1. home Hindi News
  2. religion
  3. chaitra navtratri 2020 know about kalash sthapana vidhi and puja samagri in detail

नवरात्रि प्रारंभ: कैसे करें कलश स्थापना,जानिए पूजा विधि और जरूरी पूजन सामग्री

By ThakurShaktilochan Sandilya
Updated Date

नवरात्र में माता की पूजा 9 दिनों तक की जाती है. पहली पूजा के दिन ही कलश स्थापना की जाती है. उसे ही घट स्थापना भी कहा जाता है. आज 25 मार्च बुधवार को शुभ मुहूर्त में कलश स्थापना की जाएगी.जानते हैं कलश स्थापना की विधि और पूजन सामग्री के बारे में...

कलश स्थापना विधि-

-कलश स्थापना / घट स्थापना के लिए पहली पूजा के दिन घर के एक व्यक्ति को या पंडित के द्वारा नदी से रेत मंगवाना चाहिए.

-रेत को पूजा स्थल पर गंगाजल छिड़ककर वहां रखना चाहिए.

- रेत के उपर जौ को स्थान देना चाहिए

- माता की मूर्ति को स्थान देना चाहिए

-संकल्प करके पहले गणपति व माता को स्मरण करना चाहिए.

-कलश स्थापना के लिए तांबे या मिट्टी का पात्र ही शुभ माना गया है.

-पूजन के लिए लाए कलश में गंगाजल डाल लें

-कलश में पान, सुपारी, अक्षत, हल्दी ,चंदन,रुपया, पुष्प,आम के हरे पत्ते, दूब, पंचामूल, पंचगव्य आदि डालकर कलश के मुंह को मौली धागे से बांधना चाहिए.

-कलश स्थापना के समय 7 तरह के अनाजों के साथ कलश को रेत पर स्थापित करें

-कलश की जगह पर नौ दिनों तक अखंड दीप जलता रहना चाहिए.

-विधिपूर्वक मां भगवती का पूजन करें तथा दुर्गा सप्तशती का पाठ करके कुमारी पूजन कराना चाहिए.

कलश स्थापना में जरूरी सामग्री -

माता की एक मूर्ति,लाल या पीला कपड़ा, माता की लाल चुनरी, कलश, आम के पत्ते, फूल माला, एक जटा वाला नारियल, पान के पत्ते,सुपारी, इलायची, लौंग,रोली,गाय का दूध,गाय का गोबर,रुपया -सिक्का ,सिंदूर,मौली (कलावा), चावल,ताजे फल, फूल माला,बेलपत्र, कपूर, घी,रुई की बत्ती, हवन सामग्री,पांच मेवा,जवारे बोने के लिए मिट्टी का बर्तन,माता के शृंगार की सामग्री इत्यादि...

कलश स्थापना के समय इन बातों का रखें ख्याल-

-कलश की स्थापित शुभ मुहूर्त में ही करें

-कलश का मुंह कभी भी खुला न रहे इसका खास ध्यान रखें

-कलश को जिस बर्तन से ढक रहे हों उस बर्तन को कभी भी खाली नहीं छोड़े , उस बर्तन को चावलों से भर दें.

-चावल के बीच में एक नारियल जरूर रखें.

-देवी को लाल फूल बहुत पसंद हैं, इसलिए उन्हे लाल फूल जरूर चढ़ाएं.

-प्रत्येक दिन मां दुर्गा सप्तशती का पाठ अवश्य करना चाहिए.

Prabhatkhabar.com की तरफ से आप सबों को हिंदू नूतन वर्ष व चैत्र नवरात्र की अनेकों शुभकामनाएं. इस नवरात्र व नव वर्ष में हम आपके बेहतर सेहत की कामना करते हैं और देश के लिए चुनौती बने कोरोना संक्रमण से बचे रहने के लिए अपने - अपने घरों में ही सुरक्षित रहने का निवेदन करते हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें