1. home Hindi News
  2. shibu soren

Shibu Soren

झारखंड की राजनीति में शिबू सोरेन का कद किसी से छिपा नहीं है और यही वजह है कि लोगों ने उन्हें दिशोम गुरू का नाम दिया है. उनके कद का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि उन्हें मौजूदा गठबंधन सरकार में समन्वय समिति का अध्यक्ष बनाया गया. शिबू सोरेन का जन्म 11 जनवरी 1944 को हुआ. उन्होंने अपने राजनीतिक करियर की शुरूआत अपने पिता की हत्या के बाद शुरू किया. उन्होंने लकड़ी बेचकर अपने परिवार को पाला और महाजन प्रथा के खिलाफ आंदोलन शुरू छेड़ा. 4 फरवरी 1973 को शिबू सोरेन ने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर झारखंड मुक्ति मोर्चा की स्थापना की. साल 2004 में मनमोहन सिंह की सरकार में कोयला मंत्री बने और साल 2005 में पहली बार झारखंड के मुख्यमंत्री बनें. शिबू सोरेन के लोकप्रियता का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि वे झारखंड से 6 बार के सांसद रहे हैं. हालांकि उनका राजनीतिक करियर विवादों में भी रहा. इनमें से प्रमुख है चिरूडीह कांड. जिसकी वजह से उन्हें कोयला मंत्री के पद से इस्तीफा भी देना पड़ा.

अन्य खबरें