26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

चतरा लोकसभा चुनाव से पहले शीर्ष माओवादी कामेश्वर यादव पलामू से गिरफ्तार, 15 लाख के इनामी नितेश यादव का है करीबी

चतरा लोकसभा चुनाव से पहले पलामू जिले से शीर्ष माओवादी कामेश्वर यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. वह 15 लाख का इनामी नितेश यादव का करीबी है. इसकी गिरफ्तारी नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के लिए बड़ा झटका है.

पलामू, सैकत चटर्जी: पलामू पुलिस ने शीर्ष माओवादी कामेश्वर यादव उर्फ धनराज को गिरफ्तार कर लिया. कामेश्वर यादव उर्फ धनराज को नक्सली संगठन के शीर्ष कमांडर 15 लाख के इनामी नितेश यादव का काफी करीबी माना जाता है. उसका पुलिस के हत्थे चढ़ना माओवादियों के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. कामेश्वर पलामू और चतरा इलाके में सक्रिय था. संगठन की गतिविधि संचालन करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता था.

चतरा लोकसभा चुनाव से पहले हुआ गिरफ्तार
पुलिस के लिए चतरा लोकसभा चुनाव के ठीक दो दिन पहले हुई यह गिरफ्तारी महत्वपूर्ण मानी जा रही है. चतरा सीट पर 20 जून को मतदान होना है. चतरा लोकसभा क्षेत्र में पलामू का कई इलाके शामिल हैं. गिरफ्तार माओवादी कामेश्वर भी चतरा इलाके में सक्रिय रहता था.

Also Read: पलामू में नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म, पुलिस ने चार आरोपियों को किया गिरफ्तार

गिरफ्तार नक्सली के खिलाफ कई मामले दर्ज
कामेश्वर यादव पर पलामू में कई नक्सली घटनाओं को अंजाम देने का आरोप है. सितंबर 2023 में शीर्ष माओवादी कमांडर नितेश यादव के दस्ते ने पलामू के छतरपुर थाना क्षेत्र के कालापहाड़ इलाके में आधा दर्जन से अधिक वाहनों को जला दिया था. आरोप है कि इस घटना में कामेश्वर यादव की सक्रियता रही है. इसके अलावा भी अन्य कई नक्सली घटनाओं में उसका नाम आता रहा है. कामेश्वर के खिलाफ किन-किन थानों में मामला दर्ज है इसकी जानकारी जुटाई जा रही है.

पलामू का रहने वाला है कामेश्वर
गिरफ्तार कामेश्वर यादव पलामू के पांडू थाना क्षेत्र का रहने वाला है. उसकी प्रारंभिक शिक्षा गांव में ही हुई थी. युवावस्था में उसकी जान-पहचान इलाके में सक्रिय कुछ माओवादी संगठन से जुड़े लोगों से हुई और धीरे-धीरे वह संगठन से जुड़ गया. प्रारंभ से ही उसे नितेश यादव का करीबी होने का लाभ मिला और संगठन की हर छोटी-बड़ी घटनाओं में शामिल होने लगा. इसी तरह संगठन में उसकी पैठ बढ़ गई. पुलिस के पास ऐसी सूचना है कि कामेश्वर कई और नाम से भी सक्रिय था. नितेश जब भी इलाके में आता था और लेवी की लेनदेन करता था तो उसमें कामेश्वर की सक्रियता रहती थी.

बबन भोक्ता की निशानदेही पर हुई कामेश्वर की गिरफ्तारी
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, कुछ दिन पहले चतरा इलाके में पुलिस ने शीर्ष माओवादी बबन भोक्ता को गिरफ्तार किया था. बबन भोक्ता ने ही कामेश्वर यादव का नाम पुलिस को बताया था. इसके बाद से ही पलामू पुलिस कामेश्वर यादव की तलाश कर रही थी. छतरपुर थाना पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए आखिरकार कामेश्वर यादव को गिरफ्तार कर लिया.

Palamu Police 2
कामेश्वर यादव की पत्नी द्वारा लगायी गयी गुहार

कामेश्वर की पत्नी ने लगाई न्याय की गुहार
इधर, कामेश्वर यादव की पत्नी कमला देवी ने पलामू की एसपी से लिखित शिकायत कर न्याय की गुहार लगाते हुए कहा है कि पांडू थाना पुलिस ने 11 मई को ही कामेश्वर यादव को गिरफ्तार किया था. उनका पति निर्दोष है. वह खेतीबाड़ी करता है. उन्हें जल्द से जल्द रिहा किया जाए.

Palamu Police 3
एसपी से कामेश्वर यादव की पत्नी ने लगायी न्याय की गुहार

पलामू एसपी ने कहा कि जांच जारी है
इधर, पलामू की एसपी ने इस बाबत पूछने पर कहा कि कामेश्वर यादव की गिरफ्तारी हुई है और उस पर नक्सली गतिविधियों में शामिल होने के सबूत भी मिल चुके हैं. चूंकि कामेश्वर कई नाम से इलाके में सक्रिय था. इसलिए सारे सबूतों को बारीकी से सत्यापित किया जा रहा है. चतरा में गिरफ्तार नक्सली बबन की निशानदेही पर ही कामेश्वर की गिरफ्तारी हुई है. कामेश्वर की पत्नी द्वारा की गई शिकायत पर उन्होंने कहा कि अभी तक उनके पास ऐसी कोई शिकायत नहीं आई है. अगर ऐसी कोई शिकायत आयेगी तो जरूर उसकी जांच कर कार्रवाई की जाएगी.

Also Read: पलामू : कबाड़ दुकान में विस्फोट तीन बच्चों और दुकानदार की मौत

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें