1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. gumlas minor daughter saved from being sold in delhi smuggler taking her to sell for 20 thousand rupees arrested smj

दिल्ली में बिकने से बची गुमला की नाबालिग बेटी, 20 हजार रुपये में बेचने ले जा रहा तस्कर हुआ गिरफ्तार

गुमला की नाबालिग बेटी दिल्ली में बिकने से बच गयी. मानव तस्कर इस नाबालिग को 20 हजार रुपये में दिल्ली में बेचने ले जा रहा था, लेकिन इससे पहले ही पुलिस के हत्थे चढ़ गया. ऑपरेशन आहट की टीम ने इस नाबालिग को बिकने से बचा लिया.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news: ऑपरेशन आहट में शामिल अधिकारी और गिरफ्तार मानव तस्कर.
Jharkhand news: ऑपरेशन आहट में शामिल अधिकारी और गिरफ्तार मानव तस्कर.
प्रभात खबर.

Jharkhand Crime News: 'ऑपरेशन आहट' ने एक नाबालिग को दिल्ली में बिकने से बचा लिया. पुलिस ने कार्रवाई करते हुए लड़की को सकुशल बरामद किया. वहीं, तस्कर को गिरफ्तार कर गुमला जेल भेज दिया गया. बताया गया कि गिरफ्तार तस्कर 20 हजार रुपये में लड़की को बेचने दिल्ली ले जा रहा था.

कैसे हुई रेस्क्यू

ऑपरेशन आहट के तहत गुमला जिला अंतर्गत बसिया प्रखंड के मोरेंग गांव निवासी एक नाबालिग लड़की को नन्हे फरिश्ते की टीम, आरपीएफ पोस्ट रांची और सीपीडीटी द्वारा बरामद किया गया. उपरोक्त टीम रांची रेलवे स्टेशन में चेकिंग कर रही थी. जहां ट्रेन संख्या 12873 हटिया-आनंद विहार की चेकिंग के दौरान कोच संख्या S2 बर्थ संख्या एक के पास एक नाबालिग लड़की को डरी-सहमी देखा गया. उससे पूछताछ करने पर एक युवक आया और बोला कि मैं इसके साथ हूं. दोबारा नाबालिग से पूछताछ करने पर नाबालिग ने संतोषजनक उत्तर नहीं दिया और ना ही उस युवक ने कोई उचित उत्तर दिया. संदेह होने पर युवक और नाबालिग को ट्रेन से उतार कर दोबारा पूछताछ किया गया, तो युवक अपना नाम बदल-बदल कर बताने लगा. कड़ाई से पूछने पर युवक ने अपना नाम शेख अप्पू (24 वर्ष) जिला गुमला बताया.

20 हजार रुपये में नाबालिग को दिल्ली ले जा रहा था बेचने

आरोपी युवक ने बताया कि नाबालिग लड़की को बहला-फुसलाकर दिल्ली में घरेलू कामकाज एवं अन्य कार्य के लिए ले जाया जा रहा है. लड़की को दिल्ली में शंकर नामक व्यक्ति के पास देने के एवज में उसे 20 हजार रुपये मिलता. वह इसके पूर्व भी कई लड़कियों को दिल्ली ले जाकर शंकर को दिया है. नाबालिग लड़की से पूछताछ करने पर उसने अपना नाम व गांव बताया. पूछताछ में लड़की के परिजनों से मोबाइल पर संपर्क किया गया, तो पता चला कि नाबालिग लड़की के दिल्ली जाने की बाबत उन्हें पता नहीं था. जिसके बाद एएसआइ रवि शंकर द्वारा उस युवक का गवाहों के उपस्थिति में तलाशी लिया गया. जिसमें एक मोबाइल, दो रेलवे ई-टिकट और नगद 1200 रुपये मिला. जिसे जब्त किया गया.

नाबालिग को CWC भेजा गया

साथ ही इसकी सूचना पर बसिया थाना के उपनिरीक्षक मंटू कुमार और उप निरीक्षक विनय हेम्ब्रम अपने स्टाफ के साथ रांची गये. जिन्हें नाबालिग लड़की एवं आरोपी शेख अप्पू को अग्रिम कार्रवाई के लिए सुपुर्द किया गया. बरामद करने में डीएससीआर सीओवाई हटिया उप निरीक्षक सुनीता तिर्की, महिला कॉन्स्टेबल मोहिनी साहू, कुमारी अंजना, रेलवे सुरक्षा बल उपनिरीक्षक सूरज पांडे, कॉन्स्टेबल संजय यादव, कॉन्स्टेबल एसपी राय, एएसआइ रवि शंकर, कॉन्स्टेबल सलीम सिद्दीक़ी पोस्ट कमांडर सुमन कुमार झा शामिल थे. बसिया के थाना प्रभारी अनिल लिंडा ने बताया कि आरोपी को जेल भेज दिया गया. वहीं नाबालिक को सीडब्ल्यूसी को सौंप दिया गया है.

रिपोर्ट : दुर्जय पासवान, गुमला.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें