1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. highest single day coronavirus infection recorded in jharkhand

झारखंड में कोरोना ब्लास्ट : एक दिन में कोविड-19 के रिकॉर्ड 42 मामले सामने आये, 18 लोग अकेले गढ़वा में

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
जमशेदपुर में 9 मरीज मिले हैं.
जमशेदपुर में 9 मरीज मिले हैं.
Prabhat Khabar

रांची : झारखंड में बुधवार (20 मई, 2020) को कोरोना ब्लास्ट हुआ. यहां एक साथ 42 लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई. इसके साथ ही प्रदेश में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 290 पहुंच गयी है. सबसे ज्यादा 18 मरीज अकेले गढ़वा जिला में मिले हैं. जमशेदपुर में 9, हजारीबाग से 6, कोडरमा से 5, गिरिडीह से 2, गुमला और सरायकेला से 1-1 मामलों की पुष्टि हुई. एक दिन में एक साथ इतने मामले सामने आने से प्रशासन की चिंता बढ़ गयी है.

गढ़वा में जो 18 लोगो कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं, इनमें से 14 कोरवाडीह के रहने वाले हैं, जबकि 3 पिपरी ( बिसुनपुरा ) और 1 टड़हे ( मझिआंव ) का बताया जा रहा है. जमशेदपुर के सभी 5 मरीज बाहर से लौटे हुए लोग हैं. गिरिडीह के दोनों कोरोना संक्रमित व्यक्ति प्रवासी श्रमिक हैं. दोनों गुजरात के सूरत से लौटे हैं.

गुमला में 19 साल की एक युवती कोरोना से संक्रमित मिली है. वह गुमला जिला के कामडारा थाना क्षेत्र की रहने वाली है. वह 14 मई को मुंबई से लौटी थी. यह युवती गुमला की तीसरी कोरोना संक्रमित मरीज है. वह एसिम्पटोमैटिक मरीज है और अब उसे गुमला के सदर अस्पताल में शिफ्ट किया जा रहा है.

हजारीबाग में जो व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया है, वह देश की आर्थिक राजधानी मुंबई से आया था. वह हजारीबाग सदर थाना क्षेत्र का रहने वाला है. फिलहाल उसे हजारीबाग के कोरेंटिन सेंटर में रखा गया है. वहीं सरायकेला जिला के चांडिल प्रखंड के रसुनिया गांव निवासी 25 वर्षीय कोरोना संक्रमित व्यक्ति महाराष्ट्र के पुणे से सड़क के रास्ते अपने गांव पहुंचा. वह पुणे से पैदल ही आ गया था. इसके बाद उसे चांडिल पॉलिटेक्निक कॉलेज के कोरेंटिन सेंटर में रखा गया था.

रांची के राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) के लैब में बुधवार को 504 सैंपल की जांच की गयी. इसमें 481 की रिपोर्ट निगेटिव आयी, जबकि 23 लोगों में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया.

इन 32 नये मामलों के साथ प्रदेश में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 281 हो गयी है. अब सबसे ज्यादा कोविड19 के 44 मरीज गढ़वा जिला में हो गये हैं. यहां पहले से 26 लोग कोरोना से संक्रमित थे. इसके बाद हजारीबाग में 30 मरीज हैं. रांची में इस वक्त 14 लोग कोरोना के संक्रमण की चपेट में हैं.

इसके अलावा धनबाद में 4, गिरिडीह में 9, कोडरमा में 13, पलामू में 7, पूर्वी सिंहभूम में 11, लातेहार में 4, लोहरदगा में 2, रामगढ़ में 3, गुमला में 3, सरायकेला में 2, सिमडेगा, देवघर, और पश्चिमी सिंहभूम में एक-एक व्यक्ति इस जानलेवा विषाणु की चपेट में हैं.

गिरिडीह के दोनों मरीज जमुआ ब्लॉक के चनमानो गांव के रहने वाले हैं. दोनों गुजरात के सूरत से लौटे हैं. वहीं, जमशेदपुर के गोविंदपुर में 18 साल की लड़की और उसके माता-पिता में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है. 10 मई को लड़की का इलाज कराकर दिल्ली से लौटे थे. एक मरीज मानगो का रहने वाला है, जो मुंबई से आया था. वह प्याज का कारोबारी है. एक अन्य मरीज कोयला डुमरी का है, जो बेंगलुरु से आया था.

कोडरमा में कोरोना से संक्रमित लोगों में दो लोग एक ही परिवार के हैं. 31 साल की महिला और उसकी 6 साल की बच्ची को कोरोना का संक्रमण हुआ है. महिला जयनगर प्रखंड के ककरचोली की रहने वाली है. वह सूरत से लौटी है. गुजरात से लौटने के बाद उसे कस्तूरबा स्कूल के कोरेंटिन सेंटर में रखा गया था.

वहीं, तीन अन्य लोग चंदवारा प्रखंड के रहने वाले हैं, जो महाराष्ट्र से हाल ही में लौटे हैं. इनमें से एक 25 साल का युवक बेंदी पंचायत का रहने वाला है, तो दूसरा 29 साल का युवक जोंगी का. तीसरा व्यक्ति 35 वर्ष का है, जो चंदवारा का रहने वाला है. इस तरह कोडरमा में अब कोरोना के 13 सक्रिय केस हैं. एक मरीज ठीक हो चुका है.

ज्ञात हो कि जिन जिलों में या जिन स्थानों पर कोविड19 के केस मिले, वहां सरकार ने कंटेनमेंट जोन बना दिया. यानी इस क्षेत्र से कोई बाहर नहीं निकलेगा और न ही कोई अंदर जा पायेगा. लोगों ने सख्ती से इसका पालन किया. लोगों ने संयम का परिचय दिया, तो कंटेनमेंट जोन से बाहर भी आ गये हैं.

राज्य भर में कुल 83 कंटेनमेंट जोन बन चुके थे. इनमें से 37 जोन से तमाम पाबंदियां हटा दी गयी हैं और अब ये क्षेत्र कंटेनमेंट जोन नहीं रह गये हैं. ये वे क्षेत्र हैं, जहां से पिछले 14 दिनों में वहां कोई केस नहीं आया. इसलिए इन क्षेत्रों को अब खोला जा रहा है.

इस बीच, रेलवे स्टेशनों पर हर तरह के स्टॉल तुरंत प्रभाव से खोलने की अनुमति दे दी गयी है. कहा गया है कि लोग स्टेशनों पर बने फूड प्लाजा में बैठकर खाना नहीं खा सकेंगे. हां, फूड प्लाजा से खाना पैक करवाकर लोग ले जा सकेंगे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें