सुरक्षा व्यवस्था हटाने से दूसरे दिन विमान सेवा का ट्रायल रूका

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

कूचबिहार : कूचबिहार के सांसद निशीथ प्रमाणिक द्वारा कूचबिहार से हवाई जहाज सेवा शुरू करने के प्रयास के बाद रविवार को राज्य सरकार की ओर से कूचबिहार हवाई अड्डा परिसर से सुरक्षा व्यवस्था को हटा लिया गया. हवाई अड्डा परिसर में सुरक्षा व्यवस्था नहीं रहने से हवाई परिसेवा पर एक बार बाधा उत्पन्न हो गयी है.

सुरक्षा व्यवस्था हटाने को लेकर हवाई अड्डा प्रबंधन ने किसी प्रकार का नोटिस मिलने से इंकार किया है. सुरक्षा व्यवस्था हटाने को लेकर सांसद निशीथ प्रमाणिक ने कहा कि हवाई परिसेवा को लेकर राजनीति की जा रही है. जिले के लोग इसके विरूद्ध जोरदार आंदोलन शुरू करेंगे.
जानकारी के अनुसार लोकसभा चुनाव में कूचबिहार में चुनाव प्रचार का मुख्य मुद्दा कुचबिहार हवाई अड्डा था. भाजपा के सांसद निशीथ प्रमाणिक ने जीतने के बाद हवाई जहाज चलाने का आश्वसन दिया था. चुनाव में जीतकर सांसद बनने के बाद हवाई अड्डा का निरीक्षण भी किया था.
अगस्त माह से कूचबिहार से हवाई जहाज चलाने का निर्णय लिया गया था. जिसको लेकर शनिवार को सांसद ने नौ सीटों के हवाई जहाज से ट्रायल कर कूचबिहार पहुंचे थे. रविवार को ट्रायल के रूप में हवाई जहाज को कूचबिहार से बागडोगरा जाना था.
सोमवार से ही बागडोगरा-कूचबिहार होते हुए गुवाहाटी के लिए जहाज चलाने की बात थी. लेकिन शनिवार को हवाई जहाज उतरने के बाद ही रविवार सुबह को अचानक हवाई अड्डा से सुरक्षा व्यवस्था हटा लिया गया. जिसके कारण रविवार को हवाई जहाज नहीं उड़ पाया. हवाई जहाज कूचबिहार हवाई अड्डा पर ही है. जिससे हवाई जहाज की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर चिंता का विषय बन गया है.
कूचबिहार हवाई अड्डा के निदेशक विप्लव मंडल ने कहा कि हम खुद सुरक्षाहीन महसूस कर रहे हैं. हवाई जहाज की सुरक्षा पर एक बड़ा प्रश्न खड़ा हो गया है. अचानक सुरक्षाकर्मी को हटा दिया गया है. हमें इस विषय को लेकर कोई चिट्ठी नहीं मिला है.
जिला शासक को फोन करने पर सम्पर्क करने की कोशिश करने पर कोई सम्पर्क नहीं हो रहा है. कूचबिहार सांसद निशिथ प्रमाणिक ने कहा कि बड़े-बड़े हवाई अड्डों पर सीआईएसएफ की सुरक्षा व्यवस्था है, लेकिन कूचबिहार, बालुरघाट, मालदा जैसे छोटे हवाई अड्डों पर राज्य सरकार सुरक्षा देती है.
कूचबिहार हवाई अड्डा पर चार साल से सुरक्षा व्यवस्था दी गयी थी. लेकिन बीते कल हवाई जहाज ट्रायल पर उतरने के बाद ही आज सुबह से सुरक्षा व्यवस्था राज्य सरकार ने हटा दिया है. यहां के जिला शासक फोन तक नहीं उठा रहे हैं. यहां के लोग इसका जवाब देंगे.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें