36.2 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Rajya Sabha Election 2024 : यूपी की 10 खाली सीटों पर मतदान जारी, अखिलेश यादव की होगी पॉलिक्टिस मैनेजमेंट की अग्निपरीक्षा

Rajya Sabha Election 2024 : यूपी में 10 राज्यसभा सीटों पर आज होने जा रहे मतदान में एनडीए बनाम इंडी एलायंस के बीच कड़ी टक्कर होगी. चुनाव में अखिलेश यादव पर क्रॉस वोटिंग को रोकने को लेकर पॉलिटिक्स मैनेजमेंट की बड़ी परीक्षा होगी.

Rajya Sabha Election 2024 : यूपी में 10 राज्यसभा सीटों पर आज होने जा रहे मतदान के लिए भाजपा के 8 और समाजवादी पार्टी के 3 उम्मीदवार मैदान में हैं. यूपी में एनडीए बनाम इंडी एलायंस के बीच होने जा रहे चुनाव में अखिलेश यादव पर क्रॉस वोटिंग को रोकने को लेकर पॉलिटिक्स मैनेजमेंट की बड़ी परीक्षा मानी जा रही है. समाजवादी पार्टी की ओर से आलोक रंजन उम्मीदवार होंगे और उनके सामने बीजेपी के आठवें उम्मीदवार संजय सेठ होंगे. प्रथम वरीयता के हिसाब से समाजवादी पार्टी के पास 34 विधायक और बीजेपी के पास 29 विधायक मौजूदा समय में हैं. ऐसे में राजनीतिक जानकारों का कहना है कि क्रॉस वोटिंग होने पर ही समाजवादी पार्टी का उम्मीदवार चुनाव हारेगा. फिलहाल जन सत्ता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष रघुराज प्रताप सिंह ने साफ कर दिया है कि भाजपा को वह और उनके विधायक वोट करेंगे. वहीं समाजवादी पार्टी ने सोमवार की की शाम अपने विधायकों के साथ बैठक कर राज्यसभा चुनाव के लिए होने वाले मतदान को लेकर चर्चा की. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रात में अपने विधायकों को पार्टी कार्यालय में भोज भी दिया था. इसमें 7-8 विधायकों के गैर हाजिर रहने की बात सामने आई है. सपा अपने विधायकों को एकजुट करने में पिछले तीन दिनों से जुटी हुई थी. क्रास वोटिंग की अटकलों पर सपा की ओर से दावा किया गया है कि हम एकजुट हैं. जानकारी के मुताबिक सपा ने अपने सभी विधायकों को आज सुबह 10.00 बजे पार्टी कार्यालय में बुलाया है. वहीं पर सभी विधायकों को उम्मीदवारों का कोटा आवंटित किया जाएगा. इसमें बताया जाएगा कि कौन से विधायक किसको किस वरियताक्रम में वोट करेगा. इसके बाद सभी विधायक एक साथ विधान भवन के लिए जाएंगे और वोट करेंगे. सपा खेमे से भाजपा उम्मीदवारों के लिए संभावित क्रॉस वोटिंग की अटकलें सोमवार को दिनभर लगाई जाती रही. जिसमें तीन ब्राह्मण, दो क्षत्रिय, एक पूर्व मंत्री की विधायक पत्नी को लेकर अटकलें हैं. हालांकि, सपा नेतृत्व का कहना है कि कोई क्रॉस वोटिंग नहीं होगी.

यहां जानें क्या है प्रथम वरीयता और दूसरे वरीयता

राज्यसभा चुनाव में वोटिंग करने की एक प्रक्रिया है. राज्यसभा चुनाव कोई गुप्त मतदान नहीं होता और न इसमें ईवीएम का प्रयोग होता. यहां हर उम्मीदवार के नाम के आगे एक से चार तक का नंबर लिखा होता है. विधायकों को वरीयता के आधार पर राज्यसभा उम्मीदवार के नाम से ऊपर निशान लगाना होता है. एक विधायक एक ही बार वोट दे सकता है. विधायक प्राथमिकता के आधार पर वोट देते हैं. उनको बताना होता है कि उनकी पहली पसंद कौन है और दूसरी कौन. पहली पसंद के वोट जिसे मिलेंगे, उसे जीता माना जाता है. समाजवादी पार्टी को अपने तीसरे उम्मीदवार को जिताने के लिए तीन अतरिक्त वोट चाहिए. जिसके लिए वरियता के आधार पर तीसरे नंबर के उम्मीदवार के लिए काफी चुनौती है. इसीलिए सपा अपने विधायकों को एकजुट करने के साथ ट्रेनिंग दे रही है. वहीं रामगोपाल ने समाजवादी पार्टी की बैठक में बताया कि राज्यसभा चुनाव के मतपत्र में विधायक को उसके आवंटित प्रत्याशी के समक्ष केवल एक खड़ी लाइन खींचनी है. किसी भी दूसरे खाने को छूनी नहीं चाहिए. मतपत्र में अपने पेन से वोट नहीं देंगे. पीठाशीन के द्वारा दिए गए पेन का ही इस्तेमाल करना होगा. इसके बाद सभी विधायकों को अपना मत पोलिंग एजेंट को दिखाकर डालना होगा. सपा ने राज्यसभा चुनाव में मतदान कैसे करना है इसका प्रशिक्षण अपने पार्टी के विधायकों को डमी मतपत्र के जरिए दिलवाया है.

समाजवादी पार्टी के ये विधायक नहीं आ सकेंगे डालने वोट

समाजवादी पार्टी के विधायक इरफान सोलंकी वोटिंग नहीं कर पाएंगे, क्योंकि कोर्ट ने उन्हें आगामी राज्यसभा चुनाव में वोट करने से रोक दिया है. जेल में बंद सपा विधायक रामकांत यादव और इरफान सोलंकी को मतदान की अनुमति देने के लिए हाईकोर्ट में अर्जी लगाई गई है. सपा सूत्रों का कहना है कि रमाकांत यादव को सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिल गई है, लेकिन प्रक्रियागत औपचारिकताएं पूरी होने में समय लगने के कारण वे जेल से बाहर नहीं आ सके हैं. इसलिए उन्हें मतदान की अनुमति देने के लिए हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया गया है. एमपी-एमएलए कोर्ट ने इरफान सोलंकी की अनुमति की अर्जी खारिज कर दी है. वहीं सुहेलदव भारतीय समाज पार्टी के सिंबल पर चुनाव जीते अब्बास अंसारी भी जेल में बंद है. बहुजन समाज पार्टी के टिकट से सांसद रितेश पांडे ने भारतीय जनता पार्टी का अब दामन थाम लिया है. रितेश पांडे अम्बेडकर नगर सीट से बसपा के सांसद. रितेश पांडे ने भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया है. सवाल उठता है कि उनके पिता, राकेश पांडे जो कि समाजवादी पार्टी से विधायक हैं, क्या सपा को वोट करेंगे या फिर वह भी राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग कर सकते हैं? अगर वह क्रॉस वोटिंग करते हैं तो फिर अखिलेश के लिए और मुश्किल हो जाएगी. इसके अलावा अन्य सपा के विधायकों को लेकर चर्चा है.

बीजेपी ने 8 तो सपा ने 3 उतारे उम्मीदार

बता दें कि राज्यसभा की 10वीं सीट पर समाजवादी पार्टी और भाजपा के बीच फाइट होनी है, जिसके लिए दोनों ही दल सियासी जोड़तोड़ और गणित बैठाने में जुटे हैं. बीजेपी की तरफ से राज्यसभा चुनाव में आरपीएन सिंह, चौधरी तेजवीर सिंह, अमरपाल मौर्य, संगीता बलवंत, सुधांशु त्रिवेदी, साधना सिंह, नवीन जैन और संजय सेठ चुनावी मैदान में है. वहीं समाजवादी पार्टी से जया बच्चन, रामजी लाल सुमन और रिटायर्ड आईएएस आलोक रंजन राज्यसभा प्रत्याशी हैं. बीजेपी के आठवें उम्मीदवार संजय सेठ हैं जबकि सपा का तीसरा प्रत्याशी अभी तय नहीं है. देखना दिलचस्प होगा कि 11 उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे हैं. विधायकों की संख्या के आधार पर बीजेपी की 7 और सपा की 2 राज्यसभा सीट पर जीत तय है. बीजेपी आठवे उम्मीदवार संजय सेठ को जिताने की जुगत में है तो सपा ने वरीयता के आधार पर अपना तीसरा उम्मीदवार आलोक रंजन को बनाया है.

यहां जानें यूपी विधान सभा में विधायकों की संख्या

बता दें कि यूपी विधान सभा में वर्तमान विधायकों की संख्या 399 है. जिनमें से 3 विधायक जेल में बंद हैं और चार का निधन हो चुका है. अब तक कुल 396 विधायक बचे हैं. बीजेपी के 252, सपा के 108, अपना दल एस के 13, राष्ट्रीय लोक दल के 9, निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल के 6, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के 2, जनसत्ता लोकतांत्रिक दल के 2 और बहुजन समाज पार्टी के 1 विधायक हैं.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें