28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Underweight Kids: इन कारणों से नहीं बढ़ पा रहा आपके बच्चे का वजन, जानिए..

Underweight Kids : बच्चों में वजन न बढ़ने का सबसे बड़ा कारण होता है उनका कुपोषण का शिकार होना. ऐसे में बच्चों का वजन अक्सर नहीं बढ़ पाता है और वह अंडरवेट रह जाते हैं.

Underweight Kids : बच्चों में वजन न बढ़ने का सबसे बड़ा कारण होता है उनका कुपोषण का शिकार होना. ऐसे में बच्चों का वजन अक्सर नहीं बढ़ पाता है और वह अंडरवेट रह जाते हैं. वह पेरेंट्स जो आर्थिक रूप से कमजोर होते हैं, वह अपने बच्चों का भरण पोषण अच्छे से नहीं कर पाते हैं, जिसके परिणाम स्वरुप बच्चे कमजोर और कम वजन के होते हैं. 2 साल से कम उम्र वाले बच्चों को फाइबर युक्त खाना अधिक मात्रा में देने से भी उनका वजन बढ़ नहीं पाता है. बच्चों को संतुलित मात्रा में खाना न देने की वजह से भी उनका वजन कम रह जाता है, और वह अच्छी तरह से ग्रो नहीं कर पाते हैं. इस विषय पर डॉ पुनीत द्विवेदी (आयुर्वेदिक शिशु एवं बाल्य रोग विशेषज्ञ एचडी बाल रोग भोपाल मध्य प्रदेश ) ने अपने सोशल मीडिया के माध्यम से एक वीडियो साझा कर कुछ जरूरी जानकारी दी है, आईए जानते हैं बच्चों का वजन न बढ़ने के चार प्रमुख करण.

बार-बार बीमार पड़ना

अगर आपका बच्चा बार-बार बीमार हो जाता है, और छोटी-छोटी चीजों जैसे की मौसम बदलने, जगह बदलने, एवं पानी बदलने के कारण उसे सर्दी, जुकाम, बुखार या संक्रमण आदि की परेशानी हो जाती है तो यह भी वजन न बढ़ने के प्रमुख लक्षणों में से एक हो सकता है. दरअसल जब बच्चा बीमार होता है तो उसे तो उसकी बॉडी में एनर्जी और स्टोर्ड प्रोटीन की अधिक खपत होती है, जिसके कारण उसके शरीर में न्यूट्रीशन की कमी हो जाती है और अच्छी डाइट ना होने की वजह से उसकी कमी पूरी भी नहीं हो पाती है, जिससे बच्चे का वजन नहीं बढ़ पाता है.

पेट में कीड़े

अगर आपके बच्चे के पेट में कीड़े हैं तो यह भी वजन न बढ़ने का एक प्रमुख कारण हो सकता है. पेट में मौजूद कीड़े खाए हुए भोजन का न्यूट्रीशन अब्जॉर्ब कर लेते हैं और उसे शरीर में लगने से रोकते हैं. जिसके कारण बच्चों के शरीर में न्यूट्रिशन की कमी हो जाती है और वजन बढ़ नहीं पता है. अगर आपके बच्चे का वजन बढ़ नहीं पा रहा है तो एक बार उसके पेट की जांच करवाएं और डॉक्टर से परामर्श ले. अगर बच्चे के पेट में कीड़े की शिकायत है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क कर उसका सही इलाज कराएं और अपने बच्चे की सेहत को लेकर लापरवाही बिल्कुल नहीं बरतें.

संतुलित आहार की कमी

अगर आप अपने बच्चों को संतुलित आहार न देकर उसे जंक फूड और बाहर बिकने वाली वस्तुएं ज्यादा मात्रा में खिला रहे हैं, तो यह भी उनके शरीर में कई तरह की परेशानियां पैदा कर सकता है, और वजन भी नहीं बढ़ने देता है. बच्चों की ग्रोइंग इयर्स में उन्हें संतुलित आहार देना अति आवश्यक होता है, क्योंकि इस वक्त बच्चों का शरीर फल फूल रहा होता है और इस समय उनका शरीर सभी तरह के पोषक तत्वों की डिमांड करता है, ऐसे में उन्हें संतुलित आहार का ना मिलना उनके शरीर में कई तरह की कमियों को जन्म देता है, और यह वजन न बढ़ने के साथ-साथ और भी कई तरह की बीमारियां पैदा कर सकता है, जो कि बच्चों के भविष्य में एक बड़ी बीमारी का रूप ले सकते हैं .अक्सर बड़ी बीमारियों का कारण बचपन में की गई लापरवाही होता है .इसीलिए बचपन में बच्चों की डाइट पर मां-बाप को बहुत ज्यादा ध्यान देना चाहिए ताकि भविष्य में उन्हें किसी भी तरह की शारीरिक एवं मानसिक परेशानी का सामना न करना पड़े.

शरीर में खून की कमी होना

अगर आपके बच्चे के शरीर में खून की कमी है और वह एनीमिया का शिकार है तो यह भी वजन न बढ़ने का एक बहुत बड़ा कारण होता है. हमारे शरीर में खून सभी तरह के पोषक तत्वों को शरीर के हर एक अंगों तक पहुंचाने का काम करता है, ऐसे में अगर शरीर में इसकी कमी हो जाती है तो पोषक तत्व हर अंग में नहीं पहुंच पाएंगे जिस वजह से शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाएगी. और आंतरिक अंग कमजोर होने लगेंगे जिस वजह से शरीर में परेशानियां पैदा होगी और बच्चों का वजन भी नहीं बढ़ पाएगा.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें