30.8 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

झामुमो ने बाबूलाल को विधायकों का होलसेलर बताया, तो भाजपा ने किया पलटवार

रांची : झारखंड विकास मोर्चा प्रजातांत्रिक (जेवीएम-पी) के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में विलय पर झारखंड मुक्ति मोर्चा ने बाबूलाल मरांडी पर जोरदार हमला किया. सत्तारूढ़ दल ने बाबूलाल को विधायकों का होलसेलर बता दिया. साथ ही मैनहर्ट की जांच की भी मांग की. इस पर भाजपा ने पलटवार किया. पार्टी ने कहा कि भारत […]

रांची : झारखंड विकास मोर्चा प्रजातांत्रिक (जेवीएम-पी) के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में विलय पर झारखंड मुक्ति मोर्चा ने बाबूलाल मरांडी पर जोरदार हमला किया. सत्तारूढ़ दल ने बाबूलाल को विधायकों का होलसेलर बता दिया. साथ ही मैनहर्ट की जांच की भी मांग की. इस पर भाजपा ने पलटवार किया. पार्टी ने कहा कि भारत के संसदीय इतिहास में खरीद-फरोख्त की राजनीति का सुपरसेलर झामुमो रहा है. उसने कहा कि यदि मैनहर्ट की जांच होती है, तो सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुरूप सांसद रिश्वतकांड की भी फाइल फिर से खुलनी चाहिए.

झारखंड प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा मैनहर्ट की जांच विजिलेंस कर चुकी है. उसे इसमें कोई आनियमितता नहीं मिली. भाजपा को किसी भी जांच से परहेज नहीं है, बशर्ते वह निष्पक्ष हो. साथ ही श्री शाहदेव ने कहा कि जब पुरानी फाइलों की जांच हो रही है, तो वर्ष 2014 के सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के आलोक में झामुमो रिश्वतकांड की भी फाइल को दोबारा खोला जाना चाहिए. उसकी भी जांच होनी चाहिए.

श्री शाहदेव ने कहा कि झामुमो के महासचिव आधी-अधूरी जानकारी मीडिया को देते हैं. उन्होंने कहा कि मैनहर्ट का मुद्दा पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी के कार्यकाल का था ही नहीं, लेकिन उन्होंने इसे बाबूलाल के कार्यकाल का बता दिया. असल में झारखंड विकास मोर्चा के भाजपा में विलय से झामुमो परेशान हो गया है. उसके नेता कुछ भी बोल रहे हैं.

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि झामुमो रिश्वतकांड के अलावा ऐसा कोई दूसरा उदाहरण नहीं है, जब रिश्वत के 3 करोड़ रुपये पंजाब नेशनल बैंक के नयी दिल्ली स्थित नरोरा ब्रांच में रखा गया हो. झामुमो को बताना चाहिए कि घूस लेने के बाद उन्हें जो इनकम टैक्स जमा करने का नोटिस मिला था, उसके आलोक में इन्होंने घूस के पैसे पर अभी तक इनकम टैक्स दिया है या नहीं.

प्रतुल ने कहा झारखंड मुक्ति मोर्चा बाबूलाल मरांडी को विधायकों का होलसेलर बताते समय यह भूल जाता है कि भारत के संसदीय इतिहास में हॉर्स ट्रेडिंग शब्द की शुरुआत ही झारखंड मुक्ति मोर्चा ने की थी. इसके 4 सांसदों ने कांग्रेस से पैसा लेकर सरकार बचाने के लिए वोट दिया था. खरीद-फरोख्त की राजनीति का तो झारखंड मुक्ति मोर्चा सुपरसेलर है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें