37.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

संदेशखाली में महिला ने तृणमूल नेता समेत पांच लोगों पर अपहरण कर दुष्कर्म की कोशिश का लगाया आरोप, थाने में शिकायत दर्ज

सुकांत मजूमदार ने संवाददाताओं को बताया कि प्रदर्शनकारियों पर शिकायत वापस लेने के लिए नियमित रूप से दबाव बनाया जा रहा है और धमकियां दी जा रही हैं. उन्होंने कहा कि अगवा करने के प्रयास दिखाते हैं कि टीएमसी अत्याचारों को दबाने के लिए किसी तरह का काम कर रही है.

 पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में एक महिला ने गुरुवार को तीन लोगों पर रात के समय घर के बाहर से उसके अपहरण का प्रयास करने के लिए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. संदेशखाली में तृणमूल कांग्रेस नेता के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप लगे थे. सूत्रों के मुताबिक, महिला ने इस इलाके में कथित अत्याचार के खिलाफ हुए विरोध प्रदर्शनों में सक्रिय रूप से हिस्सा लिया था.पुलिस के एक अधिकारी बताया, देर रात ढाई बजे तीन लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज करने के बाद मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. महिला ने शिकायत में दो लोगों को नामजद किया है़ फिलहाल कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है.

थाने में शिकायत दर्ज

भाजपा नेता और वकील प्रियंका टिबरेवाल द्वारा सोशल मीडिया पर साझा किए गए एक कथित वीडियो में महिला को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि उसका मुंह बंद कर उसे घर से घसीटते हुए लाया गया लेकिन जब उसकी बेटी ने शोर मचाया और स्थानीय लोग वहां पहुंचे तो अपहरणकर्ता एक तालाब के पास उसे फेंक कर फरार हो गये. प्रभात खबर इस वीडियाे की प्रामणिकता की पुष्टि नहीं करता है. महिला ने अपनी शिकायत में दावा किया कि उस पर अदालत में यह कहने के लिए दबाव डाला गया कि क्षेत्र में महिलाओं पर कथित अत्याचार ‘झूठ’ हैं. टिबरेवाल ने बुधवार को ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, आज मैं संदेशखालि गयी थी, जहां टीएमसी के लोग शेख शाहजहां को बेगुनाह साबित करने के लिए लोगों को धमका रहे हैं.

Lok Sabha Election 2024 : तृणमूल का गढ़ रहा है दक्षिण कोलकाता सीट, छह बार यहां से सांसद चुनी गयी हैं ममता बनर्जी

महिला के शोर मचाने पर भागे आरोपी

अन्वेषा मंडल नाम की एक महिला ने मुझे दिलीप मलिक के अत्याचारों के बारे में बताया, जिसने कुछ दिन पहले एक महिला को अगवा किया था इस शिकायत के बाद टीएमसी के लोगों ने उसे अगवा किया, बांधकर एक तालाब के पास मरने के लिए छोड़ दिया. हम उसे थाने लेकर गये.इस बीच, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)की राज्य इकाई के अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने संवाददाताओं को बताया कि प्रदर्शनकारियों पर शिकायत वापस लेने के लिए नियमित रूप से दबाव बनाया जा रहा है और धमकियां दी जा रही हैं. उन्होंने कहा कि अगवा करने के प्रयास दिखाते हैं कि टीएमसी अत्याचारों को दबाने के लिए किसी तरह का काम कर रही है.

Mamata Banerjee : ममता बनर्जी के बदले सुर कहा, I.N.D.I‌.A गठबंधन की सरकार तृणमूल ही बनायेगी

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें