हाइप के जरा भी करीब नहीं पहुंच सकी. एसजी गुलाबी गेंद का बड़े मैच में इस्तेमाल करने से पहले प्रतिस्पर्धी मैच में परीक्षण नहीं किया गया और उम्मीदों के अनुरूप इसने भारत के खतरनाक तेज गेंदबाजी आक्रमण की मदद की जिन्होंने सभी विकेट हासिल किये.
उनकी खतरनाक फार्म का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि बांगलदेश के तीन बल्लेबाजों को सिर में गेंद लगने से स्थानापन्न खिलाड़ियों को उतारना पड़ा. इशांत शर्मा ने पहली पारी में पांच विकेट चटकाये थे और उमेश यादव ने दूसरी पारी में ऐसा किया. मैच को विराट कोहली के 27वें टेस्ट शतक के लिये भी याद रखा जायेगा जिससे उनके अंतरराष्ट्रीय शतकों की संख्या 70 पहुंच गयी है.
बता दें कि टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश की टीम अपनी पहली पारी में 106 रनों पर ऑलआउट हो गई. जवाब में टीम इंडिया ने 347 रन बनाकर पहली पारी घोषित कर दी. पहली पारी के आधार पर भारत को 241 रनों की बढ़त मिली. दूसरी पारी में बांग्लादेश 195 रन पर ऑल आउट हो गई. मुश्फिकुर रहीम ने 74 रन की पारी खेली.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें