पोलिश उपन्यासकार ओल्गा टोकारजुक को उनकी रचना ‘फ्लाइट्‌स’ के लिए मिला बुकर पुरस्कार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पोलिश उपन्यासकार ओल्गा टोकारजुक को उनके उपन्यास ‘फ्लाइट्‌स’के लिए इस वर्ष का बुकर पुरस्कार दिया गया है. यह उपन्यास समय, अंतरिक्ष और मानव शरीर रचना पर आधारित है. ओल्गा की उपन्यास का अंग्रेजी में अनुवाद जैनिफर क्रॉफ्ट ने किया है.

बुकर प्राइज की दौड़ में ‘फ्लाइट्‌स’ ने पांच अन्य रचनाओं को कड़ी टक्कर अपने लिए जगह बनायी. ‘फ्लाइट्‌स’ का कड़ा मुकाबला इराकी लेखक अहमद सादावी की रचना ‘फ्रेंकइस्टिन इन बगदाद’ और दक्षिण कोरिया के लेखक हैन कैंग्स की किताब ‘द व्हाइट बुक’ से था.

टोकारजुक के उपन्यास में 17वीं शताब्दी की रचनात्मक कहानी को आधुनिक यात्रा की कहानियों से जोड़ा गया है. जज ने माना कि ‘प्लाइट्‌स’ एक मजेदार और रोचक उपन्यास है जिसमें मृत्यु की निश्चितता पर बात की गयी है.

ओल्गा टोकारजुक पोलैंड की प्रसिद्ध रचनाकार हैं. रुढ़िवादी उनकी आलोचना करते हैं और कई बार उन्हें हत्या की धमकी भी मिल चुकी है. ओल्गा ने जिस तरह से यहूदियों के विरोध में लिखा उसके कारण उनकी बहुत निंदा होती है. बुकर पुरस्कार में 50,000 पौंड की राशि दी जाती है जो लेखक और अनुवादक के बीच बांटी जायेगी.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें