1. home Hindi News
  2. national
  3. corona test report treatment test money delhi government order

अब कोरोना जांच के लिए लगेंगे 2400 रुपये, दिल्ली सरकार ने दिया आदेश

By Agency
Updated Date
 कोविड 19
कोविड 19
प्रतिकात्मक फोटो

नयी दिल्ली : दिल्ली सरकार ने कोविड-19 आरटी-पीसीआर जांच के लिए 2,400 रुपये का शुल्क तय करने का फैसला किया है. महानगर में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. उपराज्यपाल अनिल बैजल की अध्यक्षता में हुई बैठक में दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने निजी और सरकारी सहित सभी अस्पतालों के लिए कोविड-19 की जांच दर 2,400 रुपये तय करने के संबंध में, एक उच्च स्तरीय विशेषज्ञ समिति की सिफारिशों को मंजूरी दे दी.

सरकार ने निरूद्ध क्षेत्रों और स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों में कोविड-19 जांच के लिए बृहस्पतिवार को रैपिड एंटीजन किट का उपयोग शुरू कर दिया और इसका शुल्क 450 रुपये तय कर किया है. कोविड-19 आरटी-पीसीआर (रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन पोलीमरेज चेन रिएक्शन) जांच की दर तय होने और रैपिड एंटीजन जांच के शुरू होने के साथ, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उम्मीद जताई कि लोगों को अब खुद की जांच करवाने में कोई परेशानी नहीं होगी. केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘‘आज दो महत्वपूर्ण घटनायें हुईं.

दिल्ली में जांच की दर घटाकर 2400 रुपए की गई. आज से दिल्ली में रैपिड एंटिजन जांच शुरू हुई जिसके नतीजे 15 मिनट में आ जाते हैं. उम्मीद करता हूँ कि अब दिल्ली के लोगों को जांच की कोई समस्या नहीं होगी.'' उपराज्यपाल बैजल ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘माननीय गृह मंत्रालय को मार्गदर्शन के लिए धन्यवाद, कोविड जांच अब दिल्ली में अधिक सस्ती और व्यापक रूप से उपलब्ध है. अधिक जांच होने से कोविड-19 के खिलाफ दिल्ली की लड़ाई को मजबूती मिलेगी. अधिक जांच और कुशल ढंग से संक्रमण की पहचान करके अनमोल जिंदगियां बचाई जा सकती हैं.''

एक अन्य ट्वीट में, उपराज्यपाल ने कहा कि जांच क्षमता बढ़ाने के लिए दिल्ली में 341 टीमों की मदद से रैपिड एंटीजन जांच प्रक्रिया के लिए 169 एंटीजन जांच केंद्र (एटीसी) स्थापित किए गए हैं. उपराज्यपाल कार्यालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, डीडीएमए की बैठक में बैजल ने सलाह दी कि स्वास्थ्य विभाग को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि प्रयोगशालाएं गुणवत्ता का पालन करें और उपयोगकर्ताओं को शिकायत निवारण प्रणाली प्रदान करें.

बयान में कहा गया है, "एंटीजन जांच के दौरान, सामाजिक दूरी बनाने के सभी मानदंडों का पालन किया जाएगा. केंद्रों पर चिकित्सा टीमें यह सुनिश्चित करेंगी कि आईसीएमआर द्वारा जारी दिशा-निर्देशों और प्रोटोकॉल के अनुसार इलाज के लिए कोविड-19 के सभी पुष्ट मामलों को देखा जाए.'' दिल्ली में बुधवार को कोरोना वायरस के 2,414 नये मामले सामने आने से संक्रमितों की संख्या 47,000 से अधिक हो गई, जबकि बीमारी से मरने वालों की संख्या 1,904 हो गई है.

Posted By - Pankaj Kumar Pathak

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें