1. home Home
  2. national
  3. amit shah at srinagar youth of jammu kashmir is talking about development terrorism has reduced mtj

जम्मू-कश्मीर का युवा अब विकास की बात करता है, आतंकवाद कम हुआ- श्रीनगर में बोले अमित शाह

अगर कर्फ्यू नहीं लगाया गया होता, तो न जाने कितने युवाओं की जानें चली जातीं. कर्फ्यू और इंटरनेट बंद किये जाने की वजह से कश्मीर के युवाओं को बचा लिया गया.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Amit Shah at Srinagar: अमित शाह ने विपक्ष पर बोला जोरदार हमला
Amit Shah at Srinagar: अमित शाह ने विपक्ष पर बोला जोरदार हमला
Twitter

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर की तीन दिन की यात्रा पर श्रीनगर पहुंचे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने केंद्रशासित प्रदेश की सुरक्षा की स्थिति की समीक्षा की, तो युवाओं को भी संबोधित किया. उन्होंने कहा कि कश्मीर के युवा अब विकास बात करते हैं. 70 साल की जम्हूरियत ने जम्मू-कश्मीर को जो नहीं दिया, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वो सब कुछ दिया. अमित शाह ने कहा कि आज जम्मू-कश्मीर का युवा विकास की बात करता है. आतंकवाद कम हुआ है.

अमित शाह ने कहा कि लोगों ने कर्फ्यू लगाने, इंटरनेट सेवाओं को बंद करने पर सवाल खड़े किये. उन्होंने कहा कि अगर कर्फ्यू नहीं लगाया गया होता, तो न जाने कितने युवाओं की जानें चली जातीं. कर्फ्यू और इंटरनेट बंद किये जाने की वजह से कश्मीर के युवाओं को बचा लिया गया. तीन परिवारों ने जम्मू-कश्मीर पर 70 साल तक शासन किया. 40 हजार से अधिक लोगों की मौत क्यों हुई?

अमित शाह ने कहा कि कश्मीर के 70 फीसदी युवाओं का हौसला बढ़ाया जाये, उन्हें रोजगार से जोड़ दिया जाये, कश्मीर के विकास का राजदूत बना दिया जाये, तो कश्मीर किसी से पीछे नहीं रहेगा. आज जम्मू-कश्मीर को भारत सरकार से लेने वाले राज्य के रूप में जाना जाता. भारत सरकार से उसे जरूरी मदद मिलनी चाहिए. लेकिन, एक दिन आयेगा, जब वह भारत सरकार से मदद लेगा नहीं, भारत सरकार की मदद करेगा.

गृह मंत्री ने कहा कि इसके लिए युवाओं को रोजगार से जोड़ा जायेगा. उन्हें सकारात्मक बदलाव से जोड़ा जायेगा. अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार जम्मू-कश्मीर को विकास के पथ पर अग्रसर करने की बात करते हैं. उन्होंने कहा कि 5 अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किये जाने के बाद 4,500 यूथ क्लब पंजीकृत हुए. इनमें से 4,229 से अधिक युवा केंद्र ग्रामीण क्षेत्रों में हैं.

अमित शाह ने कहा कि इन यूथ क्लब्स के जरिये युवाओं को खेल की गतिविधि से जोड़ा जा रहा है. उनको शिक्षित करने की बात हो रही है. सरकार उनके रोजगार की चिंता कर रही है. युवाओं के स्किल डेवलपमेंट की बात हो रही है. अमित शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के युवाओं के समग्र विकास के लिए मल्टीडाइमेंशनल प्रोग्राम चल रहे हैं. इससे शिक्षा मिलती है, आर्थिक सहायता और अनुदान भी युवाओं को दिया जा रहा है.

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि युवाओं को गाइडेंस भी दिया जा रहा है. हेल्थ अपग्रेडेशन की भी व्यवस्था की जा रही है. उन्होंने कहा कि युवाओं को खेल से जोड़ रहे हैं, क्योंकि खेल ही हमें हार को स्वीकार करना सिखाता है, तो जीत का जश्न मनाना भी सिखाता है. युवाओं को पर्यटन उद्योग से भी जोड़ा जा रहा है. उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर सरकार ने हर पंचायत में एक यूथ क्लब बनाने का लक्ष्य रखा है.

हर यूथ क्लब को 25000 रुपये की मदद

अमित शाह ने बताया कि हर युवा क्लब को 25,000 रुपये की सहायता का कार्यक्रम तय किया गया है. 150 युवा क्लबों को भवन उपलब्ध कराये गये हैं. इन क्लबों से जुड़े युवाओं को कश्मीर के विकास से जोड़ा जायेगा. पौधरोपण, स्वच्छता और समाज की मदद का काम यूथ क्लब के माध्यम से किया जायेगा.

उन्होंने युवाओं से कहा कि आपको हमेशा याद रखना चाहिए कि जीवन संभावनाओं से भरा हुआ है. हर व्यक्ति को यह सोचना चाहिए कि आप उन संभावनाओं का कैसे इस्तेमाल करते हैं. आप रोते-दोते रहते हैं, निगेटिव माइंडसेट से जीते हैं या पॉजिटिव माइंडसेट के जरिये अपनी और अपने देश की तरक्की करना चाहते हैं.

गृह मंत्री ने कहा कि स्टार्टअप से लेकर कई अन्य योजनाएं युवाओं के लिए शुरू की गयी हैं. उसकी मदद से छोटे से छोटे गांव का युवा दुनिया के प्लेटफॉर्म पर सीना तानकर खड़ा हो सकता है. इन संभावनाओं का इस्तेमाल करने के लिए आपका यूथ क्लब के जरिये मार्गदर्शन किया जायेगा.

अमित शाह बोले- बड़ा लक्ष्य रखें युवा

मैं कहना चाहता हूं कि लक्ष्य कभी छोटा नहीं होना चाहिए. कभी न सोचना कि मैं इसे पूरा कर पाऊंगा या नहीं. आप लक्ष्य तय कीजिए. उसे ऊपरवाला यानी ईश्वर पूरा करेगा. कोशिश करने वालों की ईश्वर जरूर मदद करता है. मैंने कई ऐसे लोगों की जीवनगाथा पढ़ी है, जिन्होंने बड़े लक्ष्य तय किये थे. लेकिन, उन्होंने पूरी जिजिविषा के साथ लक्ष्यों को हासिल किया.

अमित शाह ने कहा कि ढेर सारे सरकारों के विकास के आंकड़े मैंने देखा है. मोदी जी आये, तब देश में 20,000 गांव ऐसे थे, जहां बिजली का खंभा भी नहीं था. दूसरा प्रधानमंत्री 20 हजार गांवों में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य तय करता. लेकिन, मोदी जी ने 2022 के पहले देश के घर-घर तक बिजली पहुंचाने का लक्ष्य तय किया और उसे हासिल भी किया.

आतंकवाद, परिवारवाद का अंत हुआ

अमित शाह ने कहा कि कश्मीर के विकास की हमेशा से चिंता होती रही है. प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना जम्मू-कश्मीर के सभी लोगों के लिए लागू किया गया. हम लक्ष्य तय करते हैं, तो उसे हासिल भी करते हैं. दहशत, आतंकवाद, भय, परिवारवाद का अंत हुआ. शांति, विकास, समृद्धि की ओर बढ़ा.

जम्मू-कश्मीर के युवाओं ने सरकार के लक्ष्य को समझा और उसे आगे बढ़ाया. एक दिन आयेगा कि जम्मू-कश्मीर भारत सरकार से कुछ लेगा नहीं, बल्कि वह भारत सरकार की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में अपनी भूमिका निभायेगा. यह बदलाव जम्मू-कश्मीर के युवाओं के दम पर आयेगा.

अमित शाह ने कहा कि आज मैं भारत के गृह मंत्री के नाते यहां खड़ा हूं. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष रहा हूं. मेरी राजनीति की शुरुआत पोलिंग बूथ के अध्यक्ष के रूप में हुई. मेरे परिवार का कोई भी व्यक्ति राजनीति में नहीं था. लोकतंत्र की खूबसूरती है कि एक बूथ अध्यक्ष आज देश का गृह मंत्री है.

गृह मंत्री ने कहा कि जम्मू-कश्मीर का युवा देश का वित्त मंत्री है. 70 साल की जम्हूरियत ने जम्मू-कश्मीर को क्या दिया. 87 विधायक, 6 सांसद और 3 परिवार. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में जम्मू-कश्मीर के 70 फीसदी युवाओं को विकास से जोड़ेंगे.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें