जीएसटी पर चीन के मीडिया ने दी नसीहत, कहा-क्रियान्वयन के लिए चीन जैसे सशक्त नेतृत्व की दरकार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पेइचिंगः भारत को आड़ेहाथ लेने अथवा उसको नसीहत आैर चेतावनी देने में चीन का मीडिया कोर्इ भी कसर बाकी नहीं छोड़ना चाहता. अभी इसी महीने भारत सरकार की आेर से वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) लागू किये जाने के बाद वहां के मीडिया ने नसीहत दिया है. चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने अपने एक लेख में कहा है कि भारत में जीएसटी का पारित होना बड़ा कदम है, लेकिन इसके क्रियान्वयन के लिए भारत को चीन की तरह 'सशक्त नेतृत्व' की जरूरत है.

ग्लोबल टाइम्स ने अपने एक लेख में कहा कि लंबे समय से प्रतीक्षित जीएसटी आखिरकार भारत में लागू हो ही गया और यह 1947 में भारत को मिली आजादी के बाद का सबसे बड़ा टैक्स सुधार है. उसने कहा कि अब मुख्य सवाल यह है कि क्या इस नये टैक्स प्रणाली को देश के 29 प्रांतों में प्रभावी ढंग से स्थापित किया जा सकता है और इसमें कितना समय लगेगा. अखबार ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी के साथ भारत अपनी अर्थव्यवस्था को एकरूपता देने के लिए व्यापक सुधारों को आगे बढ़ा रहा है और इसको आगे बढ़ाने में कर्इ बड़ी बाधाएं पैदा होंगी.

अखबार ने अपने लेख के जरिये कहा है कि चीन में तेज आर्थिक विकास के लिए नीतियों को प्रभावी ढंग से लागू कराने वाले सशक्त नेतृत्व जैसे ही नेतृत्व की भारत को जरूरत है, ताकि वहां पूरे देश में सुधारों को लेकर पूर्ण अनुपालन हो सके. अखबार ने लिखा कि नीतियों को लागू करने के मामले में भारत अब भी चीन से कहीं पीछे है. हालांकि, अखबार ने यह भी टिप्पणी की है कि जीएसटी सही दिशा में उठाया गया, एक कदम है और भविष्य में इससे बड़े लाभ होंगे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें