26.5 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Vaishakh Month 2024 Start: वैशाख मास में अक्षत तृतीया, मोहिनी एकादशी कब है? देखें व्रत-त्योहारों की लिस्ट

Vaishakh Month 2024 Start: वैशाख महीने में गर्मी तीव्र होती है. ऐसे में तेल से तली भुनी चीजों को खाना स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं रहता है. इस दौरान समस्ता देवी-देवता भी जल में निवास करते हैं.

Vaishakh Month 2024 Start: हिंदू नववर्ष के पहला महीना चैत्र मास का समापन हो गया. अब हिंदू कैलेंडर का दूसरा महीना वैशाख की शुरुआत हो गई. वैशाख मास भगवान विष्णु को समर्पित है. इस महीने में भगवान विष्णु की पूजा करना काफी शुभ होता है, इसके अलावा देवी और परशुराम की पूजा करना चाहिए. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यह महिना 27 नक्षत्रों में से एक विशाखा नक्षत्र से संबंधित है. विशाखा नक्षत्र से संबंधित होने के कारण इस महीने को वैशाख मास के नाम से जाना जाता हैं.

वैशाख मास 2024 कब से शुरू हो रहा है ?

पंचांग के अनुसार, चैत्र मास पूर्णिमा के अगले दिन यानी 24 अप्रैल से वैशाख माह आरंभ हो जाएगा, जो वैशाख पूर्णिमा 23 मई को समाप्त होगा. इस महीने में आध्यात्म, जनसेवा, संयम, अहिंसा और स्वाधाय करने से कभी नहीं खत्म होने वाला पुण्य मिलता है. स्कंद पुराण में वैशाख मास को पुण्यार्जन मास की संज्ञा देते हुए ‘माधव मास’ कहा गया है, जो कृष्ण का ही एक नाम है. इस महीने में स्नान-दान करने से कई प्रकार के कष्टों से मुक्ति मिलती है.

वैशाख मास में धार्मिक महत्व क्या है?

वैशाख महीने में गर्मी तीव्र होती है. ऐसे में तेल से तली भुनी चीजों को खाना स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं रहता है. इस दौरान समस्ता देवी-देवता भी जल में निवास करते हैं. ऐसे में वैशाख माह में जो प्याऊ लगवाता है, वह देवता, ऋषि एवं पितरों सबको तृप्त करता है. धार्मिक मान्यता है कि इस माह में किसी एक भी व्यक्ति को जल पिला दें तो वह ब्रह्मा, विष्णु एवं शिव को भी प्रसन्न करने वाला होता है. इससे कुंडली में सूर्य, गुरु मजबूत होते हैं और सुख-समृद्धि, धन का कभी अभाव नहीं रहता है.

वैशाख मास में क्या-क्या दान करना चाहिए?

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, वैशाख मास में जल पात्र, कपड़े, आम, जलदान, सत्तू, पादुका, हवा के लिए पंखे, छाया व्यवस्था, अन्न और फल आदि का दान जरूर करना चाहिए. इन चीजों का दान करना बेहद कल्याणकारी माना जाता है. ऐसा करने से जीवन में खुशहाली आती है और अक्षय फलों की प्राप्ति होती है.

Also Read: वैशाख मास में भूलकर भी न करें ये गलतियां, वरना हो जाएंगे कंगाल

वैशाख महीने का कैलेंडर 2024

24 अप्रैल 2024 दिन बुधवार से वैशाख मास शुरू
27 अप्रैल 2024 दिन शनिवार को विकट संकष्टी चतुर्थी
2 मई 2024 दिन गुरुवार से पंचक शुरू
4 मई 2024 दिन शनिवार को वरुथिनी एकादशी, वल्लभाचार्य जयंती
5 मई 2024 दिन रविवार को प्रदोष व्रत (कृष्ण)
6 मई 2024 दिन सोमवार को मासिक शिवरात्रि
8 मई 2024 दिन मंगलवार को वैशाख अमावस्या, टैगोर जयंती
10 मई 2024 दिन बुधवार को अक्षय तृतीया, परशुराम जयंती
11 मई 2024 दिन गुरुवार को विनायक चतुर्थी
12 मई 2024 दिन शुक्रवार को शंकराचार्य जयंती, रामानुज जयंती
14 मई 2024 दिन मंगलवार को वृष संक्रांति, गंगा सप्तमी
15 मई 2024 दिन बुधवार को बगलामुखी जयंती
17 मई 2024 दिन शुक्रवार को सीता नवमी
19 मई 2024 दिन रविवार को मोहिनी एकादशी
20 मई 2024 दिन सोमवार को प्रदोष व्रत (शुक्ल)
22 मई 2024 दिन बुधवार को नरसिंह जयंती, छिन्नमस्ता जयंती
23 मई 2024 दिन गुरुवार को वैशाख पूर्णिमा व्रत, बुद्ध पूर्णिमा

ज्योतिष संबंधित चुनिंदा सवालों के जवाब प्रकाशित किए जाएंगे
यदि आपकी कोई ज्योतिषीय, आध्यात्मिक या गूढ़ जिज्ञासा हो, तो अपनी जन्म तिथि, जन्म समय व जन्म स्थान के साथ कम शब्दों में अपना प्रश्न radheshyam.kushwaha@prabhatkhabar.in या WhatsApp No- 8109683217 पर भेजें. सब्जेक्ट लाइन में ‘प्रभात खबर डिजीटल’ जरूर लिखें. चुनिंदा सवालों के जवाब प्रभात खबर डिजीटल के धर्म सेक्शन में प्रकाशित किये जाएंगे.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें