25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Ujjwal Nikam: कौन हैं उज्ज्वल निकम? जिसे बीजेपी ने मुंबई उत्तर मध्य से चुनावी मैदान में उतारा, 26/11 से है खास नाता

Ujjwal Nikam: बीजेपी ने मुंबई उत्तर मध्य से मौजूदा सांसद पूनम महाजन का टिकट काटकर एक ऐसे शख्स को चुनावी मैदान में उतारा है, जिसकी चर्चा इस समय तेजी से हो रही है. दरअसल बीजेपी ने उज्जवल निकम को इस लोकसभा सीट से टिकट दिया है. निकम का 26/11 आतंकवादी हमले से खास नाता है. तो आइये जानते हैं उज्जवल निकम के बारे में.

Ujjwal Nikam: उज्ज्वल निकम देश के मशहूर वकीलों में शामिल हैं. वो 26/11 मुंबई आतंकवादी हमले के मामले में विशेष लोक अभियोजक थे. निकम ने ही आतंकी अजमल कसाब को फांसे दिलवाया था.

कई प्रमुख केस की पैरवी कर चुके हैं उज्जवल निकम

उज्ज्वल निकम ने 26/11 मुंबई आतंकवादी हमले के अलावा, 1993 के मुंबई सिलसिलेवार धमाके, प्रमोद महाजन मर्डर केस, गुलशन कुमार मर्डर केस, मरीन ड्राइव दुष्कर्म कांड सहित कई हाईप्रोफाइल केस की पैरवी कर चुके हैं. निकम को हत्या और आतंकवाद मामले के विशेषज्ञ वकील के रूप में जाना जाता है.

37 लोगों को फांसी की सजा दिला चुके हैं उज्जवल निकम

उज्जवल निकम अबतक 37 आरोपियों को फांसी की सजा दिला चुके हैं. इसके अलावा 628 आरोपियों को उम्रकैद की सजा भी वो दिला चुके हैं. उज्जवल निकम का जन्म महाराष्ट्र के जलगांव में हुआ है. उनके पिता एक जज थे.

अजमल कसाब को लेकर उज्जवल निकम ने अफवाह फैलाई थी

उज्जवल निकम ने 26/11 आतंकवादी हमले के दोषी अजमल कसाब को लेकर एक अफवाह फैलाई थी. उन्होंने इस बात को खुद स्विकार भी किया था. उन्होंने अफवाह फैलाई थी कि कसाब जेल में बिरयानी की मांग करता था और उसे उपलब्ध भी कराया जाता था. उन्होंने बाद में बताया था कि यह केवल अफवाह थी. कसाब न तो बिरयानी मंगाता था और न ही उसे उपलब्ध कराया जाता था. दरअसल यह अफवाह उन्होंने इसलिए फैलाई थी कि लोगों का धीरे-धीरे कसाब की ओर भावना शिफ्ट हो रही थी. मीडिया में कसाब की तस्वीरें वायरल होने लगी थी और चर्चा होने लगी थी कि कसाब को बहन की याद आ रही है. वैसे में उन्हें लोगों की भावना को रोकने के लिए अफवाह फैलानी पड़ी थी. मालूम हो 2008 में कसाब को फांसी की सजा दी गई थी.

Also Read: ‘राहुल गांधी में हिम्मत है, तो वाराणसी से चुनाव लड़कर दिखाएं’, पीयूष गोयल ने दी खुली चुनौती

बीजेपी से टिकट मिलने पर क्या बोले उज्जवल निकम

बीजेपी से टिकट मिलने पर उज्जवल निकम ने कहा, वास्तव में यह मेरे लिए बहुत सुखद और आश्चर्यजनक क्षण है. मैं अपराधियों को सजा दिलाने के लिए केस लड़ता था, अब भगवान ने मुझे लोकतंत्र के नए मंदिर यानी संसद में दूसरी पारी की शुरुआत करने का मौका दिया है. उन्होंने कहा, सालों तक आपने मुझे कोर्ट में आरोपियों के खिलाफ लड़ते हुए देखा. लेकिन आज बीजेपी ने मुझे जिम्मेदारी दी है, जिसके लिए मैं पीएम मोदी, बीजेपी चीफ जेपी नड्डा, महाराष्ट्र बीजेपी प्रमुख चंद्रशेखर बावनकुले, डिप्टी सीएम देवेंद्र फड़णवीस का आभारी हूं. मैं जानता हूं कि राजनीति मेरे लिए नहीं बल्कि आपके माध्यम से है, मैं सभी को बताना चाहता हूं कि देश का संविधान, कानून और सुरक्षा मेरी प्राथमिकताएं होंगी. जिस निर्वाचन क्षेत्र से मुझे चुनाव लड़ने के लिए कहा गया है वह मुंबई का एक बहुत ही महत्वपूर्ण निर्वाचन क्षेत्र है. इसका प्रतिनिधित्व दिवंगत मनोहर जोशी, रामदास अठावले और पूनम महाजन ने किया है. इन लोगों ने हमेशा राष्ट्रहित में संसद में सवाल उठाए हैं.

राजनीति को लड़ाई नहीं मानता: उज्जवल निकम

मैं राजनीति को लड़ाई नहीं मानता. राजनीति के जरिए समाज सेवा की जा सकती है. राजनीति के जरिए देश की सेवा भी की जा सकती है. मैं यह नया फंडा अपनाऊंगा. मुझे देश की सेवा करने का मौका मिला है. इसलिए मैं खुद को भाग्यशाली मानता हूं.

Also Read: पीएम मोदी का दावा- दूसरे चरण के बाद BJP-NDA 2-0 से आगे

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें