30.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Pune Porsche Accident: पुलिस का ताबड़तोड़ एक्शन, ब्लड सैंपल की हेरफेर के आरोप में तीन गिरफ्तार

Pune Porsche Accident: पुणे के पोर्शे कार हादसा मामले में पुलिस का ताबड़तोड़ एक्शन जारी है. पुलिस ने ब्लड रिपोर्ट में हेरफेर करने के आरोप में दो डॉक्टरों और एक अस्पताल कर्मचारी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं आरोपी के पिता को भी हिरासत में ले लिया है.

Pune Porsche Accident: पुणे पुलिस ने बताया कि नाबालिग आरोपी के खून के नमूने में हेरफेर में कथित संलिप्तता के लिए एक और आरोपी को गिरफ्तार किया है. इससे पहले ससून अस्पताल के दो डॉक्टरों को भी ब्लड रिपोर्ट में हेरफेर करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. वहीं हादसा मामले में पुणे पुलिस ने सोमवार को दावा किया कि रक्त के नमूनों को ससून अस्पताल के एक चिकित्सक के निर्देश पर कूड़ेदान में फेंक दिया गया था और किसी अन्य व्यक्ति के नमूनों को उसके रक्त का नमूना बता दिया गया था.


ब्लड रिपोर्ट में हेरफेर मामले में तीन आरोपी गिरफ्तार
पुलिस ने बताया की नाबालिग आरोपी के खून जांच में हेरफेर करने वाले तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. यहीं नहीं रक्त नमूने में हेरफेर मामले में गिरफ्तार सभी तीन आरोपियों को 30 मई तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है. आरोपियों में दो डॉक्टर, फोरेंसिक मेडिसिन विभाग के एचओडी डॉ अजय तवरे और सीएमओ डॉ श्रीहरि हल्नोर और ससून अस्पताल के एक अन्य कर्मचारी अतुल घटकमल्बे शामिल हैं.

https://x.com/ANI/status/1795058649880314247

पैसे के लालच में बदला गया ब्लड सैंपल
गौरतलब है कि नाबालिग आरोपी ने कथित तौर पर नशे की हालत में अपनी लग्जरी पोर्श कार से दो बाइक सवारों को टक्कर मार दी थी. जिसमें दो लोगों की मौत हो गई थी. हादसे के बाद रिपोर्ट में दावा किया गया था आरोपी ने शराब नहीं पी थी, लेकिन सीसीटीवी फुटेज में वह अपने दोस्तों के साथ बार में शराब पीते साफ दिखाई दे रहा था. दरअसल आरोप है कि पैसे के लालच में ससून अस्पताल के डॉक्टर ने नाबालिग का ब्लड सैंपल बदल दिया था.

विशाल अग्रवाल को हिरासत में लेने के इजाजत
महाराष्ट्र के पुणे की एक अदालत ने कार दुर्घटना में शामिल नाबालिग आरोपी के पिता विशाल अग्रवाल को उनके चालक के अपहरण और बंधक बनाने के सिलसिले में यरवदा केंद्रीय जेल से हिरासत में लेने की सोमवार को अनुमति दे दी है. अग्रवाल अपने और दो पब के प्रबंधकों और मालिकों के खिलाफ किशोर न्याय अधिनियम के तहत दर्ज एक मामले में न्यायिक हिरासत में हैं और केंद्रीय जेल में बंद हैं. पुणे पुलिस ने अपहरण और बंधक बनाने के मामले में विशाल अग्रवाल के पेशी वारंट के लिए एक आवेदन दायर किया था. पुणे पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि कोर्ट ने किशोर के पिता के पेशी वारंट के आवेदन को मंजूर कर लिया है और उन्हें जेल से हिरासत में लिया जाएगा. भाषा इनपुट के साथ

Also News: Weather Forecast: गर्मी से जूझ रहे लोगों के लिए खुशखबरी, 5 दिनों में दस्तक दे सकता है मानसून

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें