1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. corona blast occurred in gumlas ghaghra 5 corona positive including two students two health workers and a pregnant woman srn

गुमला के घाघरा में हुआ कोरोना बलास्ट, दो छात्र, दो स्वास्थ्यकर्मी व एक गर्भवती महिला समेत 5 कोरोना पॉजिटिव

प्रखंड प्रखंड के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना जांच के दौरान पांच कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं. सभी कोरोना मरीजों को सीएचसी बिशुनपुर स्थित कोरेंटिन में रखा जायेगा. बीपीएम रंजन कुमार ने बताया कि 14 लोगों की सुबह से कोरोना जांच की गयी थी.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
घाघरा में हुआ कोरोना बलास्ट
घाघरा में हुआ कोरोना बलास्ट
File Pic

प्रखंड प्रखंड के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना जांच के दौरान पांच कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं. सभी कोरोना मरीजों को सीएचसी बिशुनपुर स्थित कोरेंटिन में रखा जायेगा. बीपीएम रंजन कुमार ने बताया कि 14 लोगों की सुबह से कोरोना जांच की गयी थी. जिसमें पांच लोग पॉजिटिव मिले हैं. जिसमें दो स्वास्थ्य कर्मी, दो स्कूल के छात्र व एक गर्भवती महिला है. स्कूल के छात्र जो कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. उसमें एक छात्रा केजीवी घाघरा की छात्रा है, जो कि अपने घर दुर्गा पूजा मनाने के लिए गयी थी. स्कूल जाने के पूर्व जांच की गयी, तो पॉजिटिव मिली है. वहीं दूसरा छात्र गुमला जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय मसरिया का इंटर का है. वह भी घर आया था.

छुट्टी में स्कूल जाने के पूर्व जांच के दौरान पॉजिटिव रिपोर्ट आयी है. वहीं गर्भवती महिला की तबीयत खराब होने के कारण वह जांच करायी, तो उसका भी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आया है.

घोर लापरवाही बरती जा रही है :

कोरोना गाइड लाइन का घाघरा में खुला उल्लंघन हो रहा है. साप्ताहिक बाजार हो या फिर दुकान. सभी जगह लोग बिना मास्क के बेतहाशा भीड़ लगा कर खरीद बिक्री का कर रहे हैं. कई विद्यालय खुलने के कारण अब विद्यार्थी भी विद्यालय पहुंच रहे हैं. वहां पर भी मास्क का उपयोग नहीं किया जाता है. जिससे कोरोना फैलने की संभावना बढ़ गयी है. इसे लेकर घाघरा के स्थानीय प्रशासन भी पूरी तरह से संवेदनहीन है. ना तो जागरूकता फैलायी जा रही है, और ना ही रोका जा रहा है.

अस्पताल में हो रही लापरवाही :

सीएचसी घाघरा में जिस जगह पर कोरोना जांच की जाती है. वहां पर प्रबंधन द्वारा घोर लापरवाही बरती जा रही है. अस्पताल प्रबंधन द्वारा ना, तो मास्क को लेकर कड़ाई व नियम का पालन कराया जाता है और ना ही अस्पताल में सैनिटाइजर सार्वजनिक रूप से रखा गया है. जिसके कारण अस्पताल में आने-जाने वाले मरीज को बिना मास्क अस्पताल में आते हैं. बगैर सैनिटाइज किये पूरा अस्पताल में घूमते हैं. जिससे कोरोना फैलने की आशंका बनी हुई है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें