37.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

चार पाइपगन और 53 राउंड कारतूस के साथ भागलपुर के सागिर को किया गिरफ्तार

ये हथियार और कारतूस सागिर कोआसनसोल में किसी को देना था. उससे पहले ही एसटीएफ ने उसे पकड़ लिया.

आसनसोल. स्पेशल टास्क फोर्स (पश्चिम बंगाल) की टीम ने लंबे समय से चल रहे हथियारों के बड़े कारोबार का भंडाफोड़ किया. एसटीएफ के अवर निरीक्षक सौमाल्य आइच ने मिली सूचना के आधार पर जाल बिछाया और भागलपुर (बिहार) जिले के नाथनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत चंपानगर गांव में मस्जिद लेन घाटकिनारा इलाके के निवासी सागिर अंसारी (55) को आसनसोल साउथ थाना क्षेत्र के कालीपहाड़ी मोड़ के पास यादव होटल के निकट पकड़ा. तलाशी के क्रम में उसके पास से चार वन शटर पाइपगन, 20 राउंड नौ एमएम के कारतूस, 10 राउंड 7.65 एमएम के कारतूस, 18 राउंड आठ एमएम के कारतूस और पांच राउंड .303 के कारतूस बरामद किये गये. ये हथियार और कारतूस सागिर कोआसनसोल में किसी को देना था. उससे पहले ही एसटीएफ ने उसे पकड़ लिया. प्राथमिक पूछताछ में उसने स्वीकार किया कि वह लंबे समय से हथियार और कारतूस का कारोबार कर रहा है तथा उसने पश्चिम बंगाल के विभिन्न इलाकों में भारी संख्या में हथियार और कारतूस की आपूर्ति की है.

अवर निरीक्षक श्री आइच की शिकायत पर आसनसोल साउथ थाना में कांड संख्या 158/24 में 25(1a)/25(B)(a)(6)(8)/27 आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज हुआ है. जांच का दायित्व आसनसोल साउथ थाना के अवर निरीक्षक गौतम कर्मकार को सौंपा गया है. श्री कर्मकार ने शुक्रवार को आरोपी को अदालत में पेश किया और सात दिनों की पुलिस रिमांड की अपील की. अदालत ने छह दिनों की रिमांड मंजूर की. पुलिस को उम्मीद है कि अवैध हथियार के कारोबार से जुड़े और अवैध हथियार रखनेवाले कइयों के नामों का खुलासा हो सकता है.

गौरतलब है कि चुनाव के दौरान जांच व्यवस्था इतनी कड़ी रहने के बावजूद भी एसटीएफ के इस अभियान में इतनी भारी मात्रा में हथियार व कारतूस के पकड़े जाने से पुलिस की परेशानी बढ़ गयी. प्राथमिक जांच में पकड़े गये आरोपी सागिर ने यह स्वीकार किया है कि यह हथियार व कारतूस वह आसनसोल में किसी को देने के लिये आया था और इससे पहले भी वह आसनसोल सहित राज्य के विभिन्न इलाकों में भारी मात्रा में हथियार व कारतूस की आपूर्ति कर चुका है. चुनाव के दौरान इतनी भारी मात्रा में हथियार और कारतूस की क्या जरूरत है? इसका जवाब पुलिस ढूंढने में पुलिस जुट गयी है.

आसनसोल में जिसे देना था हथियार पुलिस कर रही है उसकी तलाश

सागिर ने प्राथमिक पूछताछ में बताया कि इन हथियारों की डिलिवरी उसे आसनसोल में करनी थी. जिसे हथियार देना था उसे वह अच्छी तरह से पहचानता है और इससे पहले भी सागिर ने उसे भारी मात्रा में हथियार और कारतूस की सप्लाई की है. पुलिस उस व्यक्ति की तलाश में जुट गयी है. उसके गिरफ्तार होते ही और कइयों के नामों का खुलासा होने की संभावना प्रबल है. इतनी भारी मात्रा में हथियार और कारतूस की खपत आसनसोल में कहां और कैसे होती है? इसकी जांच भी की जा रही है.

हथियार लेकर भागलपुर से निकलते ही एसटीएफ अधिकारी को मिल गयी थी सूचना

सूत्रों के अनुसार सागिर हथियार और कारतूस का जखीरा लेकर जब भागलपुर से निकला, उसी समय एसटीएफ के अवर निरीक्षक श्री आइच को इसकी जानकारी मिल गयी. उन्होंने तुरंत इसकी सूचना अपने वरिष्ठ अधिकारियों को दी. वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर एक टीम गठित हुई और टीम को रवाना किया गया. वरिष्ठ अधिकारी पूरे मामले को अपने निगरानी में रखे हुए थे और समय-समय पर जरूरी दिशानिर्देश दे रहे थे. आखिरकार एसटीएफ टीम को सफलता मिल गयी.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें