1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. top useful android and ios apps aarogya setu my govt map my india practo to help you after coronavirus lockdown

Top Android iOS Apps: लॉकडाउन खत्म होने के बाद आपके फोन में जरूर होने चाहिए ये यूजफुल ऐप्स

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
smarthone apps to keep you safe in corona crisis
smarthone apps to keep you safe in corona crisis
file pic

Top Most Useful Android and iOS Apps for Your Smartphone: कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए लागू लॉकडाउन में अब सरकार की ओर से कुछ जरूरी दिशानिर्देशों के साथ ढील दी जाने लगी है. कोरोना महामारी और लॉकडाउन ने हमें काफी हद तक बदल डाला है. हमारी जिंदगी पर इसका सबसे बड़ा प्रभाव यह है कि इसने तकनीक पर हमारी निर्भरता बढ़ा दी है.

इसी कड़ी में हम आपको कुछ ऐसे मोबाइल ऐप्स के बारे में बताएंगे, जो लॉकडाउन के दौरान हमारी जरूरत बन गए और लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी इनपर हमारी निर्भरता बनी रहेगी. मसलन, जब लोग घरों से बाहर निकलना शुरू करेंगे, तो यह जरूरी होगा कि उन्हें उन इलाकों की जानकारी हो, जो कोरोना के उभरते हॉटस्पॉट या कंटेनमेंट जोन हैं. साथ ही, नजदीकी परीक्षण और उपचार केंद्रों की भी जानकारी जरूरी है. इसके अलावा, लॉकडाउन खुलने के बाद भी बच्चे-बूढ़े सहित कई लोगों के लिए घर से इतनी जल्दी निकलना मुमकिन नहीं होगा, ऐसे में उनके लिए स्मार्टफोन ऐप्स ही दुनिया से जुड़े रहने का जरिया बनेंगे.

Aarogya Setu App

Android और iOS दोनों प्लेटफॉर्म पर मौजूद भारत सरकार का Aarogya Setu App को नागरिकों की सहायता करने के लिए डिजाइन किया गया है. इससे उन्हें यह जानने में मदद मिलती है कि वे किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में हैं या नहीं. इसके लिए यह ऐप स्मार्टफोन में जीपीएस और ब्लूटूथ का इस्तेमाल करता है. अगर ऐसा होता है, तो यूजर को सेल्फ आइसोलेशन का निर्देश मिलेगा. इसका लाभ उठाने के लिए, यूजर्स के लिए अपने स्मार्टफोन का ब्लूटूथ ऑन रखना और लोकेशन का एक्सेस देना जरूरी होगा.

MapMyIndia Move App

Android और iOS पर मौजूद Map MyIndia का यह कोविड 19 डैशबोर्ड स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के इनपुट के आधार पर भारत में होने वाले कुल मामलों पर नजर रख सकता है. डैशबोर्ड राज्य स्तर पर भी डेटा उपलब्ध कराता है. इसके साथ ही उपचार केंद्र, पृथकीकरण यानी आइसोलेशन सेंटर्स, खाना खिलानेवाले राहत केंद्रों और प्रवासी श्रमिकों के लिए राहत शिविर के विवरण भी बताता है. इस ऐप के जरिये यूजर्स सरकार और स्थानीय अधिकारियों को कानून या लॉकडाउन के उल्लंघन जैसे मुद्दों पर रिपोर्ट भी कर सकते हैं.

MyGov App

Android और iOS पर मौजूद यह ऐप हमें कोरोना वायरस से जुड़ी अफवाहों से सावधान करता है. कोरोना से लड़ाई के लिए सही जानकारी का होना जरूरी है. इससे हम खुद के साथ-साथ दूसरों को भी परेशानी से बचा सकेंगे. भारत सरकार के इस ऐप के जरिये लोग भारत में कोरोना के आधिकारिक मामलों की संख्या पर नजर रख सकते हैं. हिंदी और अंग्रेजी में उपलब्ध यह ऐप लगातार सक्रिय मामलों, डिस्चार्ज किये गए मामलों और मौतों की संख्या के अलावा विशेषज्ञों की राय से भी रूबरू कराता है.

Practo App

यह ऐप भी Android और iOS पर उपलब्ध है. इसकी जरूरत इसलिए है क्योंकि लॉकडाउन खुलने के बाद भी वरिष्ठ नागरिकों सहित कई लोगों के लिए घर से निकलना मुश्किल होगा. ऐसे में जरूरत पड़ने पर टेलीमेडिसिन ऐप्स के जरिये अस्पताल या क्लिनिक गये बिना पेशेंट्स अपने डॉक्टर्स के साथ जुड़ सकते हैं और अपना इलाज जारी रख सकते हैं. इसके अलावा प्राइवेट लैब्स को कोरोना टेस्ट की अनुमति दी गई है और टेलीमेडिसिन प्लेटफॉर्म प्रैक्टो ने इस टेस्ट की ऑनलाइन बुकिंग शुरू की है. कंपनी का दावा है कि इस काम के लिए उसके प्रोफेशनल्स पूरा एहतियात बरतते हैं. इस ऐप पर चैट के जरिये डॉक्टर से परामर्श लेने की सुविधा भी मौजूद है. इसके अलावा, दवाइयां घर मंगवाने के लिए आप 1mg, PharmEasy, Medlife और Netmeds जैसे ऐप्स की अपने फोन में रख सकते हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें