26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

कोल्हान विश्वविद्यालय में होने वाली परीक्षा सवालों के घेरे में, 6 के बजाय डेढ़ माह में ही हुआ एग्जाम, पेपर आउट ऑफ सिलेबस

कोल्हान विश्वविद्यालय में शनिवार को बीए पांचवें सेमेस्टर की परीक्षा हुई. ये परीक्षा 6 की बजाय डेढ़ माह के अंदर में ही हो गयी. इसमें इतिहास और मनोविज्ञान विषय प्रश्न पत्र आउट ऑफ सिलेबस थे.

जमशेदपुर : कोल्हान विश्वविद्यालय इन दिनों गड़बड़ियों का केंद्र बन गया है. विश्वविद्यालय में हुए जीएसटी घोटाले के बाद जहां कई अधिकारियों पर गाज गिरी. वहीं, अब यहां की परीक्षा की विश्वसनीयता भी सवालों के घेरे में है. स्थिति यह है कि जैसे-तैसे सारी व्यवस्था चल रही है. कुछ ऐसा ही मामला शनिवार को सामने आया. शनिवार को बीए पांचवें सेमेस्टर की परीक्षा थी. सुबह 9 बजे जब प्रथम पाली में इतिहास और मनोविज्ञान विषय का प्रश्न पत्र परीक्षार्थियों को मिला, तो उसके सभी प्रश्न आउट ऑफ सिलेबस थे. इसे लेकर सभी केंद्रों पर परीक्षार्थियों ने आपत्ति दर्ज करायी. इसके बाद केंद्राधीक्षकों ने विश्वविद्यालय परीक्षा विभाग से संपर्क किया. प्रश्न पत्र देखने के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने गलती स्वीकार की और दोनों ही विषयों की परीक्षा स्थगित कर दी गयी.

छह माह का कोर्स, डेढ़ माह में ही ली गयी परीक्षा

स्नातक सेमेस्टर 4 की परीक्षा का रिजल्ट डेढ़ माह पूर्व ही निकला है. रिजल्ट जारी होने के करीब डेढ़ माह के भीतर ही आनन-फानन सेमेस्टर 5 की परीक्षा लेने का फरमान जारी किया गया और परीक्षा शुरू भी हो गयी. जबकि कई बार छह माह के कोर्स की परीक्षा नौ माह से लेकर एक साल की अवधि में ली जाती है. इतना ही नहीं सेमेस्टर 5 की परीक्षा में किसी प्रकार का कोई गैप भी नहीं दिया गया है.

प्रश्न पत्र पर अंकित थे 2023

कोल्हान विवि की ओर से शनिवार को जो प्रश्न पत्र विद्यार्थियों को दिये गये उस पर 2023 अंकित थे. जबकि परीक्षा मई 2024 में ली जा रही है. इसे लेकर भी परीक्षार्थियों ने आरोप लगाया कि कोई पुराना प्रश्न पत्र परीक्षार्थियों के बीच बांट दिये गये. हालांकि, इस संबंध में विवि की ओर से अधिकारिक रूप से कोई जानकारी नहीं मिल सकी.

आधे घंटे के मंथन के बाद लिया गया निर्णय

शनिवार को परीक्षा केंद्रों की ओर से प्रश्न पत्र के बारे में तत्काल सूचना कोल्हान विश्वविद्यालय के अधिकारियों को दी गयी. लेकिन आधे घंटे के मंथन के बाद विश्वविद्यालय प्रबंधन ने इतिहास एवं मनोविज्ञान की परीक्षा को स्थगित करने का फैसला लिया. परीक्षार्थियों ने बताया कि आखिर प्रश्न पत्र कैसे सेट किया गया था कि एक प्रश्न भी सिलेबस से नहीं थे.

प्रश्नपत्र सेटर से हुई थी गलती, अब 31 मई को होगी परीक्षा : परीक्षा नियंत्रक

विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ अजय कुमार चौधरी ने कहा कि प्रश्न पत्र सेटर से प्रश्न पत्र तैयार करने में गलती हुई है. यही कारण है कि इतिहास व मनोविज्ञान दोनों विषयों की परीक्षा स्थगित कर दी गयी है. अब दोनों विषय की परीक्षा 31 मई को प्रथम पाली में ली जायेगी. परीक्षा को लेकर अधिसूचना जारी कर दी गयी है.

परीक्षार्थियों में असंतोष, प्राइवेट यूनिवर्सिटी को बढ़ावा देने का लगाया आरोप

शनिवार को हुई परीक्षा में आउट ऑफ सिलेबस प्रश्न पूछे जाने व परीक्षा स्थगित होने से नाराज परीक्षार्थियों ने कोल्हान विवि के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. एबीएम कॉलेज परीक्षा केंद्र से बाहर निकल रहे परीक्षार्थियों ने कहा कि विवि प्रशासन से जुड़े लोग नहीं चाहते हैं कि गरीबों के बच्चे सरकारी विवि में पढ़ाई कर सकें. कभी परीक्षा नहीं होना, एकेडमिक कैलेंडर देर से जारी होना, कभी पेपर आउट ऑफ सिलेबस होना, ये सब कुछ सुनियोजित तरीके से किया जा रहा है. ताकि विद्यार्थी परेशान होकर प्राइवेट यूनिवर्सिटी में एडमिशन ले लें. प्राइवेट यूनिवर्सिटी को बढ़ावा देने के लिए कुछ पदाधिकारियों द्वारा सरकारी यूनिवर्सिटी की व्यवस्था खराब करने का आरोप लगाया.

Also Read: कोल्हान विश्वविद्यालय : स्नातक ओल्ड कोर्स की इंटरनल व प्रैक्टिकल परीक्षा 18 से 22 तक

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें