810 लीटर नकली शराब व 210 लीटर स्प्रिट जब्त, दो गिरफ्तार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

मंगलवार तड़के दक्षिण माझाबाड़ी के पाड़ागाछी में चलाया गया छापेमारी अभियान

सिलीगुड़ी : गुप्त सूत्रों से खबर मिलने के बाद आबकारी विभाग तथा विधान नगर इन्वेस्टिगेशन सेंटर ने दक्षिण माझाबाड़ी के पाड़ागाछी इलाके में संयुक्त रूप से छापेमारी अभियान चलाया. जिसमें भारी मात्रा में नकली शराब जब्त किया. इसके साथ दो लोगों को पकड़ा गया. गिरफ्तार लोगों के नाम मंजूर सोरेन (24) तथा रंजीत सोरेन (41) बताया गया है.
आबकारी विभाग के मुताबिक जब्त शराब की कीमत 10 लाख के आसपास है. गिरफ्तार दोनों आरोपियों को मंगलवार सिलीगुड़ी कोर्ट में पेश किया गया. जहां 14 दिनों के लिए पुलिस रिमांड की अपील की गयी.
प्राप्त जानकारी के मुताबिक आबकारी विभाग को गोपनीय सूत्रों से खबर मिली थी कि विधान नगर के कुछ इलाकों से बिहार जानेवाली गाड़ियों में चोरी-छिपे शराब की तस्करी हो रही है. सुराग मिलने के बाद पिछले कुछ दिनों से आबकारी विभाग और विधान नगर इन्वेस्टिगेशन सेंटर इस गोरखधंधे की जांच-पड़ताल करने में जुटी हुई थी.
बताया जा रहा है कि मंगलवार तड़के आबकारी विभाग व विधान नगर इन्वेस्टिगेशन सेंटर की टीम ने संयुक्त रूप से दक्षिण माझाबाड़ी अंतर्गत पाड़ागाछी इलाके में छापेमारी अभियान चलाया. जिसमें नकली शराब को बरामद किया गया. इस संबंध में नक्सलबाड़ी आबकारी अंचल के ओसी संजय कुमार चक्रवर्ती ने बताया कि उन्हें गत सात दिसंबर को ही विधान नगर थाना दक्षिण माझाबाड़ी के पाड़ागाछी इलाके में नकली शराब के कारोबार की खबर मिली थी. जिसके बाद उन लोगों ने आठ दिसम्बर को खबर की पुष्टि के लिए अपने आदमी को वहां भेजा.
उन्होंने बताया कि मंगलवर सुबह पांच बजे उन लोगों ने उस इलाके में छापेमारी शुरू की. उन्होंने बताया कि इस अभियान में 810 लीटर नकली शराब के साथ 210 लीटर कच्चा स्प्रिट जब्त किया गया. इसके साथ कई नामी कंपनियों के शराब की बोतल, रैपर व लेबल भी बरामद हुआ. उन्होंने बताया कि जब्त शराब व अन्य सामान का मूल्य करीब 10 लाख के आसपास है.
उन्होंने आशंका जताते हुए कहा कि संभवत: नकली शराब को नामी कंपनियों के बोतल में पैक करके बिहार समेत बंगाल के अन्य जगहों पर भेजे जाने की योजना थी. उन्होंने कहा कि गिरफ्तार दोनों लोगों से पूछताछ की जा रही है. इस छापेमारी अभियान के दौरान विधान नगर थाना पुलिस का भी काफी सहयोग मिला.
उन्होंने कहा कि नकली शराब के खिलाफ आबकारी विभाग का छापेमारी अभियान लगातार जारी रहेगा. ज्ञात हो कि बिहार में शराब बंदी के बाद इसकी तस्करी बंगाल, झारखंड से व्यापक पैमाने पर होने लगी है. बिहार में शराब की तस्करी के लिए कारोबारियों द्वारा सिलीगुड़ी को कारिडोर की तरह इस्तमाल किया जा रहा है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें