1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. birbhum violence another woman dies in hospital in bagtui massacre total 10 people lost their lives vwt

बीरभूम हिंसा : बागतुई नरसंहार में एक और महिला की अस्पताल में हो गई मौत, अब तक कुल 10 की चली गई जान

पिछले 21 मार्च की रात बागतुई में तृणमूल नेता और उप प्रधान भादू शेख की बमबारी में हुई हत्या के बाद गांव में हिंसा भड़क गई थी. हिंसा के बाद अराजक तत्वों ने गांव के 10 घरों में आग लगाकर सात लोगों की जिंदा जलाकर हत्या कर दी थी.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बागतुई गांव में चल रही है जांच
बागतुई गांव में चल रही है जांच
फोटो : प्रभात खबर

बीरभूम : पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के रामपुरहाट एक नंबर ब्लॉक के बड़शाल ग्राम पंचायत बागतुई गांव में पिछले महीने घरों में आग लगाकर किए गए नरसंहार में बुरी तरह से घायल एक महिला की रविवार को मौत हो गई. महिला का रामपुरहाट मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इलाज किया जा रहा था. इस नरसंहार में मरने वालों की संख्या बढ़कर 10 हो गई. इससे पहले, नौ लोगों की जान चली गई थी. मरने वालों में एक शिशु और नवदंपति समेत कई महिलाएं शामिल हैं.

तीन लोगों की अस्पताल में हुई मौत

अस्पताल सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, रामपुरहाट मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती महिला का नाम आताहार बीबी है. पिछले 21 मार्च की रात बागतुई में तृणमूल नेता और उप प्रधान भादू शेख की बमबारी में हुई हत्या के बाद गांव में हिंसा भड़क गई थी. हिंसा के बाद अराजक तत्वों ने गांव के 10 घरों में आग लगाकर सात लोगों की जिंदा जलाकर हत्या कर दी थी. इसके बाद इस घटना में बुरी तरह झुलसी पांच लोगों को रामपुरहाट मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती किया गया था. इनमें आताहार बीबी समेत तीन लोगों ने अस्पताल में ही इलाज के दौरान दम तोड़ दिया.

सीबीआई कर रही है जांच

कलकत्ता हाईकोर्ट के आदेश के बाद बागतुई गांव नरसंहार कांड की जांच सीबीआई कर रही है. इसके साथ ही, सीबीआई टीएमसी नेता भादू शेख की हत्या की भी जांच कर रही है. इस मामले में 28 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है, जिनमें दो नबालिग भी शामिल हैं. इस नरसंहार मामले में खुद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हस्तक्षेप करते हुए रामपुरहाट एक ब्लॉक के तृणमूल पार्टी अध्यक्ष अनारूल हुसैन को गिरफ्तारी का निर्देश पुलिस को दिया था. इसके बाद हरकत में आई पुलिस ने तृणमूल कांग्रेस के नेता अनारूल हुसैन को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ मामला चल रहा है.

14 दिनों की न्यायिक हिरासत में आरोपी

बीरभूम जिला जुबेनाइल बोर्ड ने शनिवार को एक बार फिर दोनों नाबालिगों रिमांड पर लेने और पॉलीग्राफ टेस्ट की अर्जी को खारिज कर दिया था. सीबीआई का कहना है कि पॉलीग्राफ टेस्ट से अनारूल हुसैन समेत अन्य की जांच करने पर इस मामले से सही तथ्य निकल कर सामने आ सकते है. मामले को लेकर सीबीआई ने गिरफ्तार 5 आरोपियों को रामपुरहाट महकमा अदालत में रिमांड की अवधि से शेष होने पर पेश किया था, लेकिन अदालत ने सीबीआई को दोबारा रिमांड नहीं दिया और आरोपियों को 14 दिनों के लिए जेल हिरासत में भेज दिया है.

मामले को पेचीदा बनाने में जुटे हैं आरोपी

सीबीआई सूत्रों का कहना है कि बागतुई नरसंहार मामले में एविडेंस तथा गिरफ्तार आरोपियों को राजनीति स्तर पर भ्रमित करने की कोशिश की जा रही है. गिरफ्तार आरोपी मामले को और पेचीदा बनाने की कोशिश कर रहे हैं. हालांकि, सीबीआई का यह भी कहना है कि इस मामले की निष्पक्ष जांच की जा रही है. जल्द ही इस मामले से पर्दा उठ जाएगा.

सीबीआई को हाथ लगी भादू शेख की डायरी

उधर, खबर यह भी है कि सीबीआई को टीएमसी भादू शेख की तीन डायरी मिली है और उससे कई महत्वपूर्ण तथ्य मिले हैं. डायरी से मिली जानकारी के आधार पर खुलासा किया गया है कि कई आला अधिकारी और राजनीतिक नेता काले कारोबार से होने वाली मोटी कमाई का हिस्सा लेते थे. आताहार बीबी की मौत के बाद इस मामले में सीबीआई को मृतक परिवार के लोगों से और कई तथ्य मिल सकते हैं.

रिपोर्ट : मुकेश तिवारी

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें