रांची में छत्तीसगढ़ पुलिस के कंपनी कमांडर को गोली मार की आत्महत्या

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रांची : छत्तीसगढ़ आर्म्स पुलिस के जवान विक्रमादित्य रजवाड़े ने अपने कंपनी कमांडर मेला राम कुर्रे की गोली मार कर हत्या कर दी. इसके बाद उसने खुद को भी गोली मार कर आत्महत्या कर ली. फायरिंग में दो अन्य जवान भी घायल हो गये हैं, जिन्हें मेडिका में भर्ती कराया गया है. यह घटना सोमवार सुबह 6:10 बजे खेलगांव स्थित एथलेटिक्स स्टेडियम में घटी. बताया जा रहा है कि जवान विक्रमादित्य शराब पीने की शिकायत किये जाने से नाराज था.

झारखंड विधानसभा का चुनाव के मद्देनजर छत्तीसगढ़ आर्म्स पुलिस की चार नंबर कंपनी आठ दिसंबर को खेलगांव पहुंची थी. जिला प्रशासन ने इनके ठहरने की व्यवस्था खेलगांव के एथलेटिक्स स्टेडियम में की थी.

इस कंपनी का जवान विक्रमादित्य रजवाड़े लगातार नशा का सेवन कर रहा था. कंपनी कमांडर मेला राम कुर्रे ने चार दिन पहले कंपनी के कमांडेंट डीआर अचला से उसकी शिकायत कर दी थी. उस वक्त यह कंपनी चाईबासा में थी. कमांडेंट ने जवान को समझाया. साथ ही चेतावनी दी कि वह आदत में सुधार लाये. अगर चुनाव के दौरान फिर उन्हें ऐसी शिकायत मिली, तो सख्त कार्रवाई होगी. इस बात से जवान खफा था.

पहले हुई बहस, फिर दाग दी गोली : सोमवार को इस कंपनी को तीसरे चरण के चुनाव के लिए हजारीबाग के चौपारण जाना था. सुबह से ही पूरी कंपनी तैयारी में जुटी थी. अपने कमरे में कंपनी कमांडर वर्दी पहनने के बाद जूते का फीता बांध रहे थे. इसी दौरान जवान विक्रमादित्य रजवाड़े इंसास लेकर उनके कमरे में घुसा.

कुछ देर दोनों के बीच बहस हुई. फिर जवान उनके कमरे से बाहर गलियारे में आ गया. उस वक्त सुबह के 6:10 बज रहे थे. पीछे से कंपनी कमांडर भी बाहर आये. इसी बीच जवान ने कंपनी कमांडर पर इंसास से गोली दाग दी. गोलियों की तड़तड़ाहट से खेलगांव का इलाका गूंज गया.

जवान ने चलायी थीं 15 गोलियां : विक्रमादित्य ने करीब 15 राउंड फायरिंग की थी. जब गोलियों की आवाज बंद हुई, तो गलियारे में कंपनी कमांडर मेला राम कुर्रे और आरोपी जवान विक्रमादित्य का शव एथलेटिक्स स्टेडियम के गलियारे में पड़ा था. एथलेटिक्स स्टेडियम के गलियारे की दीवार में भी गोलियां लगी थीं. कंपनी कमांडर को सिर, गर्दन, छाती और दोनों हाथ में एक-एक गोलियां लगी थीं.

वहीं, फायरिंग करनेवाले जवान ने खुद को बायीं ओर जबड़े के अलावा छाती में दोनों ओर एक-एक गोली मार ली थी. वहीं, दो अन्य जवान बेनुधर ध्रुव की जांघ और नंद किशोर कुशवाहा को पैर में गोली लगी है. दोनों को मेडिका में भर्ती कराया गया. दोनों खतरे से बाहर हैं.

20 दिन बाद रिटायर्ड होनेवाले थे कंपनी कमांडर : छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले के अफनपुर थाना अंतर्गत छछानपैरी के निवासी थे. वे 20 दिन बाद रिटायर्ड होने वाले थे. वहीं, आरक्षी विक्रमादित्य रजवाड़े महज 29 वर्ष का था. वह छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले के चिंदौरा थाना अंतर्गत दबनकुरा गांव का निवासी था. उसकी शादी भी नहीं हुई थी. रिम्स में पोस्टमार्टम के बाद कंपनी कमांडर और जवान के शव को वाहन से छत्तीसगढ़ के लिए रवाना कर दिया गया था. मामले में प्लाटून कमांडेंट शेख अयूब ने प्राथमिकी दर्ज करायी है. कंपनी शाम साढ़े छह बजे खेलगांव से चौपारण के लिए रवाना हो गयी.

चुनाव ड्यूटी के लिए आयी है कंपनी, शराब

पीने की शिकायत करने से नाराज था जवान

फायरिंग में दो अन्य जवान भी हुए घायल दोनों को मेडिका में भर्ती कराया गया

खेलगांव के एथलेटिक्स स्टेडियम में बनाया गया था इनका अस्थायी बैरक

तीसरे चरण के चुनाव में हजारीबाग के चौपारण जाने की हो रही थी तैयारी

प्लाटून कमांडर ने करायी एफआइआर शाम में चौपारण रवाना हुई कंपनी

जवान विक्रमादित्य ने चलायी थीं 15 गोलियां, कंपनी कमांडर को लगीं पांच

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें