1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. 5g in india these 13 cities including kolkata mumbai will get 5g services in year 2022 mtj

5G in India: कोलकाता-मुंबई समेत देश के 13 शहरों को नये साल में 5G इंटरनेट सेवा देने के लिए Jio-Airtel-Vi तैयार

एयरटेल, जियो और वोडाफोन आइडिया समेत दूरसंचार परिचालकों ने गुरुग्राम, बेंगलुरु, कोलकाता, मुंबई, चंडीगढ़, दिल्ली, समेत 13 शहरों में 5जी परीक्षण स्थल स्थापित किये हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
5G in India: देश के 13 शहरों में जल्द शुरू होगी 5जी सेवाएं
5G in India: देश के 13 शहरों में जल्द शुरू होगी 5जी सेवाएं
Prabhat Khabar

5G in India: पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता और मायानगरी मुंबई समेत 13 राज्यों के लोगों को वर्ष 2022 में 5जी (5G) सेवाएं मिलने लगेंगी. इसका ट्रायल अंतिम चरण में है. दूरसंचार विभाग के वित्त पोषण वाली स्वदेशी 5जी परीक्षण (टेस्टबेड) परियोजना के 31 दिसंबर, 2021 तक पूरी होने की उम्मीद है.

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि दूरसंचार कंपनी एयरटेल (Airtel), जियो (Jio) और वोडाफोन आइडिया (Vi) समेत दूरसंचार परिचालकों ने गुरुग्राम, बेंगलुरु, कोलकाता, मुंबई, चंडीगढ़, दिल्ली, जामनगर, अहमदाबाद, चेन्नई, हैदराबाद, लखनऊ, पुणे और गांधीनगर में 5जी परीक्षण स्थल स्थापित किये हैं.

इन महानगरों और बड़े शहरों में अगले साल सबसे पहले 5जी सेवाएं शुरू हो जायेंगी. दूरसंचार विभाग ने वर्ष 2021 की उपलब्धियों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि भारत नेट (BharatNet) से लेकर वामपंथी उग्रवाद प्रभावित क्षेत्रों में मोबाइल टावरों (Mobile Towers) की स्थापना के साथ-साथ दूरसंचार क्षेत्र में वित्तीय दबाव दूर करने को लेकर सितंबर में विभिन्न सुधारों की घोषणा महत्वपूर्ण कदम रहे हैं.

दूरसंचार विभाग की विज्ञप्ति के अनुसार, दूरसंचार क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) वर्ष 2014 से 2021 के बीच करीब 150 प्रतिशत बढ़कर 1,55,353 करोड़ रुपये पहुंच गया, जो वर्ष 2002 से 2014 के दौरान 62,386 करोड़ रुपये था. इसमें कहा गया है कि दूरसंचार विभाग के वित्त पोषण वाली 5जी परीक्षण परियोजना अंतिम चरण में पहुंच गयी है.

8 एजेंसियां 5जी तकनीक पर कर रही हैं काम

इस योजना को लागू करने में 8 कार्यान्वयन एजेंसियां ​​जुटी हैं, जिसमें आईआईटी (भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान) बंबई, आईआईटी-दिल्ली, आईआईटी-हैदराबाद, आईआईटी-मद्रास, आईआईटी-कानपुर, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएससी) बेंगलुरु, सोसाइटी फॉर अप्लाइड माइक्रोवेव इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग एंड रिसर्च (एसएएमईईआर) और सेंटर फॉर एक्सलेंस इन वायरलेस टेक्नोलॉजी (सीईडब्ल्यूआईटी) शामिल हैं.

224 करोड़ की योजना 31 दिसंबर को हो जायेगी पूरी

ये एजेंसियां इस तकनीक पर 36 महीने से काम कर रही हैं. दूरसंचार विभाग की विज्ञप्ति के अनुसार, ‘करीब 224 करोड़ रुपये की लागत वाली परियोजना के 31 दिसंबर, 2021 तक पूरा होने की उम्मीद है. इससे देश में 5जी यूजर्स उपकरण और नेटवर्क उपकरण के परीक्षण का रास्ता साफ होगा....’

Posted By: Mithilesh Jha

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें