1. home Hindi News
  2. national
  3. people upset due to rising prices of petrol and diesel petroleum minister dharmendra pradhan said congress is responsible for this aml

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से लोग परेशान, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा- इसके लिए कांग्रेस जिम्मेवार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Union minister of petroleum and natural gas Dharmendra Pradhan.
Union minister of petroleum and natural gas Dharmendra Pradhan.
PTI

Diesel&Petrol Price Todays: नयी दिल्ली : केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने बुधवार को पेट्रोल (Petrol) और डीजल (Diesel) की बढ़ती कीमतों को ठीकरा प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस (Congress) पर फोड़ा है. हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक प्रधान ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा कि कांग्रेस ने पुनर्भुगतान के लिए करोड़ों के तेल बॉन्ड्स छोड़े हैं, यही वजह है कि वर्तमान भारतीय जनता पार्टी की सरकार को ब्याज और मूलधन दोनों का भुगतान करना पड़ रहा है. उन्होंने कहा कि ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी का यह भी एक बड़ा कारण है.

प्रधान ने आगे कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है. उन्होंने एएनआई से कहा कि भारत में ईंधन की कीमतों में वृद्धि के पीछे मुख्य कारणों में से एक यह है कि हमें 80 प्रतिशत तेल का आयात करना पड़ता है. उनकी टिप्पणी देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में एक दिन के लिए अपरिवर्तित रहने के बाद मंगलवार को 50 दिनों में 28वां उछाल देखने के बाद आई है.

मंगलवार को सुबह छह बजे पेट्रोल की कीमतों में 25 पैसे और डीजल की कीमतों में 28 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गयी. इस हालिया उछाल के बाद, मुंबई में एक लीटर पेट्रोल 103.63 रुपये प्रति लीटर हो गयी है. जबकि एक लीटर डीजल की कीमत 95.72 है. दिल्ली में पेट्रोल और डीजल की कीमत क्रमश: 97.50 रुपये प्रति लीटर और 88.23 रुपये प्रति लीटर है.

कोलकाता में, ईंधन की कीमतें महानगरों में सबसे कम हैं. पेट्रोल की कीमत 97.38 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 91.08 रुपये प्रति लीटर है. चेन्नई में अब पेट्रोल की कीमत 98.65 रुपये प्रति लीटर है, जबकि डीजल की कीमत 92.83 रुपये प्रति लीटर है. कुछ दिन पहले, मंत्री ने कहा कि कीमत कम नहीं की जा सकती क्योंकि सरकार कल्याणकारी योजनाओं पर खर्च करने के लिए पैसे बचा रही है.

प्रधान ने कहा कि मैं स्वीकार करता हूं कि मौजूदा ईंधन की कीमतें लोगों के लिए समस्या हैं, लेकिन केंद्र या राज्य सरकार एक साल में टीकों पर 35,000 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किये हैं. ऐसे कठिन समय में, हम कल्याणकारी योजनाओं पर खर्च करने के लिए पैसे बचा रहे हैं. नवीनतम मूल्य वृद्धि के अनुसार, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, राजस्थान, कर्नाटक और महाराष्ट्र सहित कम से कम आठ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में पेट्रोल की कीमत अब 100 रुपये प्रति लीटर से अधिक हैं.

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें