1. home Hindi News
  2. world
  3. pm modi a responsible leader can solve border conflict with china cino india border dispute ladimir putin russia quad prt

भारत-चीन को लेकर रूस ने कही ये बात, क्या अमेरिका से दोस्ती पर पड़ेगा असर, जानिए क्वाड को लेकर क्या है पुतिन की राय

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
PM Modi
PM Modi
PTI

India, Russia, China, PM Modi: रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin Russian President) ने पीएम मोदी (PM Modi) की तारीफ की है. कहा है कि पीएम मोदी एक जिम्मेदार नेता हैं. उन्होंने भारत चीन (India China Border Dispute) के बीच चल रही सीमा विवाद पर कहा कि पीएम मोदी और शी चिनफिंग (PM Modi xi jinping) दोनों जिम्मेदार नेता हैं, और आपसी विवाद को बेहतर तरीके से सुलझा सकते हैं. उन्होंने यह भी कहा कि, इस मसले पर किसी तीसरी ताकत को हस्तक्षेप करने की जरूरत नहीं है. भारत औऱ चीन अपने मसले खुद सुलझा सकते हैं.

चार देशों के समूह क्वाड की रुस ने की आलोचनाः रुस की ओर भारत और चीन को लेकर यह बयान तब आया है, जब खुद रुस भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया को लेकर बने ग्रुप क्वाड का सार्वजनिक रुप से निंदा कर रहा है. इस बारे में रुस के राष्ट्रपति पुतिन ने कहा है कि किसी भी साझेदारी का मकसद किसी अन्य देश के खिलाफ नहीं होनी चाहिए.

एक सवाल के जवाब में पुतिन ने कही ये बातः गौरतलब है कि भारत के क्वाड ग्रुप में शामिल होने के बारे में जब पुतिन से एक सवाल पूछा गया तो इसके जबाव में पुतिन ने यह बात कही. गौरतलब है कि चीन भी क्वाड समूह का हमेशा विरोध करता आया है. चीन का कहना है कि यह समूह हिन्द महासागर और प्रशांत महासागर में चीन प्रभाव को नियंत्रण करने के लिए बनाया गया है.

क्वाड में शामिल नहीं होगा रुसः रुस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने साफ कर दिया है कि रुस किसी भी हालत में क्वाड का हिस्सा नहीं बनेगा. उन्होंने कहा कि हर स्वतंत्र देश को यह निर्णय लेने का अधिकार है कि, वो किस समूह में शामिल होना चाहता है. और किसमें नहीं. उन्होंने कहा कि रुस किसी भी देश के आंतरिक मामलों में दखन नहीं देता. उन्होंने यह भी कहा कि किसी भी समूह का मकसद अन्य राष्ट्र के खिलाफ लामबंद होना सही नहीं हैं.

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच लंबे समय से सीमा विवाद चल रहा है. इस मसले को लेकर कई बार दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हो चुकी हैं. कुछ मामलों में तो दोनों देशों की सेना के बीच हिंसक झड़पे भी हो चकी हैं. बीते साल 2020 में ऐसे ही एक खूनी संग्राम में दोनों देशों के कई सैनिक की मौत हो गई थी.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें