1. home Home
  2. national
  3. omicron variant infection rises to 21 ntagi to meet to discuss booster dose of covid19 and pediatric vaccination mtj

भारत के 5 राज्यों में Omicron के 21 मामले, तंजानिया से आया रांची का शख्स भी संक्रमित, बूस्टर डोज पर बैठक आज

कोरोना का ओमिक्रॉन वैरिएंट डेल्टा से 5 गुणा तेजी से फैलता है. भारत में शनिवार को चार केस थे, जो 21 हो गये हैं. सरकारी तंत्र हरकत में है. बूस्टर डोज पर विचार हो सकता है. ओमिक्रॉन पर लेटेस्ट अपडेट यहां पढ़ें.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Omicron in India: बूस्टर डोज और बच्चों के टीकाकरण पर बैठक करेगा NTAGI
Omicron in India: बूस्टर डोज और बच्चों के टीकाकरण पर बैठक करेगा NTAGI
Prabhat Khabar

Omicron in India Latest Updates: कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामले भारत में तेजी से बढ़ने लगे हैं. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी कोविड19 के ओमिक्रॉन वैरिएंट ने दस्तक दे दी है. राजस्थान और महाराष्ट्र में तो रविवार को मानो ओमिक्रॉन ब्लास्ट हुआ है. राजस्थान में सबसे ज्यादा 9 मामले सामने आये हैं, तो महाराष्ट्र में एक साथ 7 लोग संक्रमित पाये गये हैं. इनमें 6 एक ही परिवार के सदस्य शामिल हैं. कुल 21 संक्रमित लोगों में एक व्यक्ति झारखंड की राजधानी रांची का रहने वाला है.

कोरोना के इस वैरिएंट के तेजी से बढ़ रहे मामलों के बीच सरकार और सरकारी तंत्र पूरी तरह सक्रिय हो गया है. केंद्र सरकार ने कई राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों को कोरोना वायरस के संक्रमण से निबटने के लिए जरूरी दिशा-निर्देश जारी किये हैं. उम्मीद है कि NTAGI की सोमवार को बैठक होगी. इस बैठक में बूस्टर डोज और बच्चों के वैक्सीनेशन पर विचार किया जा सकता है.

  • राजस्थान में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट से बसे ज्यादा संक्रमित मिले

  • महाराष्ट्र में एक ही परिवार के 6 लोगों समेत 8 ओमिक्रॉन की चपेट में

  • झारखंड का एक व्यक्ति दिल्ली में ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित मिला

बता दें कि शनिवार को देश में ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमण के कुल 4 मामले थे, जबकि रविवार को यह संख्या बढ़कर 21 हो गयी. रविवार को महाराष्ट्र में 7 लोग संक्रमित पाये गये, जबकि राजस्थान की राजधानी जयपुर में 9 लोग. दिल्ली सरकार ने भी ओमिक्रॉन वैरिएंट से एक व्यक्ति के संक्रमण की पुष्टि की.

वायरस ने सबसे पहले कर्नाटक में दस्तक दी थी. यहां 2 लोग संक्रमित पाये गये थे. इसके बाद गुजरात के जामनगर और महाराष्ट्र के डोंबिवली का एक शख्स संक्रमित पाया गया. महाराष्ट्र में जो 7 लोग संक्रमित पाये गये हैं, उनमें नाइजीरिया से आने वाले अनिवासी भारतीय (एनआरआई) शामिल हैं.

नाईजीरिया से आयी महिला और उसकी दो बेटियों में ओमिक्रॉन वैरिएंट के संक्रमण की पुष्टि हुई है. ये महाराष्ट्र के पुणे जिले की रहने वाली है. स्वास्थ्य विभाग ने मीडिया को बताया कि 24 नवंबर को यह महिला अपनी दो बेटियों के साथ पिंपड़ी चिंचवाड़ में अपने भाई से मिलने आयी थी. स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि महिला का एक भाई और उसकी दो बेटियां भी कोरोना के नये वैरिएंट की चपेट में आ चुकी हैं.

राजस्थान : 9 लोग ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित

राजस्थान में एक साथ सबसे ज्यादा 9 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है. राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को मीडिया को एक साथ इतने मामलों के सामने आने की जानकारी दी. विभाग ने बताया कि राजधानी जयपुर में 9 लोगों में ओमिक्रॉन वैरिएंट के संक्रमण की पुष्टि हुई है. कोरोना प्रॉटोकॉल के तहत सभी को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है. सभी लोग डॉक्टरों की निगरानी में हैं.

NTAGI की बैठक कल, हो सकते हैं अहम फैसले

न्यूज एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि नेशनल टिक्निकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्युनाइजेशन (NTAGI) के कोविड19 वर्किंग ग्रुप की सोमवार (6 दिसंबर) को बैठक हो सकती है, जिसमें बच्चों का टीकाकरण शुरू करने और दोनों डोज ले चुके लोगों को वैक्सीन का बूस्टर डोज देने पर विचार किया जा सकता है.

यहां बताना प्रासंगिक होगा कि भारत में 128 करोड़ के करीब कोरोना वैक्सीन की डोज लोगों को लगायी जा चुकी है. 50 फीसदी से अधिक वयस्कों ने वैक्सीन की दोनों डोज लगवा ली है. सरकार ने टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने पर जोर दिया है. वहीं, कर्नाटक सरकार ने कहा है कि जिन क्षेत्रों में 3 से अधिक कोरोना के मामलों की पुष्टि होगी, उसे क्लस्टर घोषित कर दिया जायेगा.

अफ्रीकी देशों से आये लोगों में मिला ओमिक्रॉन वैरिएंट

ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित पाये गये लोगों में अधिकतर हाल में अफ्रीकी देशों से आये हैं या वहां के लोगों के संपर्क में थे. इसके साथ ही चार राज्यों और राष्ट्रीय राजधानी में ज्यादा संक्रामक स्वरूप के मामले सामने आये हैं. जयपुर में जो 9 लोग संक्रमित मिले हैं, उनमें एक ही परिवार के चार सदस्य शामिल हैं. ये हाल में दक्षिण अफ्रीका से लौटे हैं.

पिछले महीने के आखिरी सप्ताह फिनलैंड से पुणे लौटे एक अन्य व्यक्ति के भी ओमिक्रॉन से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. देश में कोविड-19 के ओमिक्रॉन वैरिएंट के दो मामले बृहस्पतिवार को कर्नाटक और बेंगलुरु में सामने आये थे. दोनों व्यक्तियों का पूरी तरह टीकाकरण हो चुका है. तंजानिया से दिल्ली आया 37 वर्षीय एक पुरुष ‘ओमिक्रॉन’ से संक्रमित पाया गया है और यह राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के इस नये स्वरूप से जुड़ा पहला मामला है.

तंजानिया से लौटा रांची का एक शख्स भी ओमिक्रॉन की चपेट में

अधिकारियों ने बताया कि रांची के रहने वाले इस मरीज ने तंजानिया से दोहा की यात्रा की थी और फिर दो दिसंबर को कतर एयरवेज की उड़ान से वह दोहा से दिल्ली पहुंचा था. उन्होंने बताया कि संक्रमित व्यक्ति दक्षिण अफ्रीका के जोहानिसबर्ग में करीब एक सप्ताह ठहरा था. अधिकारी ने बताया कि संक्रमित व्यक्ति कोविड-रोधी टीके की दोनों खुराक ले चुका है.

लोक नायक जय प्रकाश (एलएनजेपी) अस्पताल के अधिकारियों ने बताया कि मरीज का इस समय अस्पताल में उपचार किया जा रहा है और उसमें बीमारी के मामूली लक्षण हैं. अधिकारी ने कहा, ‘उसे रांची जाने के लिए दूसरे विमान में सवार होना था, जहां वह अपने परिवार के साथ रहता है. इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर नमूने की जांच में संक्रमण की पुष्टि होने के बाद हमने उसे नियमानुसार एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया.’

इस बीच, अधिकारी उन 10 लोगों की पहचान करने के साथ ही उन्हें पृथक-वास में भेजने की तैयारी कर रहे हैं, जिन्होंने विमान में संक्रमित व्यक्ति के आसपास की सीट पर बैठकर यात्रा की थी. उधर, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा, ‘अभी तक कोविड-19 के 17 मरीजों और उनके संपर्क में आए छह लोगों को लोक नायक अस्पताल में भर्ती कराया गया है. प्रारंभिक रिपोर्ट के अनुसार, अभी तक जीनोम अनुक्रमण के लिए भेजे गये 12 में से एक नमूने में ओमिक्रॉन वैरिएंट पाया गया है.’

रांची के संक्रमित व्यक्ति में ये हैं लक्षण

चिकित्सा निदेशक सुरेश कुमार ने कहा, ‘मरीज भारतीय है और वह तंजानिया से आया है. उसके गले में सजून, बुखार और शरीर में दर्द जैसे संक्रमण के मामूली लक्षण हैं. उसे दो दिसंबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था.’ उन्होंने कहा, ‘मरीज ने पिछले कुछ दिन में किन स्थानों की यात्रा की है, इसका पता लगाया जा रहा है और उसके संपर्क में आए लोगों से संबंधित जानकारी भी एकत्र की जा रही है.’

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इस बात की 99 प्रतिशत संभावना है कि मास्क कोविड-19 के सभी स्वरूपों से लोगों का बचाव कर सकता है-भले ही वह अल्फा हो, बीटा हो, डेल्टा हो या ओमिक्रॉन हो. उन्होंने कहा, विशेषज्ञों का कहना है कि कोविड-19 की तीसरी लहर जनवरी-फरवरी में आ सकती है. यदि हर कोई मास्क पहनता है, तो इसे रोका जा सकता है.

ब्रिटेन समेत ये देश ‘खतरा’ वाले देशों की लिस्ट में

केंद्र सरकार के अनुसार, जिन देशों को ‘खतरे’ वाले देशों की सूची में डाला गया है, उनमें ब्रिटेन सहित यूरोपीय देश, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बोत्सवाना, चीन, मॉरिशस, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे, सिंगापुर, हांगकांग, इस्राइल शामिल हैं.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें