25.1 C
Ranchi
Tuesday, March 5, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Telegram पर लिंक भेजकर रुपये डबल करने का देते थे लालच, जमशेदपुर से छह साइबर ठग गिरफ्तार

जमशेदपुर साइबर पुलिस ने छह युवकों को गिरफ्तार किया है. ये सभी लोगों को पैसे डबल करने का लालच देकर ठगी करती थे. इसके लिए वे टेलीग्राम में एक लिंक भेजते थे. गिरफ्तार साइबर अपराधी काफी दिनों से साइबर क्राइम करते आ रहे हैं. ठगी की रकम कम होने के कारण लोग शिकायत नहीं करते थे.

Jamshedpur News: घर बैठे ऑनलाइन काम कर रुपये डबल करने का झांसा देकर लोगों से रुपये की ठगी करने के मामले में जमशेदपुर साइबर पुलिस ने छह युवकों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार होने वाले सभी युवक चाकुलिया के पुरनापानी गांव के रहने वाले हैं. गिरफ्तार होने वालों में नवीन चंद्र महतो, राम चंद्र महतो, राहुल महतो, अजय दलाई, सुजय दलाई और जय सेन गुप्ता शामिल है. उनके पास से छह मोबाइल फोन भी पुलिस ने बरामद की है. पूछताछ करने के बाद सभी को जेल भेज दिया गया. उक्त जानकारी ग्रामीण एसपी ऋषव गर्ग ने गुरुवार को एसएसपी कार्यालय के सभागार में संवाददाता सम्मेलन के दौरान दिया. ग्रामीण एसपी ऋषव गर्ग ने बताया कि चाकुलिया के रहने वाले एक व्यक्ति ने 25 हजार रुपये की ठगी के मामले में प्रतिबिंब एप्प पर मोबाइल नंबर 9934788380 के खिलाफ नवंबर 2023 में किया था. प्रतिबिंब एप्प की मदद से पुलिस ने मोबाइल का लोकेशन प्राप्त किया. उसके बाद पुलिस ने चाकुलिया से ही नवीन चंद्र महतो और राम चंद्र महतो को गिरफ्तार किया. उन दोनों से कड़ाई से पूछताछ करने के बाद बारी-बारी से पुलिस ने एक ही जगह से अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

कई लोगों से कर चुके हैं ठगी, रुपये से खरीदते थे सामान

ग्रामीण एसपी ऋषव गर्ग ने बताया कि सभी गिरफ्तार साइबर अपराधी काफी दिनों से साइबर क्राइम करते आ रहे हैं. ठगी की रकम कम होने के कारण लोग शिकायत नहीं करते थे. वे लोग काफी लोगों से रुपये की ठगी कर चुके हैं. पुलिस ने उन लोगों को बताया कि ठगी की रकम आने के बाद वे लोग उसे आपस में बांट लेते थे. कमाई गयी रकम से वे लोग घर और अपनी जरूरत का सामान खरीदते थे. पुलिस ने बताया कि ठगी के रकम से खरीदी गयी सामान को भी पुलिस जब्त करेगी.

ऐसे करते थे ठगी

साइबर अपराधी रुपये डबल करने के नाम लोगों को लालच देते थे. उसके बाद उनसे ठगी करते थे. सबसे पहले साइबर अपराधी टेलीग्राम और वाट्सएप पर मैसेज भेजते थे. मैसेज में घर बैठे रुपये कमाने का ऑफर देते थे. इस दौरान वे लोग रुपये डबल करने की बात भी लोगों से करते थे. जैसे अगर आप 200 रुपये जमा करते हैं, तो उसके बदले में साइबर अपराधी उन्हें 400 रुपये देते थे. जब आम लोग उसके झांसे में आ जाते थे, तो वे लोग टेलीग्राम पर एक लिंक भेजते थे. लिंक पर क्लीक करने के बाद उसमें रुपये भेजने का ऑप्शन आता था. इस दौरान साइबर अपराधी छोटा छोटा कार्य देते थे. बदले में कुछ रुपये भी जमा करने को कहते थे. काम पूरा होने के बाद साइबर अपराधी उन्हें डबल रुपये देते थे. ऐसे में जब आम पब्लिक उनके झांसे में आ जाता था, तो ज्यादा रकम जमा करने की बात करते थे. जब लालच के चक्कर में व्यक्ति ज्यादा रुपये जमा कर देता था, तो साइबर अपराधी उसे रुपये वापस नहीं करते थे. बाद में उनका फोन उठाना भी बंद कर देते थे.

1930 पर करे कॉल

ग्रामीण एसपी ऋषव गर्ग ने आम लोगों से अपील की है कि साइबर क्राइम होने के बाद आम पब्लिक जरूर शिकायत करें. ठगी की रकम छोटी होने पर भी जरूर शिकायत करें. 1930 पर ठगी के तुरंत बात ही फोन कर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं. शिकायत होने के बाद अपराधियों को पकड़ने में आसानी होती है.

Also Read: झारखंड : साइबर सिक्यूरिटी एक्सपर्ट साक्ष्य के अभाव में 11 साल बाद बरी
Also Read: धनबाद : अपराधी को पकड़ने बराकर नदी में कूदा धनबाद साइबर पुलिस का चालक लापता

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें