1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. cm yogi adityanath said goddhoia nala became a model of cleanliness and beauty in gorakhpur sht

Gorakhpur News: गोरखपुर में स्वच्छता-सौंदर्य का प्रतिमान बनेगा गोड़धोइया नाला, सीएम योगी ने दिए निर्देश

गोरखपुर में अपने दौरे के दूसरे दिन सीएम योगी ने गोंडधोइया नाले का निरीक्षण किया. मुख्यमंत्री ने जल भराव की समस्या का स्थाई समाधान निकालने के लिए रूपरेखा तय की.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Gorakhpur
Updated Date
गोंडधोइया नाले का निरीक्षण करते सीएम योगी
गोंडधोइया नाले का निरीक्षण करते सीएम योगी
Prabhat khabar

Gorakhpur News: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दो दिवसीय गोरखपुर दौरे का आज यानी 17 मार्च को दूसरा दिन है. मुख्यमंत्री ने 942 करोड रुपए की लागत से गोमती रिवर फ्रंट की तर्ज पर बन रहे गोडधोइया नाले का निरीक्षण किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि नाले को इस तरह से विकसित किया जाए की जल निकासी में कोई व्यवधान न आए और सड़क पर हरियाली भी नजर आए. उन्होंने विकास कार्यों की गुणवत्ता और समय सीमा के अंदर ही कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए. साथ ही भ्रष्टाचार की शिकायत मिलने पर कड़ी कार्रवाई की बात कही.

सीएम योगी ने किया गोंडधोइया नाले का निरीक्षण

सीएम योगी, फर्टिलाइजर कारखाना परिसर में बन रहे सैनिक स्कूल का निरीक्षण करने के बाद गोंडधोइया नाले का निरीक्षण करने बिछिया पहुंचे. मुख्यमंत्री ने नाले की सफाई के साथ इसके दोनों तरफ सात-सात मीटर चौड़ी सड़क बनाने को भी कहा है. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को दिशा निर्देश दिया कि रेलवे लाइन के बगल की जगह को तालाब के रूप में विकसित करें

जल भराव की समस्या का निकलेगा स्थाई समाधान

निरीक्षण के दौरान नगर आयुक्त ने अब तक हुए कार्यों के बारे में मुख्यमंत्री को जानकारी दी. इसके अलावा मुख्यमंत्री ने वहां के पार्षद को मौके पर बुलाकर कार्य की जानकारी ली. दरअसल, दशकों से उपेक्षा का शिकार और गंदगी का पर्याय रहे गोंडधोइया नाले का निरीक्षण करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वहां पहुंचे. मुख्यमंत्री ने जल भराव की समस्या का स्थाई समाधान की रूपरेखा तय की और शहर के बड़े हिस्से को हरियाली की सौगात देने का खाका भी तैयार किया.

कमिश्नरी सभागार में अधिकारियों के साथ की बैठक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 9 किलोमीटर लंबे नाले की सफाई और नाले की दोनों तरफ 7 मीटर चौड़ी सड़क बनाने को भी कहा है. इस नाले के तैयार हो जाने से शहर के 50 फीसदी हिस्से में जलभराव की समस्या का स्थाई समाधान मिल जाएगा. नालों में गंदगी ना जाए इसके लिए भी अधिकारियों को निर्देशित किया है और जगह-जगह पर डस्टबिन की व्यवस्था करने के लिए भी अधिकारियों को निर्देश दिया इसके बाद सीएम ने कमिश्नरी सभागार में अधिकारियों के साथ बैठक कर विकास कार्यों की समीक्षा की.

रिपोर्ट- कुमार प्रदीप

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें