Advertisement

patna

  • Aug 25 2019 11:57AM
Advertisement

बाहुबली विधायक अनंत सिंह को कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में भेजा, बेऊर जेल बना नया ठिकाना

बाहुबली विधायक अनंत सिंह को कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में भेजा, बेऊर जेल बना नया ठिकाना

पटना : बिहार के मोकामा से बाहुबली निर्दलीय विधायक अनंत सिंह को रविवार की सुबह दिल्ली से लाये जाने के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच बाढ़ अनुमंडल अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में बेउर जेल भेज दिया गया. जिसके बाद कड़ी सुरक्षा के बीच अनंत सिंह को पटना लाया गया. अनंत सिंह के बाढ़ अनुमंडल अंतर्गत लदमा गांव स्थित पैतृक आवास से 16 अगस्त को एक एके-47 राइफल, एक मैग्जीन, कुछ कारतूस और दो ग्रेनेड बरामद हुए थे जिसके बाद से अनंत फरार चल रहे थे. उन्होंने शुक्रवार को दिल्ली की साकेत अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया था.

आधुनिक हथियार और अग्नेयास्त्र बरामद होने के बाद अनंत सिंह के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. उन्हें बाढ़ अदालत के प्रभारी एसीजेएम पंकज तिवारी की अदालत में आज पेश किया गया जहां से उन्हें 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में पटना शहर स्थित बेउर जेल भेज दिया गया. अदालत से बेउर जेल ले जाने के क्रम में अनंत सिंह ने कहा कि उन्हें इस बारे में कुछ नहीं कहना है. पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) कांतेश कुमार मिश्र ने बताया कि नियमित अदालत नहीं होने के कारण पूछताछ के लिए विधायक का रिमांड मांगने के लिए आज आवेदन नहीं किया जा सका. सोमवार को पुलिस इसके लिए प्रयास करेगी.

अनंत सिंह ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने साजिश के तहत उन्हें फंसाने के लिए उनके घर में एके 47 और अग्नेयास्त्र रखवा दिये. उनकी पत्नी एवं कांग्रेस प्रत्याशी नीलम देवी ने जदयू सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह के खिलाफ मुंगेर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा था. वह चुनाव हार गयी थीं. जदयू से निष्कासित किये जाने के बाद सिंह ने 2015 में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में मोकामा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था और विजयी रहे थे.

पटना पुलिस की भारी सुरक्षा इंतजाम के बीच कैदी वैन से अनंत सिंह बाढ़ पहुंचे थे. सुरक्षा के मद्देनजर बाढ़ में पुलिस बल की कोर्ट से लेकर सड़क तक पर भारी तैनाती की गयी थी. इससे पहले दिल्ली से पटना एयरपोर्ट पर सुबह के करीब आठ बजे पहुंचे अनंत सिंह को पुलिस सीधे कैदी वैन में बैठाकर बाढ़ के लिए रवाना हुई थी. बाढ़ पहुंचते ही अनंत सिंह को कोर्ट में पेश किया गया. कोर्ट के आसपास अनंत सिंह के समर्थकों की भारी भीड़ थी.

अनंत सिंह के खिलाफ हाल में गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) कानून के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था. छापेमारी के दौरान उनके घर से पुलिस को एक एके47 राइफल, कुछ हथगोले और कारतूस मिले थे. अनंत सिंह अपने ऊपर लगे आरोपों के अलावा लंबे समय से सवालों के घेरे में खड़ी पुलिस अधिकारी की निष्पक्षता पर सवाल उठाते रहे हैं.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement